Create

वर्ल्ड कप सेमीफाइनल से भारत को बाहर करने वाली खिलाड़ी ने दो फॉर्मेट से किया संन्यास का ऐलान, अहम वजह बताई

मिगनन डू प्री ने टेस्ट और वनडे को अलविदा कहा
मिगनन डू प्री ने टेस्ट और वनडे को अलविदा कहा

दक्षिण अफ्रीका की विकेटकीपर बल्लेबाज और हाल ही में आईसीसी महिला वनडे वर्ल्ड कप (ICC Women's ODI World Cup 2022) के सेमीफाइनल में जबरदस्त प्रदर्शन करने वाली मिगनन डू प्री (Mignon du Preez) ने टेस्ट और वनडे से संन्यास का ऐलान का दिया है। डू प्री ने यह फैसला टी20 प्रारूप पर ध्यान देने और अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए लिया है।

डू प्री ने अपनी टीम के लिए 154 वनडे मैचों में 32.98 की औसत से 3260 रन बनाये हैं। इस दौरान उनके बल्ले से दो शतक और 18 अर्धशतक निकले। वहीं वनडे फॉर्मेट में इनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 116 रन है। इसके अलावा इस फॉर्मेट में डू प्री के नाम एक विकेट भी दर्ज हैं। वहीं इन्होंने अपने करियर में एक टेस्ट मैच भी खेला और उसमें 102 रन की पारी खेलते हए 119 रन बनाये।

2007 में वनडे डेब्यू करनी वालीं डू प्री ने हाल ही में आईसीसी महिला वनडे वर्ल्ड 2022 में शिरकत की थी और अहम मौकों पर अपनी टीम के लिए बेहतरीन योगदान दिया था। इन्होंने टूर्नामेंट के आठ मैचों में में 161 रन बनाये थे, जिसमें भारत के खिलाफ लीग स्टेज मुकाबले में 52 रन की पारी भी शामिल है, जिसकी मदद से मैच जीत कर टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी।

परिवार को प्राथमिकता देने और खुद के परिवार की शुरुआत करने के लिए किया संन्यास का फैसला

मिगनन डू प्री ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा,

मैं अब तक चार आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप में खेलने के लिए आश्चर्यजनक रूप से भाग्यशाली रही हूं, ये मेरे जीवन की कुछ सबसे क़ीमती यादें हैं। हालांकि मैं अपने परिवार के साथ समय को प्राथमिकता देना पसंद करूंगी, और उम्मीद है कि मैं जल्द ही अपना खुद का परिवार शुरू करूंगी।
मुझे लगता है कि खेल के लंबे प्रारूप से संन्यास की घोषणा करने और आगे बढ़ने वाले टी20 क्रिकेट पर अपना ध्यान केंद्रित करने का यह सही समय है। इस प्रकार, मैंने न्यूजीलैंड में हमारे हालिया वर्ल्ड कप के पूरा होने पर वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया। मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीकी महिला क्रिकेट बहुत अच्छी स्थिति में है और समय आ गया है कि हम अपने कदम पीछे हटाएं और रोमांचक क्रिकेटरों की अगली पीढ़ी को हमारे इस खूबसूरत खेल को जारी रखने दें।

इसके अलावा उन्होंने आखिरी में अपने साथियों का भी शुक्रिया किया। उन्होंने कहा,

अंत में, मैं अपने वनडे सफर को यादगार बनाने के लिए अपने मैनेजमेंट और अपने साथियों को धन्यवाद देना चाहती हूं।
I feel blessed and I'm extremely grateful for a fifteen year ODI crareer. The journey was special and I will treasure the memories and friendships for a lifetime. Thank you 🇿🇦🏏❤️ #Blessed #AllGloryToGod twitter.com/OfficialCSA/st…
Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment