Create
Notifications

सुरेश रैना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ निर्भीक होकर बल्लेबाजी की: रवि शास्त्री

सावन गुप्ता

भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने लंबे समय बाद टीम में वापसी करने वाले दिग्गज बल्लेबाज सुरेश रैना की काफी तारीफ की है। शास्त्री ने कहा कि रैना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में इस तरह की बल्लेबाजी की जैसे कि वो लंबे समय से टीम का हिस्सा हों। इंडिया टुडे से बातचीत में शास्त्री ने कहा कि रैना काफी अनुभवी खिलाड़ी हैं और उन्होंने दिखाया कि अनुभव के क्या मायने होते हैं। उन्होंने कहा कि रैना की एक बात जो मुझे सबसे अच्छी लगी वो ये कि उन्होंने बिना किसी डर के निर्भीक होकर बल्लेबाजी की। शास्त्री ने कहा कि जब कोई खिलाड़ी लंबे समय बाद टीम में आता है तो फिर वो अपना स्थान पक्का करने के लिए खेलता है। इससे उस खिलाड़ी पर दबाव और बढ़ जाता है। लेकिन रैना ने इस तरह से बल्लेबाजी कि जैसे कि वो टीम से बाहर ही ना हुए हों। उन्होंने जबरदस्त बल्लेबाजी की और ये देखकर काफी अच्छा लगा। वहीं रवि शास्त्री ने हार्दिक पांड्या के बारे में कहा कि वो एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं और अपनी गलतियों से जरुर सीख लेंगे। गौरतलब है दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के आखिरी मैच में सुरेश रैना ने 27 गेंदों पर 43 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। इसके अलावा गेंदबाजी में भी उन्होंने एक विकेट लिया था। इसकी बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर टी20 सीरीज अपने नाम की थी। सुरेश रैना को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। रैना लगभग एक साल के बाद भारतीय टीम में वापसी कर रहे थे लेकिन उनकी बल्लेबाजी से बिल्कुल ऐसा नहीं लगा कि वो टीम से बाहर थे। टीम में वापसी के बाद दूसरे मैच में भी उन्होंने 24 गेंदों पर 31 रन बनाए थे। रैना अब निदहास ट्रॉफी में श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाफ टी20 त्रिकोणीय श्रृंखला में खेलते हुए नजर आएंगे जहां अच्छा प्रदर्शन कर वो एकदिवसीय टीम में जगह पक्की करने की कोशिश करेंगे।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...