Create

मेरे दिमाग में पूरी रात बस शतक का ही ख्याल आता रहा, युवा बल्लेबाज ने दी प्रतिक्रिया

Nitesh
सरफराज खान बल्लेबाजी के दौरान शॉट लगाते हुए
सरफराज खान बल्लेबाजी के दौरान शॉट लगाते हुए

मुंबई के युवा बल्लेबाज सरफराज खान (Sarfaraz Khan) ने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में अपने शतक को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि ये शतक लगाने से पहले वो पूरी रात सो नहीं पाए थे और उनके दिमाग में केवल शतक ही चल रहा था।

सरफराज खान की अगर बात करें तो इस वक्त वो काफी जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं। उन्होंने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल मैच में 153 रनों की जबरदस्त पारी खेली और मुंबई को 725 रनों से बड़ी जीत दिलाने में अपना अहम योगदान दिया। उन्होंने अपनी पारी में 14 चौके और 4 छक्के लगाए।

सरफराज खान ने अपने इस शतक को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा 'मैं शतक लगाना चाहता था। मैं पूरी रात सो नहीं सका। मेरे दिमाग में पूरी रात शतक का ही ख्याल आता रहा।'

मुंबई ने बनाया सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड

आपको बता दें कि मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में उत्तराखंड की टीम को 725 रनों के बड़े अंतर से हरा दिया। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में रनों के लिहाज से यह अब तक की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले ये रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया में न्यू साउथ वेल्स के नाम था। उन्होंने 1930 में क्वींसलैंड को 685 रनों से हराया था। यानी फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अब तक रनों के लिहाज से ये सबसे बड़ी जीत थी। 92 साल बाद मुंबई ने यह रिकॉर्ड तोड़ा है। अगर 88 साल पुराने रणजी टूर्नामेंट की बात करें तो इससे पहले सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड बंगाल के नाम था। बंगाल ने दिसंबर 1953 में ओडिशा को 540 रन से हराया था।

मुंबई की टीम का परफॉर्मेंस फर्स्ट क्लास क्रिकेट में काफी अच्छा रहा है और उन्होंने कई बार ट्रॉफी अपने नाम की है। इस बार भी वो टाइटल जीतना चाहेंगे।

Quick Links

Edited by Nitesh
Be the first one to comment