Create

INDvSL: शिखर धवन ने दिल्ली के प्रदूषण को लेकर दिया बड़ा बयान

दिल्ली टेस्ट के दूसरे दिन श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने प्रदषण को लेकर जिस तरह से मैदान पर हरकत की उससे क्रिकेट फैंस के साथ हर खिलाड़ी भी नाराज हैं। पहले बीसीसीआई ने इसको लेकर श्रीलंका को स्पष्ट शब्दों में जवाब दिया और अब भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का भी बयान इसको लेकर आया है। शिखर धवन दिल्ली के ही हैं और इसलिए उन्होंने इस पर अपनी बेबाक राय रखी है। चौथे दिन का खेल खत्म होने के बाद उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि दिल्ली में प्रदूषण है लेकिन जब आप खेलने के लिए आए हैं तो आपको खेलना चाहिए। धवन ने कहा कि हमारी टीम के बहुत सारे खिलाड़ी भी दिल्ली की आबोहवा के आदी नहीं हैं लेकिन खेल के लिए वो भी खुद को यहां की परिस्थितियों के हिसाब से ढाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि काफी सारे क्रिकेटर दूसरे राज्यों के हैं, वो दिल्ली से नहीं हैं लेकिन वो खेल रहे हैं। वहीं जब धवन से पूछा गया कि अश्विन, मुरली विजय और अंजिक्य रहाणे साल भर दिल्ली में काफी सारा क्रिकेट खेलते हैं तो इस पर भी धवन ने काफी सटीक जवाब दिया। उन्होंने कहा कि अगर आप दिल्ली में किसी और समय खेलते हैं तो इस तरह का प्रदूषण नहीं रहता है। मैं ये नहीं कह रहा कि दिल्ली में प्रदूषण नहीं है, निश्चित तौर पर यहां काफी ज्यादा प्रदूषण है और सर्दियों के मौसम में धुंध का असर काफी ज्यादा हो जाता है। इसलिए हर तरह के हालात में हमें खेलना आना चाहिए। अगर आप देश के लिए खेल रहे हैं तो फिर आपको अपना काम करना चाहिए। गौरतलब है खेल के चौथे दिन भी श्रीलंकाई खिलाड़ियों को दिक्कत हुई और वो मास्क पहनकर उतरे। तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल को उल्टियां भी हुईं। वहीं भारतीय टीम से तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को प्रदूषण से दिक्कत हुई लेकिन उन्होंने काफी शानदार गेंदबाजी की। धवन ने कहा कि श्रीलंका में हो सकता है कि प्रदूषण कम हो, क्योंकि वहां पर बीच काफी ज्यादा हैं लेकिन अगर आपको यहां अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने के लिए बुलाया गया है तो फिर आपको खेलना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली में ही पला-बढ़ा हूं और इस समय कुछ राज्यों में फसल काटने के बाद खर-पतवार को जलाने की वजह से ऐसा होता है। वहीं इस बार उतनी अच्छी धूप भी नहीं हुई, इसलिए ऐसा हो रहा है। अगर धूप अच्छी खिलती तो धुंध का असर कम होता।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment