Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

SAvIND: जोहांसबर्ग में भारत की नज़र ‘विराट’ इतिहास पर, गुलाबी गैंग वाले मेज़बानों को मिला ‘बॉस’ का सहारा

Syed Hussain
ANALYST
Modified 10 Feb 2018, 11:30 IST
Advertisement

भारत और दक्षिण अफ़्रीका के बीच 6 मैचों की वनडे सीरीज़ में विराट कोहली की सेना ने अब तक कमाल का प्रदर्शन करते हुए मेज़बानों को हर विभाग में चारों ख़ाने चित कर दिया है। 3 में से 3 मुक़ाबले जीतते हुए भारत 3-0 से आगे है और अब अगले 3 मैचों में से किसी एक में भी जीत टीम इंडिया को दक्षिण अफ़्रीकी सरज़मीं पर पहली बार किसी भी द्विपक्षीय सीरीज़ में जीत दिला देगी। भारत की नज़र आज होने वाले चौथे वनडे को ही जीतकर इतिहास रचने पर होगी ताकि अगले दो मैचों में कुछ प्रयोग किए जा सकें और बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को भी मौक़ा दिया जा सके।

जोहांसबर्ग में गुलाबी गैंग का आंकड़ा है बेहद शानदार

    हालांकि कोहली एंड कंपनी के लिए चौथा वनडे पिछले तीनों मुक़ाबलों से कई मायनो में अलग होगा। यहां जीत शायद ही उतनी आसानी से मिल पाए जितनी अब तक इस सीरीज़ में मिली है। इसकी पहली और सबसे बड़ी वजह है टीम में दिग्गज बल्लेबाज़ एबी डीविलियर्स की वापसी, जो अब तक इस सीरीज़ में उंगली में चोट की वजह से बाहर बैठे थे। इतना ही नहीं ये पिंक वनडे होगा, यानी दक्षिण अफ़्रीका इस मैच में गुलाबी कपड़ों में खेलने उतरेगी। स्तन कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए दक्षिण अफ़्रीका जोहांसबर्ग में पिछले कुछ सालों से एक वनडे मैच पिंक जर्सी में खेलता है, और गुलाबी जर्सी में इस टीम का प्रदर्शन कुछ अलग ही स्तर पर पहुंच जाता है। प्रोटियाज़ ने पिंक जर्सी में अब तक खेले गए 5 मैचों में 5 जीत दर्ज की है, जिसमें 2013 में भारत के ख़िलाफ़ 141 रनों की जीत भी शामिल है। इतना ही नहीं एबी डीविलियर्स गुलाबी जर्सी में बेहद ख़तरनाक बल्लेबाज़ी करते आए हैं, डीविलियर्स ने अब तक खेले 5 पिंक वनडे में 112.5 की बेमिसाल औसत से 450 रन बनाए हैं। गुलाबी कपड़ों में ही एबी डीविलियर्स ने 31 गेंदों पर वनडे इतिहास का सबसे तेज़ शतक जड़ा था जो आज भी उन्हीं के नाम है। ऐसे में टीम इंडिया के सामने मैदान के साथ साथ इन आंकड़ों से भी एक लड़ाई रहेगी।

