Create
Notifications

सुरेश रैना के वनडे करियर की 3 सबसे जबरदस्त पारियां

सुरेश रैना
सुरेश रैना
सावन गुप्ता

भारतीय क्रिकेट टीम के मध्यक्रम के दिग्गज बल्लेबाज सुरेश रैना ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। एम एस धोनी के संन्यास का ऐलान करने के कुछ ही देर बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

सुरेश रैना ने भारतीय टीम के लिए 226 वनडे मैच और 78 टी-20 मैच खेले हैं। इसके अलावा वह टेस्ट में भी भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। रैना ने टेस्ट में भारत के लिए 18 मैच खेले हैं। रैना ने भारतीय टीम के लिए कई यादगार पारियां खेली हैं और वह वनडे मैचों में 12 बार मैन ऑफ द मैच रहे हैं।

सुरेश रैना भारतीय क्रिकेट टीम के मजबूत स्तंभ रहे हैं और उन्होंने कई मौकों पर अपनी यादगार पारियों से टीम को जीत दिलाई। सुरेश रैना ने मिडिल ऑर्डर में भारत के लिए कई जबरदस्त पारियां खेली हैं। वो 2011 वनडे वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे।

सुरेश रैना ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, ऐसे में आइए नजर डालते हैं उनके क्रिकेट करियर की 3 सबसे शानदार पारियों पर।

ये भी पढ़ें: IPL 2020 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के 3 संभावित ओपनिंग कॉम्बिनेशन

सुरेश रैना की 3 सबसे जबरदस्त पारियां

#1. जिम्बाब्वे के खिलाफ नाबाद 110 रन, वर्ल्ड कप 2015

सुरेश रैना
सुरेश रैना

2015 वर्ल्ड कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ सुरेश रैना ने शानदार शतक लगाकर भारतीय टीम को जीत दिलाई थी। भारतीय टीम इस मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ हार के कगार पर खड़ी थी और तब सुरेश रैना ने टीम को संकट से निकालते हुए जीत दिलाई थी। इसलिए उनकी ये पारी काफी खास है।

पहले बल्लेबाजी करते हुए जिम्बाब्वे ने ब्रेंडन टेलर (138) के शतक की बदौलत 287 रन का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में भारतीय पारी लड़खड़ा गई। टीम ने 92 रन के स्कोर पर विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन और अंजिक्य रहाणे के रूप में अपने चार प्रमुख बल्लेबाज गंवा दिए थे। यहां से सुरेश रैना ने कप्तान धोनी के साथ मिलकर 196 रन की अटूट साझेदारी की और टीम को जीत दिला दी। रैना 110 और धोनी 85 रन बनाकर नाबाद रहे। धोनी ने 49वें ओवर में छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई थी।

ये भी पढ़ें: आईपीएल नीलामी में अनसोल्ड रहने वाले 3 विदेशी खिलाड़ी जिनकी कमी इस बार खलेगी

2. इंंग्लैंड के खिलाफ शतक, 2014

सुरेश रैना
सुरेश रैना

कार्डिफ में खेले गए इस मैच में रैना ने जो पारी खेली उसे सुनील गावस्कर ने विदेशों में किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय पारियों में से एक बताया था।

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने बहुत जल्दी ही विराट कोहली शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे के विकेट गंवा दिए थे। यहां से सुरेश रैना ने कप्तान धोनी के साथ मिलकर टीम को संभाला और स्कोर को 300 के पार ले गए। रैना ने इंग्लैंड के गेंदबाजों की जबरदस्त धुनाई करते हुए मात्र 75 गेंदों पर 100 रन बनाए। आखिर में भारत ने यह मैच 133 रन से जीत लिया।

1. इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 81 रन, 2006

सुरेश रैना 
सुरेश रैना

2006 में फरदीबाद में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड की टीम ने पहले खेलते हुए 226 रन बनाए।भारतीय टीम को सहवाग और गंभीर की जोड़ी ने 61 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दी। हालांकि इसके बाद भारतीय टीम ने सिर्फ 92 रन पर 5 विकेट गंवा दिए।

यहां से सुरेश रैना ने धोनी के साथ मोर्चा संभाला। रैना ने महज 19 साल की उम्र में सूझबूझ का परिचय दिया और 89 गेंदों पर नाबाद 81 रन बनाए। धोनी के साथ छठे विकेट के लिए 118 रन की साझेदारी निभाकर रैना ने भारत को जीत दिला दी।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...