इंग्लैंड में कमजोर साबित होंगे इशान किशन - WTC फाइनल के लिए साहा को न चुने जाने को लेकर आई बड़ी प्रतिक्रिया  

इशान किशन को रिप्लेसमेंट के रूप में चुना गया है
इशान किशन को रिप्लेसमेंट के रूप में चुना गया है

सोमवार को बीसीसीआई (BCCI) ने 7 जून से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ओवल में होने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (WTC Final) मुकाबले से केएल राहुल के बाहर होने की जानकारी दी और उनके स्थान पर इशान किशन (Ishan Kishan) के शामिल किये जाने की पुष्टि की। हालाँकि, कुछ दिग्गज इस फैसले से खुश नहीं हैं और उनमें से एक नाम पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टॉम मूडी (Tom Moody) का भी है। मूडी का मानना है कि फाइनल मुकाबले के लिए इशान शायद एक अच्छे विकल्प नहीं हैं।

बीसीसीआई ने मीडिया रिलीज के माध्यम से बताया कि केएल राहुल को 1 मई को लखनऊ सुपर जायंट्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच टाटा आईपीएल 2023 के मैच 43वें मैच के दौरान फील्डिंग करते समय दाएं ऊपरी जांघ में चोट लग गई थी। विशेषज्ञों के साथ परामर्श के बाद, यह निर्णय लिया गया है कि राहुल को जल्द से जल्द सर्जरी से गुजरना होगा और इसके बाद राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहैब होगा। वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल से बाहर हो गए हैं।

टॉम मूडी के मुताबिक भारत को अनुभव के साथ जाना चाहिए था और इशान के स्थान पर ऋद्धिमान साहा का चयन करना चाहिए था। ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए, उन्होंने कहा,

मेरे नजरिए से, जिस तरह से मैं इसे देखता हूं, एक बाहरी व्यक्ति जो देख रहा है, साहा अब तक बेहतर कीपर हैं। साहा के पास 15 साल का अनुभव है। एक फाइनल में, चाहे वह मैदान पर खेल रहे हों या मैदान के बाहर, मुझे लगता है कि इतना अनुभव एक मूल्यवान संपत्ति है। मुझे लगता है कि इंग्लैंड में, साल के उस समय, जब फाइनल खेला जा रहा है, या यह टेस्ट चैंपियनशिप खेली जाने वाली है, तो हम देखेंगे कि ड्यूक गेंद बल्लेबाज के पक्ष में व्यवहार नहीं करेगी। यह गेंदबाजों को मदद करेगी। मेरे विचार से, इशान किशन उन परिस्थितियों में कमजोर हैं।

मूडी ने बताया साहा और इशान में अंतर

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने दोनों खिलाड़ियों में अंतर बताते हुए कहा,

साहा और किशन के बीच सातवें और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी विकल्प के रूप में जो अंतर है, उसके कारण आउटपुट में बड़ा अंतर नहीं होगा। इसलिए एकमात्र विकल्प में, मैं अनुभव, बेहतर विकेटकीपर को रखूंगा, और साहा को यह बहुत स्पष्ट कर दूंगा कि यह एकमात्र है। हमें आपके अनुभव की गहराई की आवश्यकता है, और यही कारण हैं। और इशान किशन को भी यही समझाऊंगा। और एक बार जब फाइनल पूरा हो जाता है, और भारत के दृष्टिकोण से, वे इसे जीत जाते हैं और वे सफल हो जाते हैं, तब वे परिवर्तन कर सकते हैं और साहा को एक उदार फेयरवेल दे सकते हैं और आप अगले चैप्टर पर जा सकते हैं।

इशान किशन को भारत ने हाल ही में घरेलू सरजमीं पर खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए भी चुना था लेकिन उन्हें डेब्यू का मौका नहीं मिला था।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar