Create
Notifications

सचिन तेंदुलकर के सभी अंतर्राष्ट्रीय दोहरे शतकों पर एक नज़र

CONTRIBUTOR
Modified 05 Jan 2017
टेस्ट में 15,971 रन, वन डे में 18,426 रन, शतकों के शतक के साथ कई और क्रिकेट रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले सचिन रमेश तेंदुलकर किसी परिचय के मोहताज़ नहीं है। ये सारे आंकड़े करोड़ों क्रिकेट फ़ैन्स के ज़हन में पहले से ही घर किए हुए है जो अपने इस भगवान की पूजा तक करते है। सचिन को जब अहसास हुआ कि भारतीय क्रिकेट को अब अगली पीढ़ी के हाथो में सौंप कर उन्हें क्रिकेट को अलविदा कर देना चाहिए, उससे पहले सचिन ने रिकॉर्ड्स का ऐसा पहाड़ खड़ा कर दिया था जिसे छू पाना किसी खिलाड़ी के लिए नामुमकिन सा लगता है। 14 नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ सचिन ने वानखेड़े स्टेडियम में अपना आख़िरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जिसने उन्हें क्रिकेट की बारीकियों से रूबरू कराया था। यह उनके 24 साल के एक शानदार कैरियर 200वां टेस्ट मैच था। इस बेहतरीन और लंबे कैरियर में सचिन ने 7 दोहरे शतक बनाए जिसमें से 6 टेस्ट मैच में बनाए और 1 वनडे मैच में। सचिन के कम दोहरे शतक बनाने के भी कई कारण है। शुरूआत के दिनों में सचिन अपने युवा कंधों पर बल्लेबाज़ी का भार आसानी से उठा लेते थे लेकिन जैसे जैसे उनपर ज़िम्मेदारियां बढ़ने लगी उनके खेल पर इसका असर पड़ने लगा। एक बीच वह ज्यादातर समय मध्यम क्रम में ही खेलने लगे थे जिसकी वजह से उन्हें 200 रन से ज्यादा बनाने का अवसर कम ही मिल पाता था। तेंदुलकर ने अपने शानदार खेल के जरिए करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों को ख़ुशी के कई पल दिए है। आइये नज़र डालते है सचिन के उन सात बेहतरीन दोहरे शतक की पारियों पर... #1 217 Vs न्यूज़ीलैंड, 29 अक्टूबर 1999 1-sachin_20-1483181175-800 सचिन ने अपना पहला दोहरा शतक न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ अहमदाबाद में बनाया जो उनका 21वां टेस्ट और 44वां इंटरनेशनल शतक भी था। दोहरे शतक की फेहरिस्त में शामिल होने के लिए सचिन को 10 साल इंतज़ार करना पड़ा, जिसपर सचिन ने कहा कि वैसे तो 10 साल वाकई एक लम्बा समय होता है लेकिन हमें हमेशा कोशिश करते रहना चाहिए। 217 रन बनाने के लिए तेंदुलकर ने 314 का सामना किया जिसमें 29 बड़े शॉट्स भी खेले। उन्होंने ये दोहरा शतक अपने पसंदीदा चौथे नंबर की पोजिशन पर खेलते हुए बनाया जिसकी मदद से भारत ने पहली पारी में 583 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। इस मैच के दौरान सचिन ने आक्रामक और रक्षात्मक दोनों तरह के खेल का प्रदर्शन किया। हालांकि तेंदुलकर के इस बेहतरीन दोहरा शतक बनाने के बावजूद टीम इंडिया को ड्रॉ से ही संतोष करना पड़ा।
1 / 7 NEXT
Published 05 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now