Create

दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट के विकास में इन 10 क्रिकेटरों की भूमिका अहम रही है

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट इतिहास का तीसरा ऐसा देश जिसने टेस्ट क्रिकेट खेलना शुरू किया। सन 1889 मार्च में दक्षिण अफ्रीका ने इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट खेला था। जिसके बाद ये टीम तेजी से विश्व क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ने में सफल हुई। हालांकि सन 1970-91 तक ये देश क्रिकेट खेलने से वंचित भी रहा। जिसकी वजह वहां की सरकार थी। लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने विश्व क्रिकेट में दोबारा धमाकेदार वापसी की। वापसी के बाद से दक्षिण अफ्रीका दुनिया की मजबूत टीमों में से एक है। जिसकी वजह नि:संदेह बेहतरीन खिलाड़ी ही हैं। जिन्होंने अपने खेल से इस टीम को लगातार मजबूती प्रदान की है। आज इस लेख में हम ऐसे ही 10 खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट टीम को नई ऊंचाई प्रदान की है: मार्क बाऊचर मार्क बाउचर दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल विकेटकीपर रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनके नाम 999 शिकार दर्ज हैं। बतौर बल्लेबाज़ बाउचर ने कई बड़े मौकों पर दक्षिण अफ्रीका के लिए तेजी से 30-40 रन की पारी खेली है। जबकि टेस्ट मैचों में उन्होंने कई बार क्रीज पर जमकर टीम की इज्जत बचाई है। 147 टेस्ट मैचों में बाउचर ने 5515 रन बनाये हैं। जबकि 295 वनडे मुकाबलों में 4686 व 25 टी-20 मैचों में 268 रन बनाये हैं। मार्क बाउचर की सबसे यादगार पारी मार्च 2006 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 50 रन बनाए थे। ये रन बाउचर ने जोहांसबर्ग में ऑस्ट्रेलिया के 438 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी टीम के लिए बनाए थे, जो बेहद अहम साबित हुए थे। बाउचर ने साल 2012 में अपने 15 साल के अंतर्राष्ट्रीय करियर को अलविदा कह दिया था। एबी डीविलियर्स एबी डीविलियर्स मौजूदा समय के दुनिया सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में से एक हैं। जिन्हें मिस्टर 360 डिग्री के नाम से भी जाना जाता है। डीविलियर्स बेहद ही विविधततापूर्ण बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाते रहे हैं। इसके अलावा वह क्रिकेट के तीनों प्रारूप के शानदार खिलाड़ी भी हैं। टेस्ट व वनडे में उनका औसत 50 का है। साथ ही उनके नाम टेस्ट में 8074 व वनडे में 9319 रन दर्ज हैं। इसके अलावा डिविलियर्स के नाम वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज 50, 100 व 150 रन बनाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है। इसके अलावा टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका की तरफ से सर्वाधिक स्कोर बनाने का भी रिकॉर्ड दर्ज है। ग्रेम स्मिथ ग्रेम स्मिथ दक्षिण अफ़्रीकी टीम के सफल कप्तानों में से एक हैं। जो बल्लेबाज़ी के दौरान छोटी गेंद के सबसे खतरनाक बल्लेबाज़ माने गये हैं। इसके अलावा वह एक फाइटर खिलाड़ी रहे हैं, उन्होंने टूटे हुए हाथ के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में 11वें नंबर पर बल्लेबाज़ी की थी। 117 टेस्ट मैच में स्मिथ ने 109 मैचों में टीम की कप्तानी भी की है। 22 वर्ष की उम्र में उन्हें टीम की कप्तानी मिल गयी थी। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में स्मिथ ने 17 हजार से ज्यादा रन बनाये हैं। बैरी रिचर्ड्स बैरी रिचर्ड्स जैसा क्रिकेट में किसी अन्य बल्लेबाज़ का उदय नहीं हुआ है। लेकिन दुर्भाग्यवश आईसीसी के प्रतिबंध की वजह से रिचर्ड्स का करियर बहुत ही छोटा रहा। उन्होंने सिर्फ 4 टेस्ट मैच ही खेले जिसमें उन्होंने 72 से ज्यादा के औसत से 508 रन बनाये थे। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रिचर्ड्स ने 28 हजार से ज्यादा रन बनाये। साथ ही रिचर्ड्स ने लंच से पहले 9 बार अपना शतक पूरा किया। साथ ही उन्होंने 15 बार एक सीजन में 1000 से ज्यादा रन भी बनाये। हाशिम अमला हाशिम अमला आधुनिक क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं। उनके कलाइयों की जादूगरी देखने का अलग ही मजा है। अमला के नाम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कई रिकॉर्ड दर्ज हैं, जिसमें वह दक्षिण अफ्रीका के एक मात्र तिहरा शतक लगाने वाले बल्लेबाज़ हैं। जबकि अमला ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज 2000, 3000, 4000, 5000, 6000 और 7000 वनडे रन बनाए हैं। अमला ने वनडे में 25 व टेस्ट में 26 शतक भी लगाएं हैं। अमला विश्व क्रिकेट के सम्मानित क्रिकेटरों में से एक हैं, जिनकी क्लासिक बल्लेबाज़ी को क्रिकेटप्रेमी बेहद पसंद करते हैं। एलन डोनाल्ड डोनाल्ड अपने नाम के अलावा “वाइट लाइटिंग” उपनाम से भी खासे लोकप्रिय थे। विश्व क्रिकेट में दोबारा वापसी करने के बाद दक्षिण अफ्रीका की सफलता में एलन डोनाल्ड का योगदान अहम रहा है। क्लासिक एक्शन में डोनाल्ड की बलखाती तेज गेंदों का सामना करते हुए बल्लेबाजों के चेहरों पर खौफ देखा जा सकता था। डोनाल्ड ने टेस्ट में 330 व वनडे में 272 विकेट लिए थे। उनका स्ट्राइक रेट क्रमश: 47 व 31.4 था। उन्होंने लम्बे समय तक दक्षिण अफ़्रीकी गेंदबाज़ी की अगुवाई की। इसके साथ ही वह 90 के दशक के दुनिया के बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक थे। डेल स्टेन डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक हैं, जो बेहद आक्रामक, साहसी, उर्जावान और लगातार तेज गेंदबाज़ी करने में सक्षम रहे हैं। टेस्ट हो या वनडे स्टेन की गेंदों की रफ्तार 140 किमी प्रतिघंटा से ज्यादा रही है। इसके अलावा स्टेन में किसी भी विकेट पर मैच जिताऊ गेंदबाज़ी करने की क्षमता है। वह आधुनिक क्रिकेट के शबे बेहतरीन गेंदबाजों में से एक रहे हैं। टेस्ट में उनके नाम 417 व वनडे में 180 विकेट दर्ज है। वह दक्षिण अफ्रीका के अबतक के सबसे बेहतरीन गेंदबाजों में से एक हैं। शान पोलाक शॉन पोलाक की वंशावली में क्रिकेट रचता बसता है। वह दक्षिण अफ्रीका के बेहतरीन ऑलराउंडर में से एक हैं। 12 वर्ष के करियर में जूनियर पोलाक ने विश्व क्रिकेट में अपनी बल्लेबाज़ी व गेंदबाज़ी की हनक दिखाई। पोलाक ने दोनों फॉर्मेट में 3500 से ज्यादा रन व 800 से ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय विकेट लिए हैं। वह दक्षिण अफ्रीका के महान खिलाड़ियों में से एक हैं। ग्रेम पोलाक सर डॉन ब्रेडमैन के मुताबिक ग्रेम पोलाक शायद दुनिया के सबसे बेहतरीन बाएं हाथ के बल्लेबाज़ थे। उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 60 से ज्यादा का था। जो टेस्ट में दूसरा अबतक का बेस्ट औसत है। 23 टेस्ट मैचों में पोलाक ने 7 शतकों व 11 अर्द्धशतकों की मदद से 2256 रन बनाये थे। लेकिन करियर इसलिए छोटा रहा क्योंकि आईसीसी ने दक्षिण अफ्रीका पर बैन लगा दिया था। हाल ही में हुए एक वोटिंग में उन्हें दक्षिण अफ्रीका का 20वीं सदी का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी भी चुना गया है। जैक्स कालिस बिना किसी शक व सुबह के हमने जैक्स कालिस को दक्षिण का अफ्रीका का अबतक सबसे बेहतरीन क्रिकेटर चुना है। जिनके आंकड़े हर फॉर्मेट में बेहतरीन रहे हैं। इस ऑलराउंडर ने टेस्ट व वनडे में 10 हजार से ज्यादा रन व 250 से ज्यादा विकेट लेकर को खुद दुनिया का सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर साबित भी किया है। इसके अलावा उनके नाम से 300 से ज्यादा विकेट भी दर्ज हैं। बल्लेबाज़ी में कालिस की तकनीक बेहद शानदार थी। उन्होंने दक्षिण को कई मैच जितायें हैं तो कईयों में उन्होंने प्रोटेस को मंडराती हार के खतरे से भी बचाया है। जबकि गेंदबाज़ी में वह किसी विशुद्ध तेज गेंदबाज़ से कम नहीं थे। वह दक्षिण के महानतम खिलाड़ियों में से एक हैं। लेखक-साहिल जैन, अनुवादक-जितेन्द्र तिवारी

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment