एक और गेंदबाज पर लगा अवैध एक्शन से गेंदबाज़ी करने पर प्रतिबंध

माना जाता है कि क्रिकेट की दुनिया में नियम और कानून बहुत मायने रखते हैं। अगर ये नहीं तो क्रिकेट का कोई महत्व नहीं रह जाता। हालांकि ये सब चीज़ें क्रिकेट को और भी मज़ेदार बनाती हैं पर कई बार ऐसा भी होता है कि इनकी वजह से कई खिलाड़ियों को अपना करियर डूबता भी नज़र आता है। आप मेरी बातों से थोड़ा चौंक ज़रूर रहे होंगे, तो चलिये मैं आपको अपनी बातों को विस्तार में समझाता हूँ। क्रिकेट जगत में नियम और कानून सबसे बड़ी चीज़ होती है जिसका उल्लंघन कोई चाह कर भी नहीं कर सकता। मगर कोई इसका उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो उसे उसका दंड भी मिलता है या फिर उसमें सुधार करने का मौका भी। यहाँ बात हो रही है क्रिकेट के उस नियम की जो मूल रूप से गेंदबाजों के लिए उनके गेंदबाज़ी एक्शन को लेकर बना है। नियम ये कहता है कि किसी भी गेंदबाज को गेंदबाज़ी करने के लिए अपने हाथों को 15 डिग्री तक घुमाना ज़रूरी होता है। क्रिकेट के इस नियम का पालन सभी गेंदबाज करते हैं पर कुछ गेंदबाज के एक्शन संदिग्ध होने पर उन्हे जांच के लिए भेजा जाता है और वहाँ जांच के बाद अगर उनका एक्शन ग़लत हुआ तो या तो उनकी गेंदबाज़ी पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है या फिर उसमें सुधार करने को कहा जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ है हाल में श्रीलंकाई गेंदबाज शामिन्दा एरंगा के साथ। एरंगा को आईसीसी द्वारा अवैध एक्शन की वजह से अंतर्राष्ट्रीय मैचों में गेंदबाज़ी करने पर प्रतिबंध लगाया गया है। आपको बता दें कि एरंगा को इंग्लैंड के विरुद्ध दूसरे टेस्ट मैच में गेंदबाज़ी के दौरान उनके एक्शन को संदिग्ध पाया गया था। अब देखना ये है कि क्या एरंगा अंतर्राष्ट्रीय में फिर से गेंदबाज़ी करते नज़र आएंगे या फिर उनका करियर ख़त्म हो जाएगा?

Edited by Staff Editor