Create

INDvSL: मोहाली में करो या मरो के मुक़ाबले में श्रीलंका के ख़िलाफ़ बदले के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

टेस्ट में विराट कोहली की कप्तानी में श्रीलंका को 1-0 से हराने के बाद बुलंद हौसलो के साथ टीम इंडिया धर्मशाला पहुंची थी। जहां 3 मैचों की वनडे सीरीज़ के पहले मुक़ाबले में भारतीय क्रिकेट टीम को एक शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। 0-1 से सीरीज़ में पीछे चल रही टीम इंडिया के लिए बुधवार को मोहाली में होने वाला मुक़ाबला करो या मरो का हो गया है। वनडे और टी20 सीरीज़ में टीम इंडिया की कमान रोहित शर्मा के कंधों पर है क्योंकि विराट कोहली ने अपनी शादी के लिए छुट्टियां ली हैं। विराट कोहली और अनुष्का शर्मा की शादी इटली के मिलान में शाही अंदाज़ में हुई। धर्मशाला के 'हॉरर शो' से बाहर निकलने की चुनौती रोहित शर्मा का कप्तान के तौर पर इस तरह डेब्यू होगा, शायद ही किसी ने अंदाज़ा भी लगाया होगा। जिस टीम को पिछले 12 वनडे अंतर्राष्ट्रीय में हार का सामना करना पड़ा था, जिस टीम को कुछ ही महीने पहले भारत ने उन्हीं के घर में 5-0 से वनडे सीरीज़ मे शिकस्त दी थी। पाकिस्तान ने जिन्हें 5-0 से हराया था, वह टीम इस तरह का प्रदर्शन करेगी किसी ने सोचा तक नहीं था। एक समय तो टीम इंडिया वनडे इतिहास का सबसे कम स्कोर अपने नाम करने के क़रीब खड़ी थी जब उसके 7 विकेट 29 रनो पर गिर गए थे। लेकिन महेंद्र सिंह धोनी ने कठिन हालात में 65 रनों की बेशक़ीमती पारी खेलते हुए भारत को 100 के पार पहुंचाया। ग़लतियों से लेना होगा सबक़ लेकिन रोहित शर्मा एंड कंपनी के लिए ये हार कई सबक़ भी लेकर आई है, जिसका असर मोहाली में एक बेहतर रणनीति और नतीजे के साथ देखने को मिल सकता है। और इसकी शुरुआत बल्लेबाज़ी में तीसरे नंबर से करनी होगी, विराट कोहली की अनुपस्थिति में रोहित शर्मा ने धर्मशाला में सीम गेंदो के सामने नंबर-3 पर युवा श्रेयस अय्यर का डेब्यू कराया था। जो धर्मशाला में इस हालात को झेल पाने में नाकाम रहे थे, नई और सीम होती गेंद को खेलने की श्रेयस की तकनीक पर भी सवालिया निशान उठे थे। ऐसे में बेंच पर बैठे अजिंक्य रहाणे को टीम में शामिल करते हुए नंबर-3 पर खिलाना ज़्यादा मुनासिब रहेगा। वैसे भी ऐसा माना जाता है कि तीसरे क्रम पर खेलने वाला बल्लेबाज़ एक सलामी बल्लेबाज़ ही होता है। अगर रोहित ऐसा नहीं करना चाहते हैं तो एक बड़ा फ़ैसला ये भी हो सकता है कि श्रेयस अय्यर को मध्यक्रम में भेजा जाए और नंबर-3 पर अनुभवी मेहंद्र सिंह धोनी को लाया जाए, इस स्थान के लिए धोनी भी फ़िट बैठते हैं। क्योंकि नंबर-6 पर काफ़ी नीचे आकर धोनी जैसे अनुभवी बल्लेबाज़ को कोहली और केदार जाधव की ग़ैरमौजूदगी में खेलना टीम के बैलेंस पर असर करता है। 'नो बॉल' से करना होगा तौबा धर्मशाला में धोनी की लाजवाब पारी के बावजूद टीम इंडिया ने स्कोर बोर्ड पर महज़ 112 रन बनाए थे। लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने शुरुआत शानदार की थी और श्रीलंका के दो विकेट बेहद जल्दी गिरा दिए थे, जसप्रीत बुमराह ने 17 रन के स्कोर पर उपल थरंगा को भी गली में कैच करा दिया था। तब श्रीलंका का स्कोर 17/3 रहता, लेकिन रिप्ले में नज़र आया कि बुमराह की वह गेंद नो बॉल थी। लिहाज़ा थरंगा ने इस जीवनदान का फ़ायदा उठाते हुए 49 रन बनाए और टीम को जीत की ओर ले गए। अगर वह गेंद नो बॉल नहीं होती तो क्या पता मैच का नतीजा भी कुछ और हो जाता। बुमराह से कई निर्णायक मौक़ों पर ऐसी ग़लती हुई है, फिर चाहे वह 2016 आईसीसी वर्ल्ड टी20 के समीफ़ाइनल में लेंडल सिमंस का जीवनदान हो या फिर इसी साल चैंपियंस ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ फखार ज़मन को नो बॉल पर आउट करना हो जिन्होंने इसका फ़ायदा उठाते हुए शतक लगा डाला था। बुमराह को इस समस्या पर ख़ास ध्यान देने की ज़रूरत है जिसे नेट्स में सही किया जा सकता है, लिहाज़ा मोहाली वनडे से पहले टीम मैनेजमेंट को इस पर गंभीर चितंन करना होगा। पिच का पेंच और मौसाम का मिज़ाज धर्मशाला और मोहाली की पिच के साथ साथ मौसम में भी ज़्यादा फ़र्क़ नहीं है। पंजाब क्रिकेट एसोसियेशन का ये मैदान हमेशा से ही तेज़ गेंदबाज़ों के लिए मदद देता आया है, और मुक़ाबला जब दिसंबर के ठंडे मौसम में हो तो फिर ज़ाहिर है पिच पर नमी रहेगी। यानी एक बार फिर जहां तक पिच और मौसम का सवाल है तो वह धर्मशाला की ही तरह होने वाला है। बात अगर मौसम की करें, तो मंगलवार तक मोहाली में हल्की बारिश हुई है। हालांकि बुधवार को मौसम विभाग की तरफ़ से बारिश की संभावना नहीं की गई है लेकिन इसका असर पिच पर ज़रूर पड़ेगा और एक बार फिर टॉस अहम होगा। मोहाली में भी टॉस जीतने वाले कप्तान पहले गेंदबाज़ी ही करना चाहेंगे और सुबह 11.30 बजे शुरू होने वाले इस मैच में पिच पर मौजूद नमी का फ़ायदा उठाने की कोशिश करेंगे। मैदान पर उतरने वाले दोनों ही देशों के संभावित-11 खिलाड़ी भारत संभावित-XI: रोहित शर्मा, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे/श्रेयस अय्यर, दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह श्रीलंका संभावित-XI: दनुश्का गुणाथिलाका, उपल थरंगा, लहिरू थिरिमने, एंजेलो मैथ्यूज़, निरोशन डिकवेला, असेला गुणारत्ने, थिसारा परेरा, सचिथ पथिराणा, सुरंगा लकमल, अकीला धनंजय, नुवान प्रदीप

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment