Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

स्टीव ओ'कीफ ने भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी को दिया अपनी सफलता का श्रेय

  • स्टीव ओ कीफ ने दोनों पारियों में 6-6 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट में भारत पर 333 रन से जीत दिलाई
ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 21:17 IST

भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों पुणे टेस्ट में 333 रन की करारी शिकस्त झेलना पड़ी। मेजबान टीम के लिए सबसे बड़ी पहेली बनी स्टीव ओ कीफ की गेंदबाजी, जिन्होंने मैच में कुल 12 विकेट लिए और मैन ऑफ़ द मैच का ख़िताब जीता। बाएं हाथ के स्पिनर ने भारत में अपनी सफलता का श्रेय पूर्व भारतीय खिलाड़ी श्रीधरन श्रीराम को दिया। कीफ ने कहा, 'मेरे ख्याल से श्रीराम स्पिन गेंदबाजी के शानदार कोच हैं। मैंने उनके साथ कई बार कम किया है और वे काफी प्रभावी है। उन्हें भारतीय परिस्थितियों का बखूबी अंदाजा है। वो जानते हैं कि यहां कैसी गेंदबाजी करना है। उन्हें बल्लेबाज की सोच की समझ है।' ओ कीफ ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरे दिन विशाल बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी जब उन्होंने लोकेश राहुल और अजिंक्य रहाणे जैसे दिग्गज बल्लेबाजों समेत भारतीय बल्लेबाजी को ध्वस्त करके रखा था। पूर्व भारतीय ऑलराउंडर श्रीधरन श्रीराम ने 2000-04 के बीच 8 वन-डे खेले हैं। उन्हें ऑस्ट्रेलिया ने पहले 2015 में बांग्लादेश दौरे के लिए नियुक्त किया था। वह ऑस्ट्रेलियाई सीनियर टीम के कोचिंग खेमे में चुने जाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी बने थे। बाएं हाथ के स्पिनर को ऑस्ट्रेलिया ने इस वर्ष भी नियुक्त किया और भारत दौरे पर स्पिन आक्रमण की जिम्मेदारी सौंपी। ओ कीफ ने स्वीकार किया कि वह नेट्स पर अलग-अलग सीम के साथ गेंदबाजी करते हैं और वह अपनी आर्म एंगल्स में भी परिवर्तन करते हैं। इस दौरान श्रीराम उन्हें काफी प्रोत्साहित करते हैं और भारतीय पारी के दौरान उन्हें मिश्रण करने के लिए काफी टिप्स भी दिए थे। इसका परिणाम सभी के सामने है। पूर्व भारतीय अंतर्राष्ट्रीय की तारीफ करते हुए ओ कीफ ने कहा, 'मुझे अपनी योजनाओं पर काम करने की स्वंत्रता मिली है। इसके साथ ही मेरे कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी मेरी क्षमता पर भरोसा जताया।' ओ कीफ मौजूदा भारत दौरे को अपने करियर का सबसे महत्वपूर्ण समय मानते हैं और अगले तीन टेस्ट मैचों में भी वो धमाकेदार प्रदर्शन जारी रखना चाहेंगे। 32 वर्षीय ओ कीफ ने राष्ट्रीय टीम की तरफ से सिर्फ चार टेस्ट खेले थे, लेकिन उन्होंने पहले टेस्ट में गजब की वापसी करते हुए करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। वह मौजूदा सीरीज में इसे कायम रखना चाहेंगे।

Published 25 Feb 2017, 17:01 IST
Advertisement
Fetching more content...