Create

"सचिन तेंदुलकर के जमाने में तीन DRS होते तो वह 1 लाख रन बना देते," पाकिस्तानी दिग्गज का बयान

सचिन ने तूफानी गेंदबाजों का सामना किया है
सचिन ने तूफानी गेंदबाजों का सामना किया है

शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) को आजकल क्रिकेट को लेकर कई बार यूट्यूब पर विश्लेषण करते हुए देखा गया है। पुरानी बातों को लेकर भी वह कई बार प्रतिक्रिया देते हैं। इस बीच पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को लेकर अख्तर की तरफ से प्रतिक्रिया आई है। अख्तर ने वर्तमान डीआरएस को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा कि आज की तरह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चीजें पहले होती तो सचिन तेंदुलकर एक लाख रन बना देते।

रवि शास्त्री के साथ अपने यूट्यूब चैनल पर अख्तर ने कहा कि आपके पास दो नई गेंदें हैं। आपने नियम सख्त कर दिए हैं। आप आजकल बल्लेबाजों को इतना फायदा देते हैं। अब आप तीन समीक्षाओं (DRS) की अनुमति दें। अगर हमारे पास सचिन के समय में तीन रिव्यू होते तो वह 1 लाख रन बना लेते।

शोएब अख्तर ने सचिन को काफी गेंदबाजी की है
शोएब अख्तर ने सचिन को काफी गेंदबाजी की है

आगे अख्तर ने कहा कि मुझे सचिन पर दया आती है क्योंकि वह शुरुआत में वसीम अकरम और वकार यूनिस के खिलाफ खेले और बाद में शेन वॉर्न के खिलाफ भी खेले। इसके अलावा उन्होंने ब्रेट ली और शोएब अख्तर का सामना भी किया। इसके बाद उन्होंने अगली पीढ़ी के गेंदबाजों के खिलाफ भी खेला इसलिए मैं सचिन को एक मुश्किल बल्लेबाज मानता हूँ।

गौरतलब है कि सचिन तेंदुलकर ने अपने समय में वर्ल्ड के बेस्ट गेंदबाजों का सामना किया था। उस समय हर टीम में एक या दो दिग्गज गेंदबाज हुआ करते थे और पिचों पर टिकना भी आसान काम नहीं होता था। टेस्ट क्रिकेट में आज के समय की तुलना में पुराने समय के बल्लेबाज काफी देर तक क्रीज पर टिके रहते थे। ऐसे में कहा जा सकता है कि अभी तकनीक का ज्यादा इस्तेमाल करने से बल्लेबाजों को लाभ होता है। हालांकि गेंदबाज बाद में भी अच्छे आए हैं लेकिन पहले की तुलना में अब बल्लेबाजी आसान हुई है। यह अक्सर देखा गया है।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
1 comment