Create

SAvIND: डरबन में इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया, रहाणे का खेलना तय

Syed Hussain

दक्षिण अफ़्रीका और भारत के बीच पिछले हफ़्ते हुई संघर्षपूर्ण टेस्ट सीरीज़ के बाद अब बारी है रोमांचक वनडे सीरीज़ की। 6 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला का पहला मुक़ाबला आज से डरबन में शुरू हो रहा है, भारतीय समयनुसार मुक़ाबला शाम 4.30 बजे से खेला जाएगा।

टेस्ट के बेस्ट के पास वनडे का बॉस बनने का मौक़ा

ये लड़ाई टेस्ट से बिल्कुल विपरित होगी, टेस्ट में जहां कोहली एंड कंपनी नंबर-1 के तमग़े के साथ लड़ रहे थे। तो वनडे में प्रोटियाज़ टीम है नंबर-1 और भारत उनके ठीक बाद है और वह भी बस एक अंक के अंतर के साथ। भारतीय क्रिकेट टीम अगर दक्षिण अफ़्रीका को हराकर वनडे सीरीज़ जीत जाती है तो वनडे में नंबर-1 तो बनेंगे ही, साथ ही साथ पहली बार दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ उन्हीं के घर में कोई द्विपक्षीय सीरीज़ भी जीतेंगे।

टीम इंडिया को सता रहा है डरबन का डर

हालांकि विराट कोहली की सेना के लिए ये इतना आसान नहीं होने वाला, क्योंकि सीरीज़ की पहली लड़ाई ऐसे मैदान पर हो रही है जहां भारतीय क्रिकेट टीम को आजतक मेज़बानों के ख़िलाफ़ वनडे में जीत नसीब नहीं हुई है। भारत ने इस मैदान पर कुल 9 वनडे मुक़ाबले खेले हैं, जिसमें से 7 दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ हैं। इन 7 में से भारत को 6 में हार मिली है जबकि एक मुक़ाबला बारिश की भेंट चढ़ गया था। हालांकि इस मैदान पर मेज़बानों के अलावा टीम इंडिया ने दूसरी टीमों को 2 बार हराया है, ये दोनों ही जीत भारत को 2003 विश्वकप में मिली थी। भारत ने तब इंग्लैंड और केन्या को शिकस्त दी थी। इस मैदान पर आख़िरी तीन मुक़ाबलों में टीम इंडिया को क्रमश: 134, 135 और 157 रनों की बड़ी हार नसीब हुई है।

18 महीनों के विजय रथ पर ब्रेक लगना तय

डरबन में शुरू होने वाली इस वनडे सीरीज़ में एक रोचक आंकड़ा ये है कि 18 महीनों से चले आ रहे किसी एक टीम के विजय रथ पर तो ब्रेक लगेगा ही। वह ये कि दक्षिण अफ़्रीका को अपने घर में पिछली बार किसी वनडे में हार 2016 में इंग्लैंड के हाथों मिली थी। 18 महीनों से प्रोटियाज़ अपने घर में अनबिटेन हैं, तो वहीं इत्तेफ़ाक़ से इसी दौरान यानी 2016 में भारतीय टीम ने कोई द्विपक्षीय वनडे सीरीज़ हारी थी। भारत को ऑस्ट्रेलिया ने 4-1 से अपनी मेज़बानी में ही हराया था, इसके बाद से टीम इंडिया ने कभी कोई वनडे सीरीज़ नहीं हारी है। यानी इस सीरीज़ में या तो भारत को हार मिलेगी या फिर दक्षिण अफ़्रीका के किसी मैच को गंवाते ही उनका विजय रथ थम जाएगा।

मिशन 2019 की तैयारी में हैं दोनों ही टीम

इस सीरीज़ को दोनों ही टीमें वर्ल्डकप 2019 की तैयारियों के लिहाज़ से देख रही हैं। मैच से पहले हुई प्रेस कॉन्फ़्रेंस में प्रोटियाज़ कप्तान फ़ाफ़ डू प्लेसी और टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इस बात को साफ़ कर दिया कि वर्ल्डकप में अब बहुत ज़्यादा दिन नहीं हैं, लिहाज़ा टीम का संयोजन उसी हिसाब से होगा और इस दौरान कई प्रयोग भी देखने को मिल सकते हैं।

भारत के लिए अजिंक्य रहाणे हो सकते हैं नंबर-4 बल्लेबाज़

टीम इंडिया नंबर-4 पर अब तक कई बल्लेबाज़ों को आज़मा चुकी है, जिसमें से अब तक किसी ने भी इस स्थान को हासिल करने की मज़बूत दावेदारी नहीं दिखाई है। कोहली ने मैच से पहले इस स्थान के लिए एक बड़ा संकेत दिया है और अब अजिंक्य रहाणे डरबन वनडे से नंबर-4 पर नज़र आ सकते हैं। हालांकि कोहली ने ये भी कहा कि पहले हम रहाणे को सलामी बल्लेबाज़ के ही विकल्प के तौर पर देख रहे थे, लेकिन दक्षिण अफ़्रीका की परिस्थितियां और इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में भी रहाणे की तकनीक हमारे लिए मध्यक्रम में भी फ़ायदेमंद साबित हो सकती है।

पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज

हाल के दिनों में देखा गया है कि वनडे अंतर्राष्ट्रीय में पिच बल्लेबाज़ों को ध्यान में रख कर ही बनाई जाती है। और चूंकि अभी भी जोहांसबर्ग की पिच को लेकर कई सवाल खड़े हुए हैं, आईसीसी ने भी फटकार लगाई है। ऐसे में ज़ाहिर है कि डरबन की पिच बल्लेबाज़ों के लिए मददगार ही बनाई जाएगी, लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि डरबन की पिच पर जैसे हमेशा से उछाल रहता है वह मिलेगा ही। लिहाज़ा तेज़ गेंदबाज़ों के लिए कुछ न कुछ पिच में ज़रूर रहेगा, ऐसा देखा गया है कि डरबन में फ़्लडलाइट्स के अंदर गेंदबाज़ों को काफ़ी स्विंग भी मिलती है। साथ ही साथ मौसम विभाग ने भी आज बारिश की संभावना ज़ाहिर की है तो इसका फ़ायदा भी तेज़ गेंदबाज़ उठा सकते हैं। टॉस जीतने वाले कप्तान निश्चित तौर पर डरबन की इस पिच पर पहले बल्लेबाज़ी करना पसंद करते हैं ताकि शाम में फ़्लडलाइट्स का फ़ायदा उनके तेज़ गेंदबाज़ों को मिल सके।

दोनों ही टीमों की प्लेइंग-XI रह सकती है इस प्रकार

दक्षिण अफ़्रीका को एक बड़ा झटका एबी डीविलियर्स के तौर पर लगा है जो उंगली में चोट की वजह से पहले तीन वनडे में नहीं खेल पाएंगे। डू प्लेसी ने साफ़ कर दिया है कि उनकी जगह एडेन मार्करम को मौक़ा मिलेगा, जबकि टेस्ट में शानदार डेब्यू करने वाले लुंगी एनगीडी का डरबन में वनडे डेब्यू भी हो सकता है। दूसरी तरफ़ अजिंक्य रहाणे के नंबर-4 पर खेलने के संकेत का मतलब है कि डरबन वनडे में दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर बाहर ही बैठेंगे। उसके अलावा अब तक युज़वेंद्र चहल और कुलदीप यादव दोनों ही स्पिनरों को वनडे में साथ उतारने वाले कोहली, इस दौरे पर शायद किसी एक ही स्पिनर को टीम में रखें। क्योंकि ज़रूरत पड़ने पर केदार जाधव से भी ऑफ़ स्पिन कराई जा सकती है। भारत संभावित-XI: शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, एम एस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, युज़वेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह दक्षिण अफ़्रीका संभावित-XI: क्विंटन डी कॉक, हाशिम अमला, फ़ाफ़ डू प्लेसी, एडेन मार्करम, जेपी डुमिनी, डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, कगिसो रबाडा, मोर्न मोर्केल, लुंगी एनगीडी और इमरान ताहिर


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...