"महेंद्र सिंह धोनी से सौरव गांगुली श्रेष्ठ कप्तान थे"

सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

महेंद्र सिंह धोनी और सौरव गांगुली को लेकर पूर्व भारतीय खिलाड़ी मनिंदर सिंह ने बयान दिया है। मनिंदर ने कहा कि सौरव गांगुली श्रेष्ठ कप्तान रहे हैं। उन्होंने कहा कि कपिल देव और महेंद्र सिंह धोनी को मैं सेम पेज पर देखता हूँ लेकिन सौरव गांगुली ने टीम में जीतने का विश्वास पैदा किया। उन्होंने सौरव गांगुली को कपिल देव और महेंद्र सिंह धोनी से अलग रखा।

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत करते हुए मनिंदर सिंह ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी भाग्यशाली रहे कि उन्हें वर्ल्ड कप जीतने का मौका मिला। इससे पहले कपिल देव ने ऐसा किया था। सौरव गांगुली ने टीम में हर टीम के खिलाफ किसी भी परिस्थिति में जीतने का भरोसा पैदा किया। धोनी और कपिल देव दोनों शांत और ठंडे दिमाग वाले कप्तान रहे हैं। मनिंदर सिंह ने आगे कहा कि सौरव गांगुली को मैं बेस्ट मानता हूँ।

यह भी पढ़ें: IPL 2020: सभी 8 टीमों के खिलाड़ियों की पूरी लिस्ट और जानकारी

सौरव गांगुली की कप्तानी पर बयान

मनिंदर सिंह ने कहा कि मैं सौरव गांगुली की कप्तानी पसंद करता था। आप देखें कि उन्होंने भारत को क्रिकेट में क्या दिया है। सौरव गांगुली प्रतिभा के लिए एक शानदार जज थे। उन्होंने युवराज सिंह को सपोर्ट किया और हरभजन सिंह को टीम से बाहर होने के बाद वापस लेकर आए। इसके अलावा वीरेंदर सहवाग और गौतम गंभीर को उन्होंने बनाया। राहुल द्रविड़ को विकेटकीपर सौरव गांगुली ने ही बनाया था। उन्होंने यह भी कहा टेस्ट क्रिकेट में सहवाग को ओपन कराने का फैसला भी सौरव गांगुली ने ही लिया था।

सौरव गांगुली
सौरव गांगुली

गौरतलब है कि सौरव गांगुली जब कप्तान बने थे तब उन्हें कई नए खिलाड़ी ही मिले थे। 2002 चैम्पियंस ट्रॉफी में कई युवा खिलाड़ी खेल रहे थे और भारत को टूर्नामेंट में संयुक्त विजेता घोषित किया गया था। सौरव गांगुली ने युवा खिलाड़ियों को मौके देते हुए तराशने का काम किया। उनकी बदौलत भारतीय टीम को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कई धाकड़ खिलाड़ी मिले। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी गांगुली बीसीसीआई अध्यक्ष बनक्र इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम 2003 के वर्ल्ड कप में फाइनल में पहुँचने के कामयाब रही थी।

Quick Links

App download animated image Get the free App now