Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वर्ल्ड कप 2003 का फाइनल खेलने वाले 11 खिलाड़ी: जानिए अब वे कहां हैं ?

  • उस प्लेइंग इलेवन के ज्यादातर खिलाड़ी अब संन्यास ले चुके हैं
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 19 Mar 2019, 12:57 IST
2003 Indian World cup team

भारतीय प्रशंसक 2003 में दक्षिण अफ्रीका में हुए विश्व कप को कभी नहीं भूल पाएंगे। यह क्रिकेट इतिहास के सबसे यादगार टूर्नामेंटों में से एक था।

भारतीय टीम विश्व कप जीतने के बेहद करीब पहुँच गई थी लेकिन फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने अपने सभी मैच जीतने के बाद फाइनल में जगह बनाई। दूसरी ओर, भारत ने उस विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर हर टीम को हराया था।

भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने फाइनल में टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का निर्णय लिया, जिसका शायद उन्हें बाद में पछतावा हुया हो क्योंकि  अपने पहले ही ओवर में ज़हीर खान ने काफी रन लुटा डाले थे। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

रिकी पोंटिंग और साथी खिलाड़ियों ने भारतीय गेंदबाजों को मैदान के चारों ओर मनचाहे शॉट लगाए और स्कोर को 359 तक पहुंचा दिया।

जबाव में भारत ने पहले ही ओवर में सचिन तेंदुलकर का कीमती विकेट गंवा दिया। टूर्नामेंट के शीर्ष स्कोरर के आउट होने के बाद भारतीय प्रशंसकों की उम्मीदें को को गहरा झटका लगा।

वीरेंद्र सहवाग और राहुल द्रविड़ के अलावा कोई भी बल्लेबाज़ टिक कर नहीं खेल सका और भारत ने यह मैच 125 रनों से गंवा दिया। ऐसे में आगामी विश्व कप को देखते हुए विश्व कप 2003 का विश्व कप खेलने वाले खिलाड़ियों के बारे में जानना दिलचस्प होगा।

तो आइए जानते हैं इस विश्व कप में खेलने वाले 11 खिलाड़ी अब कहाँ हैं:  

#1. सचिन तेंदुलकर और वीरेंदर सहवाग

Sachin Tendulkar and Virender Sehwag
Advertisement

यह जोड़ी क्रिकेट इतिहास की सबसे खतरनाक जोड़ियों में से एक मानी जाती थी। इस विश्व कप में दोनों बल्लेबाजों द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई शानदार पारियां आज भी हर भारतीय प्रशंसक के ज़ेहन में ताज़ा हैं। 

सचिन तेंदुलकर ने इस टूर्नामेंट में 673 रन बनाए थे जो कि किसी भी बल्लेबाज़ द्वारा विश्व कप में बनाया सर्वाधिक स्कोर है। मास्टर वर्तमान में क्रिकेट से संन्यास के बाद परिवार के साथ जीवन का आनंद ले रहे हैं और आईपीएल में मुंबई इंडियंस के मेंटर हैं। 

वहीं, विश्व-कप फाइनल में भारत के शीर्ष स्कोरर रहे सहवाग ने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की लेकिन दूसरे छोर से उन्हें कोई साथ नहीं मिला। 'वीरू' ने 2015 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया। उसके बाद से, उन्होंने क्रिकेट कमेंट्री और किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटर की भूमिका भी निभाई। पूर्व भारतीय ओपनर दिल्ली में एक अंतर्राष्ट्रीय स्कूल भी चलाते हैं।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

1 / 5 NEXT
Published 17 Mar 2019, 20:27 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit