T10 League: सहवाग की मराठा अरेबियंस सेमीफाइनल में, पोलार्ड की धमाकेदार पारी ने केरला किंग्स को भी सेमीफाइनल में पहुंचाया

टी10 लीग में आज फिर से कुल मिलाकर चार मुकाबले खेले गए। प्ले-ऑफ मुकाबलों में ग्रुप ए की तीनों टीमों का सामना ग्रुप बी की तीनों टीमों से हुआ। पहले मुकाबले में ग्रुप बी की पख्तूंस ने ग्रुप ए की बंगाल टाइगर्स को 6 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। दूसरे मुकाबले में ग्रुप ए की केरला किंग्स ने डकवर्थ-लुईस की मदद से ग्रुप बी की टीम श्रीलंका को 8 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। तीसरे मुकाबले में वीरेंदर सहवाग की मराठा अरेबियंस ने ग्रुप ए की पंजाबी लीजेंड्स को 14 रनों से हराया, हालाँकि सहवाग आज का मुकाबला नहीं खेले और इमाद वसीम ने टीम की कप्तानी की। जहाँ एक तरफ जीत के साथ मराठा अरेबियंस ने सेमीफाइनल में जगह पक्की की, वहीं हार के बावजूद पंजाबी लीजेंड्स सेमीफाइनल में प्रवेश करने में सफल रही। कल सेमीफाइनल में मराठा अरेबियंस का सामना केरला किंग्स और पख्तूंस का सामना पंजाबी लीजेंड्स से होगा। पांचवें और छठे स्थान के लिए हुए मुकाबले में बंगाल टाइगर्स ने टीम श्रीलंका को 6 विकेट से हराया और पांचवें स्थान पर रही। टीम श्रीलंका 6 टीमों वाले इस टूर्नामेंट में आखिरी स्थान पर रही। पहले मैच में पख्तूंस ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया और बंगाल टाइगर्स ने डेविड मिलर (26 गेंद 68*, 7 छक्के) की धुआंधार पारी की बदौलत 126/2 का मजबूत स्कोर बनाया। जवाब में पख्तूंस की तरफ से अहमद शहज़ाद ने 17 गेंदों में 38 और फखर ज़मान ने 11 गेंदों में 31 रनों की तेज़ पारियां खेली, लेकिन टीम को अंत में जीत मैन ऑफ़ द मैच लियाम डॉसन (5 गेंद 19, 2 छक्के) ने दिलाई। डॉसन ने अपने एकमात्र ओवर में सिर्फ 6 रन देकर एक विकेट भी लिया था। दूसरे मुकाबले में टीम श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया और कप्तान दिनेश चंडीमल (24 गेंद 38), भानुका राजपाकसा (16 गेंद 26) और रमित रम्बुकवेला (6 गेंद 20) की बढ़िया पारियों की बदौलत 112/3 का स्कोर बनाया। जवाब में पांच ओवरों के जब केरला किंग्स का स्कोर 5 ओवरों के बाद 67/2 था, तभी बारिश आ गई और उसके बाद केरला किंग्स को जीत के लिए आठ ओवरों में 91 रन बनाने का लक्ष्य मिला, जिसे उन्होंने 6.1 ओवर में ही हासिल कर लिया। चैडविक वॉल्टन ने 21 गेंदों में 47 और मैन ऑफ़ द मैच किरोन पोलार्ड ने सिर्फ 12 गेंदों में 6 छक्के की मदद से नाबाद 40 रन बनाये। तीसरे मुकाबले में पंजाबी लीजेंड्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया, लेकिन मराठा अरेबियंस ने लगातार दूसरे मैच में मैन ऑफ़ द मैच रहे राइली रूसो (27 गेंद 67, 6 छक्के) की धुआंधार पारी की बदौलत 130/4 का स्कोर बनाया। असग़र स्टैनिकज़ाई ने 10 गेंदों 26 रन की पारी खेली। जवाब में ल्युक रोंकी (31 गेंद 56) के अर्धशतक के बावजूद पंजाबी लीजेंड्स की टीम 10 ओवरों में सिर्फ 116/3 का स्कोर ही बना सकी। पांचवें और छठे स्थान के लिए हुए मुकाबले में बंगाल टाइगर्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिए, लेकिन भानुका राजापाकसा (27 गेंद 65) के धुआंधार अर्धशतक की बदौलत टीम श्रीलंका ने 115/4 का स्कोर बनाया। जवाब में बंगाल टाइगर्स ने मैन ऑफ़ द मैच जॉनसन चार्ल्स (15 गेंद 36, 4 छक्के) और डेविड मिलर (8 गेंद 25, 2 छक्के) की ताबड़तोड़ पारियों की बदौलत 9.2 ओवरों में ही लक्ष्य हासिल कर लिया। संक्षिप्त स्कोरकार्ड: पहला मैच: बंगाल टाइगर्स - 126/2, पख्तूंस - 130/4 दूसरा मैच: टीम श्रीलंका - 112/3, केरला किंग्स - 92/2 (6.1, डकवर्थ-लुईस नियम) तीसरा मैच: मराठा अरेबियंस - 130/6, पंजाबी लीजेंड्स - 116/3 5/6 स्थान के लिये मैच: टीम श्रीलंका - 115/4, बंगाल टाइगर्स - 118/4

Edited by Staff Editor