Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

3 युवा खिलाड़ी जो भविष्य में भारत के कप्तान बन सकते हैं

  • इन खिलाड़ियों ने आईपीएल और घरेलू स्तर पर अभी से ही कप्तानी करना शुरू कर दिया है
Rahul Pandey
ANALYST
Modified 25 Jun 2018, 09:45 IST

 

आईसीसी विश्व कप 2019 में एक साल से भी कम का समय बचा है। विराट कोहली इस तरह के एक भव्य मंच पर पहली बार टीम की कप्तानी करेंगे और उनसे उम्मीदें भी बहुत होंगी। इस युग के सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक कोहली विश्व कप ट्रॉफी जीत अपनी सफलताओं की सूची में ये भी खिताब जोड़ना चाहेंगे, जो निश्चित रूप से उन्हें सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ में से एक बना देगा।

पिछले कुछ सालों में, युवा प्रतिभाशाली क्रिकेटरों ने घरेलू सत्र (दुलिप ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और रणजी ट्रॉफी) के साथ-साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपना नाम बनाने में कामयाबी हासिल की है। उन्होंने साबित कर दिया है कि उम्र केवल एक संख्या है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुछ साल बिताने के बाद, उनमें से कुछ आने वाले सालों में राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने में भी सक्षम हैं।

आइये भारतीय क्रिकेट के तीन ऐसे ही युवा प्रतिभाओं पर एक नज़र डालें जो कि भविष्य में भारतीय टीम का नेतृत्व कर सकते हैं।

विशेष उल्लेख: ईशान किशन

# 3 श्रेयस अय्यर




 

उम्र: 23

प्रवीण आमरे के मार्गदर्शन में, श्रेयस अय्यर ने तब खबरों में जगह बनाई जब उन्होंने ट्रेंट ब्रिज क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए यूके के एक टूर के दौरान 99 के औसत से 297 रन बनाये, जिसमें 171 का उच्चतम स्कोर भी रहा जो कि एक नया टीम रिकॉर्ड था।

2014 अंडर -19 विश्वकप और विजय हजारे ट्रॉफी में सफल सत्र के बाद, लगातार दो साल रणजी ट्रॉफी में एक असाधारण रन बनाने के बाद, दिल्ली डेयरडेविल्स ने उन्हें 2.6 करोड़ में खरीदा। इस साल की शुरुआत में, गौतम गंभीर के कप्तानी छोड़ने के बाद उन्होंने टीम के कप्तान के रूप में एक नई यात्रा शुरू की। एक ही समय में दो कार्यों को संभालते हुए अय्यर कई अवसरों पर दिल्ली की टीम को उभरने में सफल रहे थे।

समीर दीघे, जो पिछले घरेलू सीज़न के लिए मुंबई के कोच थे और अय्यर के टी 20 मुंबई फ्रेंचाइजी बांद्रा ब्लॉस्टर्स के मेंटर भी थे, ने इस युवा प्रतिभा की सराहना की:

''वह सही विकल्प है क्योंकि उसके पास नेतृत्व क्षमता है। एक अच्छे कप्तान के पास सकारात्मक दृष्टिकोण होना चाहिए, आगे से आगे बढ़ टीम को लीड करना चाहिए और खिलाड़ियों को उनके साथ ले जाने में सक्षम होना चाहिए। चाहे वह इंडिया ए (देवधर ट्रॉफी में इंडिया बी) या टी -20 मुंबई में हो, श्रेयस ने इन सभी गुणों को दिखाया है,”

तीनों प्रारूपों में राष्ट्रीय टीम के लिए अपना डेब्यू करने के बाद, श्रेयस अय्यर एक उज्ज्वल भविष्य हैं, जिनके पास भारतीय क्रिकेट टीम के अगले कप्तान बनने के लिए सभी कौशल हैं।
1 / 3 NEXT
Published 25 Jun 2018, 09:45 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit