भारतीय टीम के पूर्व ट्रेनर ने धोनी, रोहित शर्मा और सचिन तेंदुलकर की ट्रेनिंग को लेकर दिया बड़ा बयान

धोनी और सचिन तेंदुलकर
धोनी और सचिन तेंदुलकर

भारत में 21 दिनों का लॉक डाउन चल रहा है। ऐसे में सभी लोग अपने घरों पर रहने को मजबूर हैं। इतना ही नहीं खिलाड़ी भी अपने घरों पर कैद हैं। ऐसे में वो क्रिकेटर्स जो अपनी फिटनेस को लेकर चिंतित होते हैं, उन्हें काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ट्रेनर रामजी श्रीनिवासन ने बताया है कि खिलाड़ी लोग अपने घरों पर रहकर कैसे अपने आप को फिट रख सकते हैं।

दरअसल, रामजी श्रीनिवासन साल 2011 में विश्व विजेता टीम के साथ भी थे और साल 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीतने वाली टीम के साथ भी थे। न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए उन्होंने कहा,'यकीन मानिए आप घर में रहकर भी फिटनेस बनाए रख सकते हैं। आपको सिर्फ अपने शरीर को समझने की जरूरत है और उसके हिसाब से काम करने की जरूरत है।'

ये भी पढ़े- IPL 2020: जुलाई में हो सकता है आईपीएल का आयोजन

इन दिनों आमतौर पर ऐसा देखा गया है कि खिलाड़ी अपने आप को फिट रखने के लिए जिम जाते हैं। जहां वो काफी वजन उठाते हैं। इस पर श्रीनिवासन ने कहा,'मुझे इन दिनों ज्यादा वजन उठाने को लेकर लोगों में जो आबसेशन है वो समझ में नहीं आती। हां, यह कुछ खिलाड़ियों के लिए काम करती है, लेकिन यह फिट और हेल्थी रहने का एक मात्र रास्ता नहीं है। मैं उस भारतीय टीम के साथ था जिसमें कई बेहतरीन क्रिकेटर थे, लेकिन सबसे बेहतरीन ये था कि वो जानते थे कि उनके शरीर को क्या चाहिए।'

उन्होंने कहा, 'मैंने कभी सचिन, धोनी, सहवाग और रोहित को वजन के साथ करने वाली ट्रेनिंग को लेकर पागल होते नहीं देखा। हां ये लोग जिम जाते थे, लेकिन इसके पीछे का कारण था। सचिन अपने कंधे और कलाई पर ज्यादा काम करते थे। धोनी को इससे अलग रखते हैं क्योंकि वह नैचुरल थे।' उन्होंने आगे कहा,' मैंने उन्हें कभी जिम में ज्यादा वजन उठाते नहीं देखा।'

Quick Links

App download animated image Get the free App now