ऑस्ट्रेलिया ए को सिर्फ 107 रन पर समेटकर दक्षिण अफ्रीका ए ने पहली जीत दर्ज की

दक्षिण अफ्रीका ए ने टाउंसविले में टोनी आयरलैंड स्टेडियम पर ऑस्ट्रेलिया ए को 107 रन के मामूली स्कोर पर ऑलआउट करने के बाद 174 गेंदे शेष रहते 8 विकेट से मैच जीत लिया। दक्षिण अफ्रीका ए इसी के साथ चतुष्कोणीय सीरीज में पहली जीत बोनस अंक के साथ दर्ज की। ऑस्ट्रेलिया ए इसी मैदान पर एक सप्ताह पहले इंडिया ए को 55 रन पर ऑलआउट किया था। डेन पेटरसन (8 ओवर, 3 मेडन, 13 रन, 3 विकेट) को शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। ऑस्ट्रेलिया ए के कप्तान क्रिस लीन ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया जो पूरी तरह गलत साबित हुआ। ओपनर मार्कस स्टोइनिस को ड्वेन प्रिटोरियस ने खाता भी नहीं खोलने दिया और विकेटकीपर विलास के हाथों कैच करा दिया। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज तू चल मैं आया जैसे आउट होने लगे। कैमरन बेंक्रोफ्ट (16), क्रिस लीन (5), पीटर हैंड्सकोंब (12), एलेक्स रोस (6) जल्दी-जल्दी आउट हो गए। ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष चार बल्लेबाज 36 रन के स्कोर पर पवेलियन लौट चुके थे। ग्लेन मैक्सवेल से बड़े धमाके की उम्मीद थी, लेकिन 10 रन बनाने के बाद वो भी पेटरसन की गेंद पर विलास को आसान कैच थमाकर पवेलियन लौट गए। केन रिचर्डसन 43 गेंदों में 4 चौको की मदद से 34 रन बनाकर नाबाद रहे और टीम का स्कोर 100 के पार लगाया। अन्य बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सके। दक्षिण अफ्रीका ए ने 37।2 ओवर में ऑस्ट्रेलिया ए को 107 रन पर ढेर कर दिया। दक्षिण अफ्रीका ए की ओर से पेटरसन और शम्सी ने तीन-तीन विकेट लिए। मलुसी सिबोटो ने दो तथा प्रिटोरियस ने एक विकेट लिया। आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका ए की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। रिज़ा हेंड्रिक्स (1) को मेनी ने रोस के हाथों कैच आउट करा दिया। इसके बाद मेनी ने दक्षिण अफ्रीका ए के कप्तान हेइनो कुहं (15) को बेंक्रोफ्ट के हाथों कैच करा दिया। यहां से टीबी ब्रुइन और डेविड मिलर ने टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया और 21 ओवर में मैच जिता दिया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 65 रन की अविजित साझेदारी की। ब्रुइन ने 73 गेंदों में 6 चौको व एक छक्के की मदद से नाबाद 57 रन बनाए। डेविड मिलर ने 28 गेंदों में 3 चौको की मदद से नाबाद 20 रन बनाए।

Edited by Staff Editor