वेस्टइंडीज को रोमांचक मैच में 1 रन से हराकर ट्राई सीरीज के फाइनल में पहुंचा श्रीलंका

श्रीलंका ने बुधवार को ट्राई सीरीज के बेहद रोमांचक मुकाबले में वेस्टइंडीज को 1 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी की और निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट खोकर 330 रन बनाए। जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 50 ओवरों में 9 विकेट खोकर 329 रन ही बना सकी। कुसल मेंडिस को 73 गेंदों में 7 चौको व 5 छक्कों की मदद से 94 रन की तेजतर्रार पारी खेलने के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया। वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में 10 रन की जरुरत थी और कप्तान जेसन होल्डर स्ट्राइक पर थे। श्रीलंका की तरफ से नुवान प्रदीप यह ओवर कर रहे थे। पहली गेंद पर होल्डर एक रन ले सके। दूसरी गेंद पर सुलेमान बेन बीट हो गए। तीसरी गेंद पर बेन ने मिडविकेट के ऊपर से छक्का जमकर मैच बेहद रोमांचक बना दिया। विंडीज को तीन गेंदों में जीत के लिए तीन रन की दरकार थी। प्रदीप ने चौथी गेंद पर बेन को बीट किया। पांचवीं गेंद पर बेन ने कवर्स की दिशा में हवा में शॉट खेला, लेकिन सिल्वा ने उनका आसान कैच पकड़ा। अंतिम गेंद पर विंडीज को तीन रन की दरकार थी और कप्तान होल्डर स्ट्राइक पर थे। प्रदीप ने ब्लॉकहॉल गेंद डाली, जिस पर होल्डर सिर्फ एक रन ले सके और श्रीलंका ने मैच एक रन से जीत लिया। ट्राई सीरीज की तीसरी टीम ज़िम्बाब्वे है जो वेस्टइंडीज के खिलाफ शुक्रवार को मैच खेलेगी और जो भी टीम विजेता होगी, वह फाइनल में प्रवेश करेगी। वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने टॉस जीतकर श्रीलंका को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। श्रीलंका की शुरुआत ख़राब रही और 18 रन के स्कोर पर शेनन गेब्रियल ने कुसल परेरा (7) को क्लीन बोल्ड कर दिया। पहला विकेट जल्दी गंवाने के बाद श्रीलंका को धनंजय डी सिल्वा (58) और विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशन डिकवेला (94) ने मजबूत किया। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 105 रन की शतकीय साझेदारी की। क्रैग ब्रैथवेट ने अपनी गेंद पर कैच पकड़कर सिल्वा की पारी का अंत करते हुए इस साझेदारी को तोड़ा। सिल्वा ने 60 गेंदों में 7 चौको की मदद से अपने करियर का तीसरा अर्धशतक जमाया। यहां से डिकवेला को कुसल मेंडिस (94) का साथ मिला और दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 107 रन की साझेदारी की। डिकवेला ने इस दौरान अपने वन-डे करियर का पहला अर्धशतक जमाया। होल्डर ने डिकवेला को LBW आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा। डिकवेला ने 106 गेंदों में 7 चौको और एक छक्के की मदद से 94 रन बनाए। वह अपना शतक बनाने से चूक गए। दूसरे छोर पर टिके मेंडिस ने तेज रनगति बरक़रार रखी और दमदार शॉट लगाना जारी रखे। शेहन जयसूर्या (9) को कार्लोस ब्रैथवेट ने बोल्ड कर दिया। फिर मेंडिस को नर्स ने विकेटकीपर शाई हॉप के हाथों की शोभा बनाया। मेंडिस ने सिर्फ 73 गेंदों में 7 चौको और 5 छक्कों की मदद से 94 रन बनाए। उपुल थरंगा (26) और सचिथ पथिराना (24*) ने श्रीलंका को विशाल स्कोर तक पहुंचाया। वेस्टइंडीज की तरफ से कप्तान जेसन होल्डर ने सर्वाधिक 3 विकेट लिए। शेनन गेब्रियल, कार्लोस ब्रैथवेट, एश्ले नर्स और क्रैग ब्रैथवेट को एक-एक विकेट मिला। विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज ने दमदार शुरुआत की। जॉनसन चार्ल्स (26) ने एविन लेविस (148) के साथ पहले विकेट के लिए 63 रन की साझेदारी की। लकमल ने थरंगा के हाथों चार्ल्स का कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा। इसके बाद लेविस ने तेजी से खेलते हुए क्रैग ब्रैथवेट (16) के साथ दूसरे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की। ब्रैथवेट को गुनारात्ने ने बोल्ड किया। इसके बाद शाई हॉप (25) और जोनाथन कार्टर (6) दुर्भाग्यशाली रहे। दोनों रनआउट हुए। रोवमैन पॉवेल (10) को कुलसेकरा ने LBW आउट कर दिया। इसके बाद लेविस भी रनआउट हो गए। उन्होंने 122 गेंदों में 15 चौको और 4 छक्कों की मदद से 148 रन बनाए। इसके बाद होल्डर (45*) समेत अन्य बल्लेबाजों की पारियां टीम को जीत नहीं दिला सकी।