Create
Notifications

6 गेंदबाज जिन्होंने 4 गेंदों में 4 विकेट लेने का कारनामा किया

Abhishek Tiwary

क्रिकेट में एक हैट्रिक लेना अपने आप में बड़ी उपलब्धि है, लेकिन ऐसे कई मौके भी देखने को मिले हैं जब एक गेंदबाज ने लगातार 4 गेंदों पर 4 विकेट लिए हो। हालांकि यह उपलब्धि इतनी दुर्लभ है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सिर्फ एक बार ऐसा ही ऐसा देखने को मिला है। लोग इसे 'डबल हैट्रिक भी कहते हैं क्योंकि यह हैट्रिक के दो सेट में के बीच में से ली गई होती है। 1,2 और 3 गेंद पहला सेट बनती है जबकि 2,3 और 4 अन्य सेट में गिनी जाती है, इसलिए इसे डबल हैट्रिक का नाम भी दिया गया है। आज हम ऐसे 6 मौकों के बारे में बताने जा रहे हैं जब एक गेंदबाज ने यह अविश्वसनीय उपलब्धि हासिल करके विरोधी टीम को मुश्किल में डाल दिया हो : 1) लसिथ मलिंगा lasith-malinga_3256841-1468130668-800 2007 विश्व कप के इस रोमांचक मैच को कौन भूल सकता है? प्रोटीज टीम एक बार फिर चोकर साबित होने की दहलीज पर पंहुच चुकी थी, लेकिन किसी तरह श्रीलंका के खिलाफ सुपर 8 के मैच में एक विकेट से जीत दर्ज करने में कामयाब रही। दक्षिण अफ्रीका की टीम 210 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 5 विकेट पर 206 रन बनाकर सुखद स्थिति में थी। वह आराम से जीत की तरफ बढ़ रही थी। तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की कुछ और ही योजना थी। पारी का 45 वां ओवर कर रहे मलिंगा ने पांचवी गेंद पर शान पोलाक और आखिरी गेंद पर एंड्रू हॉल को आउट कर दिया। फिर वह 47 वां ओवर करने आये और पहली ही गेंद पर उन्होंने जैक्स कैलिस को आउट करके अपनी हैट्रिक पूरी की। कैलिस ने 86 रन की शानदार पारी खेली, लेकिन उनके आउट होने से मैच रोमांचक बन गया क्योंकि अफ्रीका के लगभग सभी प्रमुख बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे। मलिंगा ने अगली ही गेंद यॉर्क करके मखाया नटिनी को बोल्ड कर दिया और लगातार 4 गेंदों में 4 विकेट लेने का कारनामा पूरा किया। दक्षिण अफ्रीका ने किसी तरह तीन रन बनाकर मैच जीत लिया। 2) आंद्रे रसेल site-russell-450x350-1468130715-800 वेस्टइंडीज ए टीम के आकर्षक ऑल राउंडर आंद्रे रसेल ने भारत ए के खिलाफ सितंबर 2013 में यह कारनामा किया था और टी20 लिस्ट ए के इतिहास में 4 गेंदों में 4 विकेट लेने वाले वह पहले गेंदबाज बने। भारत ए और वेस्टइंडीज ए के बीच बंगलोर में एकमात्र टी20 खेला जा रहा था जहां रसेल ने 19वें ओवर में चार गुणी भारतीय बल्लेबाजों को आउट किया। रसेल ने कप्तान युवराज सिंह, केदार जाधव, नमन ओझा और युसूफ पठान को आउट करके भारत को मुश्किल में दाल दिया। हालांकि भारत ए ने 20 ओवर में 214 रन का विशाल स्कोर बनाया। रसेल इसके बाद वेस्टइंडीज टीम के प्रमुख खिलाड़ी बने और विश्वभर की टी20 लीग के प्रमुख ऑलराउंडर भी बने। 