कलाईयों के जादूगर हैं टीम इंडिया के जीत का मंत्र, लेकिन रोहित का बल्ला है ख़ामोश

  वैसे तो कोहली के लिए अब तक सब कुछ शानदार जा रहा है, विराट ने 3 मैचों में अब तक 318 की औसत से 318 रन बनाए हैं, जिसमें दो शतक शामिल हैं। कुलदीप यादव (10 विकेट) और युज़वेंद्र चहल (11 विकेट) की जोड़ी ने अब तक इस सीरीज़ में 28 में से 21 विकेट हासिल किए हैं। ये आंकड़े बताने के लिए काफ़ी हैं कि अब तक भारत की जीत के मंत्र कलाईयों के दोनों जादूगर और कप्तान विराट का बल्ला रहा है। कोहली के साथ साथ शिखर धवन भी लाजवाब फ़ॉर्म में हैं और अब तक उनके बल्ले से भी दो अर्धशतक आ चुके हैं, जोहांसबर्ग में खेला जाने वाला वनडे शिखर के करियर का 100वां एकदिवसीय मैच होगा ऐसे में वह चाहेंगे कि इसे यादगार बनाया जाए। इन सबके बीच टीम इंडिया के लिए चिंता का सबब रोहित शर्मा का ख़राब फ़ॉर्म है, अब तक तीनों ही वनडे में रोहित शर्मा कुछ ख़ास नहीं कर पाए हैं। दक्षिण अफ़्रीकी सरज़मीं पर उनका करियर औसत भी 12.10 है, जिसका मानसिक असर उनकी बल्लेबाज़ी पर दिख रहा है। उम्मीद है कि इन आंकड़ों को वांडेरर्स के मैदान पर रोहित झूठा साबित करने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा देंगे।  

पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज

Advertisement
  टेस्ट सीरीज़ के दौरान जोहांसबर्ग की पिच काफ़ी सुर्ख़ियों में रही थी, तीसरे टेस्ट में अंपायर ने तो ख़राब पिच की वजह से खेल भी रोक दिया था था। हालांकि मुक़ाबला दोबारा शुरू हुआ और भारत ने टेस्ट भी जीता। आईसीसी ने इस पिच को लेकर फटकार भी लगाई थी और डिमेरिट अंक भी दिए थे, ऐसे में उम्मीद है कि वनडे की पिच बिल्कुल अलग नज़र आएगी। वैसे भी जोहांसबर्ग में वनडे मुक़ाबलों में पिच बल्लेबाज़ों के मूफ़ीद मानी जाती है, इसी मैदान पर वनडे इतिहास के सबसे बड़े चेज़ का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी है जब ऑस्ट्रेलिया के 434 रनों के जवाब में मेज़बानों ने 438 रन बनाते हुए मुक़ाबला जीत लिया था। आज भी पिच सपाट और बल्लेबाज़ों के अनुकूल हो सकती है, लेकिन मौसम क्रिकेट में व्यवधान ज़रूर डाल सकता है। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो शनिवार को जोहांसबर्ग में बीच बीच में बारिश की संभावना भी है, अगर ऐसा हुआ और बादल छाए रहे तो स्वाभाविक है कि मदद तेज़ गेंदबाज़ों को मिल सकती है। इस मैदान पर ज़्यादातर कप्तान पहले गेंदबाज़ी करना पसंद करते हैं।  

एबी डीविलियर्स की वापसी किसको करेगी बाहर ?

  दक्षिण अफ़्रीका और उनके फ़ैस के लिए इससे अच्छी ख़बर और कोई नहीं हो सकती कि एबी डीविलियर्स चौथे वनडे के लिए फ़िट हो गए हैं। सभी को उम्मीद होगी कि एबीडी की वापसी प्रोटियाज़ टीम की काया पलटने का काम करेगी। डीविलियर्स के लिए खाया ज़ोंडो को बाहर बैठना पड़ सकता है, साथ ही साथ मोर्ने मोर्केल भी इस मैच में खेलते हुए नज़र आएंगे, जिसका मतलब हुआ कि लुंगी एनगीडी बाहर बैठ सकते हैं। दूसरी तरफ़ टीम इंडिया एक बार फिर बिना किसी बदलाव के ही इस मैच में उतरती हुई दिखाई दे रही है। जोहांसबर्ग जीतकर ही कोहली बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को परखने की कोशिश करेंगे, फ़िलहाल वह विनिंग कॉम्बिनेशन में छेड़छाड़ करें, इसकी गुंजाइश कम ही मालूम पड़ती है। भारत संभावित-XI: शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, एम एस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युज़वेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह दक्षिण अफ़्रीका संभावित-XI: हाशिम अमला, एडेन मार्करम, जेपी डुमिनी, एबी डीविलियर्स, डेविड मिलर, हेनरिक क्लासेन, एंडीले फ़ेलुकवायो, क्रिस मॉरिस, कगिसो रबाडा, मोर्न मोर्केल और इमरान ताहिर     Published 10 Feb 2018, 11:30 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit