Create
Notifications

IPL 2018: 3 टीम जिनका गेंदबाज़ी आक्रमण इस सीज़न हो सकता है घातक

Himanshu Kothari

जब टी20 क्रिकेट की अवधारणा अस्तित्व में आई थी तो ऐसा माना जाता था कि क्रिकेट का सबसे छोटा प्रारूप बल्लेबाजों का खेल होगा। हालांकि, यह धारणा समय के साथ बदल गई है। टी20 क्रिकेट में गेंदबाज समान रूप से अधिक महत्वपूर्ण हैं। विशेष रूप से आईपीएल में यह देखा गया है कि अच्छे गेंदबाजी आक्रमण वाली टीम बेहतर प्रदर्शन करने में सक्षम हो रही है। किफायती गेंदबाजी या कुछ गेंदबाजी स्पेल से ही पूरे मैच का रुख बदला जा सकता है। इसके पीछे का कारण टी20 क्रिकेट की प्रकृति हो सकता है। टी20 क्रिकेट में बल्लेबाजों पर बड़े शॉट्स मारने का लगातार दबाव होता है और जब बल्लेबाज कुछ ओवरों में ऐसा करने में सक्षम नहीं हो पाते हैं तो वे दबाव में आ जाते हैं और जल्दी रन बटोरने के चक्कर में अपना विकेट गंवा बैठते हैं। इस प्रकार प्रत्येक आईपीएल टीम के लिए एक अच्छा गेंदबाजी आक्रमण होना अनिवार्य है। हम यहां उन तीन टीमों पर नजर डालते हैं जिनके पास आईपीएल 2018 में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण है।

#3 सनराइज़र्स हैदराबाद

सनराइज़र्स हैदराबाद ने नीलामी में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था क्योंकि वे अपनी टीम के आधार को बरकरार रखने में सक्षम हुए थे। इस नीलामी प्रक्रिया में सनराइजर्स हैदराबाद भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान को अपने साथ बनाए रखने में कामयाब हुई थी। उन्होंने पहले ही भुवनेश्वर कुमार को अपनी टीम में बरकरार रखा था, जिन्होंने पिछले दो सालों से पर्पल कैप पर कब्जा जमाए रखा है। भुवनेश्वर कुमार वर्तमान में दुनिया के सबसे अच्छे सीमित मैचों के गेंदबाजों में से एक हैं और उनकी डेथ ओवर के दौरान प्रभावी गेंदबाजी ने सनराइजर्स हैदराबाद की सफलता में पिछले दिनों काफी योगदान दिया है। वहीं राशिद खान ने पिछले साल आईपीएल में काफी सुर्खियां बटोरी थी। टी20 क्रिकेट में राशिद खान की सफलता को टी20 रैंकिंग दर्शाती है। टी 20 रैंकिंग में राशिद खान टॉप पर बने हुए हैं। इस सीजन में राशिद खान बांग्लादेश के शाकिब अल हसन के साथ जुड़ेंगे। शाकिब अल हसन ने कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए गेंद के साथ कमाल का खेल दिखाया है। अब शाकिब सनराइजर्स के लिए ही ऐसा कमाल जारी रखना चाहेंगे। आईपीएल नीलामी में हैदराबाद ने कुछ घरेलू भारतीय तेज गेंदबाजों को भी खरीदा था, जो कि आईपीएल में कमाल के साबित हुए थे। सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा और बासिल थम्पी ने फ्रेंचाइजी के लिए काफी शानदार प्रदर्शन किया है। सनराइजर्स हैदराबाद के पास टी20 के लिहाज से कई कारगर गेंदबाज भी हैं। इनमें क्रिस जॉर्डन और मोहम्मद नबी का नाम शामिल हैं।

#2 रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर

इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर हमेशा से ही अपनी स्टार बैटिंग लाइन-अप के जानी गई है। उन्होंने हमेशा अपने घरेलू मैदान चिन्नास्वामी स्टेडियम पर बल्लेबाजी के लिए सफल साबित होने वाली पिचों को ही तैयार करवाया है। बल्लेबाजी वाली पिच होने का फायदा सीधा बल्लेबाजों का मिलता हैं। जिसके कारण बल्लेबाज आतिशी बल्लेबाजी करते हुए रनों को स्कोर करते और बड़े स्कोर वाले मैचों को अस्तित्व में लेकर आते हैं। ज्यादा स्कोर करने से दर्शक भी उत्साहित होता है। हालांकि इस सीजन के लिए आरसीबी का गेंदबाजी क्रम भी किसी से कम नहीं है। आरसीबी के पास एक से बढ़कर एक शानदार गेंदबाज मौजूद हैं। जिसके चलते आरसीबी को बल्लेबाजों के अलावा गेंदबाजों से भी भरपूर मदद मिलती रहेगी। इस साल आरसीबी ने अपनी गेंदबाजी आक्रमण को मजबूत करने का पूरा प्रयास किया है। उन्होंने आरटीएम कार्ड का उपयोग करते युजवेन्द्र चहल को बरकरार रखा। वहीं आरसीबी ने वाशिंगटन सुंदर जैसे गेंदबाज को भी अपनी टीम में शामिल किया। स्पिन गेंदबाजी में दोनों ही खिलाड़ी माहिर हैं और अपनी फिरकी के कमाल से विरोधी बल्लेबाज को वापस पैवेलियन भेज देने में माहिर हैं। गेंदबाजी के मामले में आरसीबी ने कोलकाता के पिछले साल के पूरे गेंदबाजी आक्रमण को अपने साथ जोड़ लिया है, जिसने पिछले साल आरसीबी को 49 रनों पर ही समेट दिया था। क्रिस वोक्स, नाथन कुल्टर-नाइल, उमेश यादव और कॉलिन डी ग्रैंडहॉम जैसे गेंदबाजों ने मिलकर पिछले साल महज 49 रनों के स्कोर पर आरसीबी की टीम को आउट कर दिया था। लेकिन अब ये खिलाड़ी इस सीजन के लिए आरसीबी के गेंदबाजी आक्रमण का हिस्सा होगें। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के पास मोहम्मद सिराज, कुलवंत खेजरोलिया, अनिकेत चौधरी और नवदीप सैनी के जैसे युवा भारतीय तेज गेंदबाज भी हैं जो इस आईपीएल में खेलने के लिए तैयार हैं।

#1 कोलकाता नाइट राइडर्स

इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाइट राइडर्स एक ऐसी टीम है जिसने हमेशा से ही एक अच्छे गेंदबाजी आक्रमण के महत्व पर बल दिया है। नीलामी में उन्होंने विश्वसनीय और प्रभावी गेंदबाजों को खरीदने के लिए हमेशा अधिक खर्च किया है। इस साल की आईपीएल नीलामी प्रक्रिया में भी कोलकाता नाइट राइडर्स ने गेंदबाजों की खरीद का सिलसिला जारी रखा था। टीम में सुनील नरेन, कुलदीप यादव, मिचेल स्टार्क और आंद्रे रसेल जैसे प्रभावकारी गेंदबाज हैं। इन गेंदबाजों के साथ ही कोलकाता नाइट राइडर्स ने एक मजबूत गेंदबाजी आक्रमण का गठन किया है। जो टूर्नामेंट में किसी भी बल्लेबाजी लाइन-अप को ध्वस्त करने में काफी होगी। इन गेंदबाजों के अलावा कोलकाता नाइट राइडर्स के पास युवा और अनुभवी गेंदबाजी का मिश्रण भी है। इनमें विनय कुमार और पियुष चावला उन पुराने खिलाड़ियों में से हैं, जिन्होंने आईपीएल के सभी सीजन खेले हैं। वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स के भारतीय अंडर 19 विश्व कप विजेता टीम से कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी जैसे युवा खिलाड़ी भी मौजूद हैं। कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी ने हाल में खत्म हुए अंडर -19 विश्व कप में अपनी गति और स्थिरता के साथ अपनी शानदार गेंदबाजी से हर किसी को प्रभावित किया था। वहीं कोलकाता इस साल आईपीएल के लिए मिचेल जॉनसन की उपलब्धता की भी उत्सुकता से इंतजार कर रहा है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज हाल ही हेड इंजरी से ग्रस्त हो गए थे। जिसके बाद से ही उनके टूर्नामेंट में खेले जाने को लेकर सवाल हैं। जॉनसन की उपलब्धता पहले से ही मजबूत केकेआर के गेंदबाजी आक्रमण के लिए एक अतिरिक्त प्रोत्साहन का काम करेगी। लेखक: रैना अनुवादक: हिमांशु कोठरी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...