Create

स्‍मृति मंधाना ने पिंक बॉल टेस्‍ट में भारतीय टीम की स्थिति के बारे में दिया बड़ा बयान

स्‍मृति मंधाना ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्‍ट शतक जमाया
स्‍मृति मंधाना ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्‍ट शतक जमाया

भारत महिला (India Women Cricket team) और ऑस्‍ट्रेलिया महिला (Australia Women Cricket team) के बीच पहले दो दिन का खेल बारिश के कारण प्रभावित हुआ। भारत ने कैरारा ओवल में जारी डे/नाइट टेस्‍ट में दूसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय तक 101.5 ओवर में 276/5 का स्‍कोर बना लिया था। भारतीय टीम की उप-कप्‍तान स्‍मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने कहा कि उनकी टीम पिच पर जाकर पहले स्थितियों का फायदा उठाकर ज्‍यादा रन बनाना चाहते हैं।

यह पूछने पर दो तय दिन बचे हैं और चार अंक दांव पर हैं, तो भारतीय टीम की सोच क्‍या होगी। मंधाना ने कहा कि भारतीय टीम इस स्थिति में नहीं है कि अचानक तेजी से रन बनाए क्‍योंकि पिच पर दो नए बल्‍लेबाज खेल रहे हैं।

मंधाना ने खेल में तेजी लाने की बात पर कहा, 'ऐसी कोई योजना बनाना असल में मुश्किल है क्‍योंकि बारिश ने कल और आज महत्‍वपूर्ण पहलु निभाया। चार दिनों के खेल में करीब एक दिन का खेल बारिश में धुल जाना और आखिरी में हमने दो विकेट गंवा दिए। तो कल सुबह हमें पारी को संभालने की कोशिश करनी होगी। वहां से फिर हम योजना बनाएंगे कि पारी कब घोषित करनी है।'

मंधाना ने आगे कहा, 'तो हम कल देखेंगे कि पारी को संभालें कैसे। अगर दो बल्‍लेबाज क्रीज पर जम गए तो शायद फिर हमारी योजना कुछ अलग रहे। मगर इस समय हमारा ध्‍यान पारी संभालने पर है। इसके बाद ही पारी घोषित करने के बारे में कुछ सोचेंगे। मगर मुझे नहीं लगता कि हम अभी पारी घोषित करने की स्थिति में है।'

70 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर खुश हूं: मंधाना

इसके अलावा स्‍मृति मंधाना ने अपनी शतकीय पारी के बारे में बात की। मंधाना ऑस्‍ट्रेलिया में सबसे बड़ा व्‍यक्तिगत टेस्‍ट स्‍कोर बनाने वाली महिला बल्‍लेबाज बनी हैं। भारतीय महिला ओपनर ने कहा, '70 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर काफी विशेष महसूस कर रही हूं। मुझे नहीं लगता था कि ऐसा कभी अपनी जिंदगी में कुछ कर पाऊंगी। मैं ज्‍यादा खुश हूं और अपनी टीम को इस तरह की शुरूआत दिलाना चाहती थी। व्‍यक्तिगत उपलब्धि जरूर होती है, लेकिन जिस स्थिति में अभी टीम है, वो देखकर मैं ज्‍यादा खुश हूं।'

मंधाना ने कहा कि उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया में 14 दिन कड़े पृथकवास में गुजारे और इस दौरान अपनी बल्‍लेबाजी पर ध्‍यान दिया। तो जब वह दिन की दूसरी गेंद पर आउट हुई थी, तब खुद से नफरत कर रही थीं। मगर जहां उन्‍होंने क्रीज पर इंतजार किया कि बेथ मूनी का कैच सही था या नहीं, पैरी का तब क्रीज के बाहर पैर निकलना आश्‍चर्यचकित रूप से सामने आया।

मंधाना ने कहा, 'मैं खराब गेंद से काफी डर जाती हूं। तो जब दूसरी गेंद पर ऐसा हुआ तो मुझे लगा कि क्‍या गलती हो गई। मैंने पिछली रात इतनी तैयारी की और अब फुलटॉस पर आउट हो रही हूं। हमें लगा कि कैच सही नहीं लिया है तो हम वह सुनने के लिए क्रीज पर खड़े रहे, लेकिन नो बॉल का पता चला तो जान में जान आई।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment