सौरव गांगुली ने नेटवेस्ट ट्रॉफी 2002 के फाइनल से जुड़ी बड़ी घटना का खुलासा किया

2002 में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में हराया था। उस मैच के बारे में पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने एक बड़ा खुलासा किया है। गांगुली ने मैच के बाद शर्ट उतारकर जश्न मनाया था। दादा ने कहा कि उस दौरान वीवीएस लक्ष्मण मेरे बगल में खड़े थे और मुझे शर्ट उतारकर जश्न मनाने से मना किया था। गौरव कपूर के शॉ ब्रेकफास्ट विद चैम्पियंस में गांगुली ने यह खुलासा किया है। दादा ने कहा कि मुझे याद आया कि एंड्रू फ्लिंटोफ ने वानखेड़े स्टेडियम में सीरीज 3-3 से बराबर होने के बाद शर्ट उतारकर जश्न मनाया था। मुझे भी लगा कि शर्ट उतारना चाहिए और मैंने वह किया। दादा ने कहा कि बाद में इस घटना पर मुझे शर्मिंदगी महसूस हुई थी। गौरतलब है कि नेटवेस्ट ट्रॉफी के उस फाइनल मैच में युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ ने भारतीय टीम को जीत दिलाई थी। भारतीय टीम के 5 दिग्गज खिलाड़ी पवेलियन लौट चुके थे और कैफ (87*) ने युवराज (69) के साथ मिलकर भारत को ट्रॉफी दिलाई थी। सौरव गांगुली ने यह भी जिक्र किया कि उस घटना के बारे में मेरी बेटी ने पूछा था कि आपने ऐसा क्यों किया तो मैंने यही कहा कि कुछ चीजें ऐसी होती है जिन पर नियंत्रण नहीं किया जा सकता। मैंने वह गलती से ही किया था। उल्लेखनीय है कि अपने जमाने में सौरव गांगुली को एक आक्रामक कप्तान माना जाता था। किसी भी चीज का जवाब देने के बारे में वे सोचते थे। यही वजह रही कि फ्लिंटोफ द्वारा मुंबई में शर्ट उतारने की घटना उन्हें याद रही और उन्होंने भी कुछ वैसा ही किया।

App download animated image Get the free App now