Create

स्टीव स्मिथ ने भारत दौरे पर टेस्ट में हुए डीआरएस विवाद पर विराट कोहली के आरोपों को नकारा

Rahul

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ ने हाल ही में ESPNCricinfo को दिए एक इंटरव्यू में विराट कोहली को लेकर बड़ा बयान जारी किया है। इस साल हुई भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के बैंगलोर टेस्ट में हुए डीआरएस विवाद को पूरी तरह से स्मिथ ने बेकार बताया और साथ ही सीरीज के बाद कोहली के मिजाज में आये बदलाव को लेकर भी सवाल खड़े किये।

बैंगलोर टेस्ट में डीआरएस विवाद को भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने स्मिथ को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। इस विवाद को लेकर स्मिथ ने अपनी ऑटोबायोग्राफी 'द जर्नी' में लिखते हुए कहा कि मैंने उस समय और बाद में भी नहीं सोचा था कि कोहली ने पोस्ट मैच में मैदान और मैदान के बाहर हुई बातचीत को लेकर क्या कहा है। मैंने पहले भी साफतौर पर कहा था कि हमने ड्रेसिंग रूम से फैसले को लेकर कुछ नहीं कहा था और साथ ही कोहली ने कहा था कि उन्होंने इस बारे में अंपायर को दो बार चेतावनी भी दी है लेकिन मैं यह कह सकता हूँ कि हमने न तो अंपायर और न ही मैच रेफरी से किसी भी तरह के नियम का उल्लंघन करने के बारे में कहा था।

स्मिथ ने इस विवाद को लेकर आगे कहा कि विराट एक आक्रामक ख़िलाड़ी हैं और वो ऐसे माहौल में बहुत ही जोश में रहते हैं। उन्हें चुनौतियां पसंद है जैसे की मुझे भी है लेकिन मैं बस इतना कहना चाहूँगा कि उस घटना को लेकर उनका नजरिया उनके हिसाब से था। वह सीरीज में सर्वश्रेष्ठ करने के लिए मैदान में जोश भरना चाहते थे। मैदान से बाहर किसी भी तरह के फैसले को बदलने और किसी भी तरह की बातचीत के सभी दावे सब बेकार थे। इस विवाद को लेकर न तो आईसीसी और न ही विराट कोहली ने बाद में कुछ कहा था। आईपीएल में भी हम दोनों मिले थे और एक दोस्ताना अंदाज़ में मिले लेकिन वह मुझसे कुछ खफा जरुर नजर आये, जो मेरे लिए भी अभी तक राज ही है।

दरअसल बैंगलोर टेस्ट में स्मिथ को अंपायर ने एलबीडबल्यू आउट दिया था। कप्तान ने डीआरएस की मांग करते हुए पहले ड्रेसिंग रूम की तरफ देखा और उनसे इस फैसले को लेकर पूछा लेकिन तब ही उनके पास खड़े भारतीय खिलाड़ियों ने अपने कप्तान को इस मामले को लेकर बताया और कोहली ने मैदान पर इसका विरोध अंपायर से किया और साथ ही मैदान के बाहर उन्होंने इस घटना को कुछ न कहते हुए, इसे बस शर्मनाक बताया था।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment