Create
Notifications

गलतफहमी के कारण बिगड़े धोनी के साथ रिश्ते, उन्होंने मुझे हमेशा सपोर्ट किया- श्रीसंत

Modified 21 Sep 2018
श्रीसंत भारत के सबसे काबिल तेज गेंदबाजों में शुमार है. गति के साथ गेंद को स्विंग कराने की क्षमता उन्हें और खतरनाक बनाती है। श्रीसंत ने दो बार विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा बनकर करियर की ऊंचाइयां छूईं तो स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने बाद सबसे मुश्किल दौर भी झेला। कोर्ट द्वारा पाक-साफ करार दिए जाए जाने के बाद श्रीसंत राजनीति में भी उतरे और फिल्मों में नजर आएंगे। हालांकि श्रीसंत फिलहाल क्रिकेट को भी अलविदा कहने के मूड में नहीं हैं। भारतीय टीम में वापसी की उम्मीद के साथ वह लगातार मैदान में पसीना बहा रहे हैं। सवाल: वनडे और टी20 मैचों में कप्तानी छोड़ने वाले महेंद्र सिंह धोनी के बारे में आपकी क्या राय है? श्रीसंत: धोनी एक महान कप्तान हैं। धोनी की कप्तानी में हमनें टी20 वर्ल्डकप और 2011 का वर्ल्डकप जीता। हम टेस्ट में नंबर वन बने। ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे उनकी कप्तानी में खेलने का मौका मिला। धोनी में वह सारी खूबियां हैं जो एक कप्तान के पास होनी चाहिए। सवाल: : स्पॉट फिक्सिंग मामले के बाद खबर आई थी कि धोनी ने ही आपको फंसाया है? श्रीसंत:
  देखिए, पहली बात तो धोनी वह इंसान है जिन्होंने मुझे हमेशा सपोर्ट किया है।उन्होंने हमेशा मेरे बारे में अच्छा सोचा है। मैंने उनकी कप्तानी में 2 वर्ल्डकप खेले हैं। हालांकि उस समय कुछ गलतफहमी जरूर हुई थी, लेकिन उनकी वजह से कुछ हुआ है, ये गलत है। धोनी और मेरे बीच में हमेशा से अच्छे रिश्ते रहे हैं। सवाल: धोनी ने आपके जरुरत से ज्यादा आक्रामक होने पर भी सवाल उठाए थे? श्रीसंत: नहीं, ऐसा बिल्कुल नहीं है। धोनी भाई ने मुझे कभी नहीं कहा था कि मेरी आक्रामकता के कारण टीम को नुकसान हो रहा है। टीम में ऐसे खिलाड़ियों की जरुरत होती है, जो हमेशा आक्रामक रहे। आप विराट कोहली को देखिए. वह भी कितने आक्रामक है और वह किस तरह का प्रदर्शन कर रहे हैं। सवाल: टी20 वर्ल्डकप के फाइनल में लिए गए हुए कैच के बारे में क्या कहेंगे? श्रीसंत: वो कैच शायद टूर्नामेंट का सबसे महत्वपूर्ण कैच था। मैं भाग्यशाली हूं कि मैंने वह कैच लिया। विश्वास कीजिए अगर वह कैच मैं छोड़ देता तो मेरा छोड़ो पता नहीं पूरी टीम का क्या हाल होता। अगर वह कैच मैं छोड़ देता तो शायद आईपीएल भी न होता। क्योंकि वर्ल्डकप जीतने के बाद ही इसका आइडिया आया था। सवाल: 2011 के वर्ल्डकप के फाइनल में भी धोनी ने आपको अश्विन की जगह खिलाया, अगर टीम हार जाती तो इस पर भी काफी सवाल उठते? श्रीसंत: उस समय वानखेडे की पिच तेज गेंदबाजों को मदद कर रही थी. आप ये मत भूलिए कि अगर मेरी गेंद पर महेला जयवर्धने का कैच नहीं छूटता तो श्रीलंका इतना बड़ा स्कोर नहीं बना पाता। लेकिन मैं धोनी भाई को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे मौका दिया। दो वर्ल्डकप विनिंग टीम का खिलाड़ी होना गर्व की बात है। सवाल: : भविष्य के लिए आपके क्या प्लान हैं? श्रीसंत: मैं अभी लगातार भारतीय टीम में शामिल होने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं. मेरा पूरा ध्यान फिटनेस और मेरी गेंदबाजी पर है. मुझे लगता है कि मैं अभी भी भारतीय क्रिकेट में योगदान दे सकता हूं। मैं स्कॉटलैंड की घरेलू लीग में खेलने जा सकता हूं। मैंने बीसीसीआई से इसकी इजाजत मांगी है। इजाजत मिलते ही मैं फिर से क्रिकेट के मैदान पर लौट आउंगा। सवाल: आप राजनीति और फिल्मों में भी अपना करियर बनाने की कोशिश कर रहे हैं? श्रीसंत: मैं पूरी तरह से इसको समय नहीं दे रहा हूं। क्रिकेट के बाद मेरा जो वक्त बचता है उस समय में मैं फिल्मों में काम करता हूं। मैं चाहता हूं कि लोग मुझे एक क्रिकेटर के तौर पर जाने, न कि एक्टर या नेता के तौर पर। सवाल: आप अभी दो फिल्मों में काम कर रहे है, कब रिलीज हो रही है ये फिल्में? श्रीसंत: जी हां, मेरी दो फिल्में आ रही हैं जो फरवरी में रिलीज हो सकती हैं।उम्मीद है दोनों फिल्में फरवरी में रिलीज होगी और दर्शक इन्हें पसंद करेंगे।  
Published 09 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now