Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ़ से हर विकेट के लिए बेहतरीन साझेदारियां

Modified 28 Mar 2018, 07:45 IST
Advertisement

भारतीय क्रिकेट ने अपने टेस्ट कार्यकाल के दौरान कई महान सितारों को जन्म दिया है, जिन्होंने इतिहास के सुनहरे पन्नों पर एक के बाद एक अपना नाम दर्ज करवाया है। खिलाड़ियों ने ना सिर्फ व्यक्तिगत सफलताएं प्राप्त की है बल्कि टीम की जरूरत के अनुसार कंधे से कंधे जोड़ कर भारतीय टीम को मुश्किल की घड़ी से उबारा है। साथ मिलकर रन बनाये है और साथ मिलकर समय समय पर टीम का सहारा बनकर आगे आये हैं। यह क्रिकेट का खेल है जहां खिलाड़ियों की व्यक्तिगत सफलताओं का जश्न मनाया जाता है, एक टीम की तरह खेल खेला जाता है। यहां आज हम बात करेंगे कि खिलाड़ियों ने किस तरह प्रत्येक विकेट के लिए एकजुट होकर साझेदारियां की हैं और टीम इंडिया को हर मुश्किल मौके पर मिलकर बाहर निकाला है। नजर डालते हैं टेस्ट में टीम इंडिया के लिए प्रत्येक विकेट के लिए सबसे अधिक साझेदारियों पर।

पहले विकेट के लिए – वीनू मांकड़ और पंकज रॉय- 413

एक रिकार्ड जो समय की कसौटी पर तब तक खड़ा रहा जब तक कि बांग्लादेश के खिलाफ में ग्रीम स्मिथ और नील मैकेंजी की जोड़ी ने 2008 में इसे तोड़ नहीं दिया था। वीनू मांकड़ और पंकज रॉय ने अपने द्वारा बनाई गयी उच्चतम साझेदारी के लिए सम्मान हासिल किया था। एक बार फिर से वापस जाते हैं 1956 के साल में जब इस जोड़ी ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ रिकॉर्ड साझेदारी निभायी थी। सीरीज के पांचवें मैच में जब भारत 1-0 से आगे था उस मैच में इस जोड़ी ने साझेदारी कर 413 रनों का पहाड़ खड़ा किया। इस जोड़ी को आखिरकार मैट पोरे ने तोड़ा, पोरे की लेग स्पिन पर रॉय के आउट होने के बाद इस साझेदारी का अंत हुआ। जबकि दूसरे छोर पर माकड़ ने 231 रनों का योगदान दिया।
1 / 10 NEXT
Published 28 Mar 2018, 07:45 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit