Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

भारतीय टीम के पहले डे-नाईट टेस्ट पर नहीं है स्थिति साफ़

  • कितने सेशन रात में लाईट के नीचे होंगे यह तय होने के साथ कई चीजें बाकी
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
Modified 21 Sep 2018, 20:23 IST

भारतीय टीम के पहले डे-नाईट टेस्ट पर अभी संशय बना हुआ है। वेस्टइंडीज की टीम इस साल भारत दौरे पर आएगी और इसमें होने वाला दूसरा और अंतिम टेस्ट दूधिया रौशनी में होने की खबरें आई थी। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार कप्तान विराट कोहली इस बारे में कोच रवि शास्त्री से बातचीत करेंगे। इससे यह साफ़ है कि पिंक बॉल टेस्ट पर अभी भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। इसके अलावा बीसीसीआई इस बाबत 7 अप्रैल को प्रशासकों की समिति से भी बातचीत कर सकती है। विनोद राय ने टेस्ट के आयोजन से पहले खिलाड़ियों से सलाह लेना जरुरी समझते हुए इस पर चिंता जाहिर कर चुके हैं। पिंक बॉल का खिलाड़ियों ने अब तक परीक्षण नहीं किया है। हालाँकि घरेलू क्रिकेट में इस गेंद का इस्तेमाल पहले से किया जा चुका है जिसमें रिजल्ट पहले से बेहतर देखने को मिले हैं। ख़बरों के मुताबिक़ भारतीय कोच रवि शास्त्री ने बोर्ड को डे-नाईट टेस्ट के लिए लिखित में यह सहमति जताई है। कप्तान विराट कोहली इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं है कि रौशनी में कितने सेशन खेलना संभव है। सामान्य तौर पर एक से अधिक सत्र का खेल रात में होता है लेकिन सूत्रों के मानें तो शास्त्री ने एक सत्र नाइट में कराने का सूझाव दिया है। इससे पहले यह कहा जा रहा था कि डे-नाईट टेस्ट के लिए चीजें तैयार है। इसे राजकोट या हैदराबाद में से किसी एक स्थान पर कराने पर विचार किया जा सकता है। वेस्टइंडीज की टीम को भारत दौरे पर टेस्ट मैचों के अलावा 5 वन-डे और तीन टी20 मैच भी खेलने हैं। इन मैचों के लिए स्थानों का चयन भी किया गया है। मुंबई, पुणे, तिरुअनंतपुरम, इंदौर और गुवाहाटी में पांच वन-डे मैच खेले जाएंगे। इसके अलावा कोलकाता, चेन्नई और कानपुर/लखनऊ में टी20 मैचों का आयोजन किया जाएगा। वेस्टइंडीज के भारत दौरे के बाद भारतीय टीम पूरे 2 महीने के लिए ऑस्ट्रेलिया जाएगी। इसके बाद भारतीय टीम न्यूजीलैंड भी जाएगी।

Published 02 Apr 2018, 13:39 IST
Advertisement
Fetching more content...