Create
Notifications

टेस्ट क्रिकेट की 5 सबसे बड़ी साझेदारी 

5 सबसे बड़ी साझेदारी जो टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजों द्वारा निभाई गई
5 सबसे बड़ी साझेदारी जो टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजों द्वारा निभाई गई
निशांत द्रविड़
visit

टेस्ट क्रिकेट में अभी तक बल्लेबाजों ने कई बार लम्बी और बेहतरीन साझेदारियां निभाई हैं। टेस्ट में अभी तक 15 बार बल्लेबाजों ने 400 या उससे ज्यादा रनों की साझेदारी निभाई है, जिसमें पांच बार आंकड़ा 450 और दो बार आंकड़ा 500 के पार भी पहुंचा है। टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा के नाम है, जिन्होंने 2006 में तीसरे विकेट के लिए 624 रनों की मैराथन साझेदारी निभाई थी।

टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से भी 400 से ऊपर की साझेदारी दो बार निभाई गई है। गौरतलब है कि यह दोनों साझेदारी भारत की तरफ से पहले विकेट के लिए ही निभाई गई। भारत के अलावा श्रीलंका की तरफ से चार, ऑस्ट्रेलिया की तरफ से तीन, दक्षिण अफ्रीका की तरफ से दो और न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज एवं इंग्लैंड की तरफ से एक-एक बार 400 रनों की साझेदारी निभाई गई है।

आइये नजर डालते हैं टेस्ट क्रिकेट की पांच सबसे बड़ी साझेदारी पर:

बिल पोंसफोर्ड और डॉन ब्रैडमैन (451, दूसरा विकेट vs इंग्लैंड, 1934)

बिल पोंसफोर्ड और डॉन ब्रैडमैन
बिल पोंसफोर्ड और डॉन ब्रैडमैन

1934 में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के बिल पोंसफोर्ड और डॉन ब्रैडमैन ने दूसरे विकेट के लिए 451 रनों की साझेदारी निभाई थी। यह टेस्ट क्रिकेट में किसी भी विकेट के लिए 400 रनों की पहली साझेदारी थी।

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में बिल पोंसफोर्ड के 266 और डॉन ब्रैडमैन के 244 रनों की मदद से 701 रन बनाये, जिसके जवाब में इंग्लैंड ने 321 रन बनाये। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने 327 रन बनाये और इंग्लैंड को जीत के लिए 708 रनों का लक्ष्य दिया, जिसके जवाब में मेजबान टीम सिर्फ 145 रन बनाकर ऑल आउट हो गई और ऑस्ट्रेलिया ने 562 रनों से मैच जीता था।

जावेद मियांदाद और मुदस्सर नज़र (451, तीसरा विकेट vs भारत, 1983)

जावेद मियांदाद (280*)
जावेद मियांदाद (280*)

1983 में भारत के खिलाफ हैदराबाद टेस्ट में पाकिस्तान की तरफ से जावेद मियांदाद और मुदस्सर नज़र ने तीसरे विकेट के लिए 451 रनों की साझेदारी निभाई थी। जावेद मियांदाद ने नाबाद 280 और मुदस्सर नज़र ने 231 रनों की पारी खेली थी।

पाकिस्तान ने एकमात्र पारी में 581/3 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में भारतीय टीम 189 और 273 रन ही बना सकी और मेजबानों ने एक पारी और 119 रनों के विशाल अंतर से मैच जीता था।

# मार्टिन क्रो और एंड्रू जोन्स (467, तीसरा विकेट vs श्रीलंका, 1991)

मार्टिन क्रो और एंड्रू जोन्स
मार्टिन क्रो और एंड्रू जोन्स

1991 में श्रीलंका के खिलाफ वेलिंग्टन टेस्ट में मार्टिन क्रो और एंड्रू जोन्स ने तीसरे विकेट के लिए 467 रनों की साझेदारी निभाई थी, जो उस समय टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी साझेदारी थी। मार्टिन क्रो ने 299 और एंड्रू जोन्स ने 186 रन बनाये थे।

न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी में सिर्फ 174 रन बनाकर ऑल आउट हो गई थी, जिसके जवाब में श्रीलंका ने 497 रन बनाये। दूसरी पारी में न्यूजीलैंड ने 671/4 का स्कोर बनाया और मैच ड्रॉ हुआ था।

# सनथ जयसूर्या और रोशन महानामा (576, दूसरा विकेट vs भारत, 1997)

सनथ जयसूर्या और रोशन महानामा
सनथ जयसूर्या और रोशन महानामा

1997 में भारत के खिलाफ कोलंबो टेस्ट में सनथ जयसूर्या और रोशन महानामा ने दूसरे विकेट के लिए 576 रनों की साझेदारी निभाई थी। यह टेस्ट क्रिकेट में 500 रनों से ऊपर की पहली साझेदारी थी।

भारत ने पहली पारी में 537/8 का स्कोर बनाया था, जिसके जवाब में श्रीलंका ने सनथ जयसूर्या के 340 और रोशन महानामा के 225 रनों की मदद से 952/6 का स्कोर बनाया था जो आज भी टेस्ट के सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड है।

# महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा (624, तीसरा विकेट vs दक्षिण अफ्रीका, 2006)

महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा
महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा

2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कोलंबो टेस्ट में महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा ने तीसरे विकेट के लिए 624 रनों की विश्व रिकॉर्ड साझेदारी निभाई थी। महेला जयवर्धने ने 374 और कुमार संगकारा के 287 रनों की बेहतरीन पारियां खेली थी।

दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी के 169 के जवाब में श्रीलंका ने 756/5 का विशाल स्कोर बनाया और 587 रनों की बढ़त हासिल की। दक्षिण अफ्रीका की टीम दूसरी पारी में 434 रन बनाकर ऑल आउट हुई और मेजबानों ने एक पारी और 153 रनों के मैच जीता था।

Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now