Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

अब म्यूजिक वीडियो में थिरकते नज़र आएंगे पूर्व कप्तान सौरव गांगुली

20 Sep 2018, 10:00 IST

सौरव गांगुली को क्रिकेट से संन्यास लिए एक दशक से ज्यादा का समय बीत चुका है। क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद सौरव कमेंट्री तो करते ही हैं, साथ ही विज्ञापनों में भी नज़र आते रहते हैं। इसके अलावा वे एक शो भी होस्ट कर चुके हैं। अब बंगाल के राजकुमार नाम से मशहूर गांगुली एक म्यूजिक वीडियो में थिरकते तज़र आएंगे।

भारतीय टीम  के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली जल्द ही एक म्यूजिक वीडियो में नजर आने वाले हैं। ' जय जय दुर्गा माँ ' शीर्षक वाले इस वीडियो में गांगुली मशहूर बंगाली एक्ट्रेस शुभाश्री गांगुली और मिमि चक्रवर्ती के साथ नजर आएंगे। यह म्यूजिक वीडियो जल्द ही रिलीज किया जाएगा। सोमवार को इस संबंध में मीडिया से बातचीत के दौरान गांगुली ने कहा ‘‘पहली बार कोई भी चीज अच्छी होती है।'' उन्होंने आगे कहा ‘‘मैं भाग्यशाली हूं कि म्यूजिक वीडियो के निदेशक राज चक्रवर्ती ने मुझे मुश्किल डांस स्टेप नहीं दिये। सभी मुश्किल डांस स्टेप सुभोश्री और मीमी ने किये हैं।"

 



 

म्यूजिक वीडियो में पूजा के जश्न के दृश्य दिखाए गए हैं। इसमें शान, अभिजित और जीत गांगुली ने अपनी-अपनी आवाजें दी हैं। लांच के बाद यह म्यूजिक वीडियो यू-ट्यूब सहित अन्य डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगा। वीडियो की शूटिंग के बारे में पूछने पर गांगुली ने कहा, हर शूट के बाद मैं मॉनिटर देखा करता था, क्योंकि मैं बेवकूफ जैसा नहीं दिखना चाहता था। दादा का कहना है, मुझे क्रिकेट और कमेंटरी समझ आती है। मुझे टीवी विज्ञापनों की भी थोड़ी बहुत समझ है,  लेकिन मुझे म्यूजिक वीडियो की तकनीकी समझ नहीं है, मुझे नहीं पता कि इसकी शूटिंग कैसे होती है। वीडियो की शूटिंग करने के बाद मुझे एहसास हुआ कि कितना मजा आया।

 



वीडियो के म्यूजिक कंपोजर जीत गांगुली ने कहा कि सौरव गांगुली ने वीडियो में बाउंड्री के ऊपर से चौका जमाया, जिस पर बाएं हाथ के बल्लेबाज ने तुरंत जवाब दिया, 'मैं अब मैदान पर बाउंड्री के ऊपर से चौके नहीं जमाता।' निर्देशक राज चक्रवर्ती ने कहा, 'वीडियो के लिए हमने दादा को सोचकर कहानी बनाई थी, तब वह लंदन में थे। दादा सहमत हो गए और मुझे कहा कि डांस मूवमेंट के दौरान लिप-सिंक करने की कोशिश करेंगे। वह पहले थोड़े घबराए हुए नजर आए, लेकिन फिर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया। एक बार फिर हमें देखने को मिला कि गांगुली समय के कितने पाबंद हैं और उनकी पेशेवरगिरी देखने को भी मिली।'

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...