3) अल-अमीन हुसैन 227627-1468130779-800 रसेल के बाद टी20 में 4 गेंदों में 4 विकेट लेने वाले हुसैन दूसरे गेंदबाज बने और लिस्ट ए टी20 मैच में एक ओवर में पांच विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बने। प्रतिभाशाली बांग्लादेशी गेंदबाज यूसीबी-बीसीबी इलेवन की तरफ से खेल रहे थे। उन्होंने विक्ट्री डे टी20 घरेलू टूर्नामेंट में अबाहानी लिमिटेड के खिलाफ अपना खौफ फैलाया। अल-अमीन को पारी का आखिरी ओवर डालने की महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी मिली थी, जिसे उन्होंने बखूबी निभाया। उन्होंने पहली गेंद पर एक विकेट लिया और फिर आखिरी चार गेंदों पर लगातार चार विकेट लिए। अल-अमीन की टीम इस बेहद रोमांचक मैच में 4 विकेट से जीती थी। 4) अलफोंसो थॉमस somerset-alfonso-thomas-415x260-1468130848-800 2014 काउंटी चैंपियनशिप में अलफोंसो थॉमस ने टांटन में ससेक्स के खिलाफ लगातार चार गेंदों में चार विकेट लिए और समरसेट को आसन जीत दिलाई। दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज की स्विंग गेंदे ससेक्स के बल्लेबाजों की समझ से बाहर थी। थॉमस ने एक ओवर की आखिरी तीन गेंदों पर तीन विकेट लिए और फिर अगले ओवर की पहली गेंद पर चौथा विकेट लिया। थॉमस ने जिमी एन्यों, रोरी हैमिलटन-ब्राउन, एड जोयस और मैट मचान को अपना शिकार बनाया। 5) केवन जेम्स kevanjameshampshire700_1435753864-1468130913-800 1996 की गर्मी में भारत को राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली के रूप में दो महान क्रिकेटर मिले थे। कई लोग केवन जेम्स के बारे में नहीं जानते होंगे। जेम्स ने हैम्पशायर की और से खेलते हुए भारत के खिलाफ 4 गेंदों में चार विकेट लेने का कारनामा किया था। तीसरे टेस्ट से पहले भारतीय टीम साउथैम्पटन में हैम्पशायर के खिलाफ अभ्यास मैच खेल रही थी। इस मैच में केवन ने शतक भी जादा था। जेम्स ने सबसे पहले विक्रम राठौर को आउट किया। अगली गेंद पर उन्होंने सचिन तेंदुलकर का बड़ा विकेट लिया। राहुल द्रविड़ को आउट करते ही केवन ने हैट्रिक पूरी की। संजय मांजरेकर उनके आखिरी शिकार रहे। जेम्स ने बाद में बल्लेबाजी करते समय 103 रन की पारी खेली और हैम्पशायर ने 458 रन का विशाल स्कोर बनाया। यह मैच ड्रा रहा। 6) गैरी बुचर 015124-1468130987-800 पूर्व इंग्लिश ओपनर मार्क बुचर के छोटे भाई गैरी ने सरे की तरफ से खेलते हुए अपनी तेज गति से डर्बीशायर के निचले क्रम को तहस-नहस कर दिया। उन्होंने लगातार 4 गेंदों में 4 विकेट चटकाए। सरे के तब कप्तान थे एडम होलिओक जिन्होंने अपने भाई बेन को हटाकर गैरी को शामिल किया था। इस फैसले ने उन्हें काफी अच्छा नतीजा दिया क्योंकि ने बुचर ने एक ओवर की आखिरी गेंद पर पॉल अल्द्रेड को आउट किया और फिर अगले ओवर की शुरुआती तीन गेंदों पर तीन विकेट लिए। उन्होंने टिम मूनटन, केविन डीन और लियन व्हार्टन को अपना शिकार बनाया। गैरी की दमदार गेंदबाजी की बदौलत डर्बीशायर की टीम 118 रन के मामूली स्कोर पर ऑलआउट हो गई।

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...