वनडे क्रिकेट इतिहास के टॉप 4 ऑलराउंड प्रदर्शन

वनडे क्रिकेट (पुरुषों और महिलाओं के वनडे मैचों) के 47 साल के इतिहास में केवल चार बार ऐसा हुआ है जब किसी खिलाड़ी ने एक मैच में शतक लगाने के साथ ही 5 विकेट भी लिए हों। आपको बता दें 12 जून, 2018 तक इस सूची में केवल 3 पुरुष खिलाड़ी थे और कोई महिला नहीं थी। लेकिन न्यूजीलैंड महिला टीम की 17 वर्षीय अमेलिया केर ने एक कदम आगे बढ़कर सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए, जब उन्होंने 145 गेंदों पर नाबाद 232 * रन बनाए और फिर 17 रन देकर 5 विकेट भी लिए। इस उल्लेखनीय प्रदर्शन के साथ ही उन्होंने इस विशेष सूची में अपना नाम दर्ज करा लिया है और वनडे क्रिकेट इतिहास में दोहरा शतक और उसी मैच में पांच विकेट लेने वाली वह एकमात्र क्रिकेटर बन गई हैं। अपने रिकार्ड ब्रेकिंग प्रदर्शन के साथ अमेलीया केर दोहरा शतक बनाने वाली सबसे कम उम्र की खिलाड़ी बन गई हैं। इसके साथ ही उन्होंने दोहरे शतक लगाकर वनडे क्रिकेट इतिहास में दोहरा शतक लगाने वाले 7 खिलाड़ियों की सूची में प्रवेश किया है जिसमें 6 पुरुष: सचिन तेंदुलकर (200 *), वीरेंदर सहवाग (21 9) रोहित शर्मा (264, 209 और 208 *), क्रिस गेल (215), मार्टिन गप्टिल (237 *) और केवल 1 महिला: ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क (229 *) शामिल हैं। यह शर्म की बात है और कि अमेलिया केर की इस अद्भुत उपलब्धि को दुनिया भर में व्यापक मीडिया कवरेज नहीं मिली है, जिसकी वह वास्तव में हकदार हैं। तो आइये एक वनडे मैच में शतक लगाने के साथ 5 विकेट लेने वाले खिलाड़ियों पर एक नज़र डालें।

सर विवियन रिचर्ड्स, वेस्टइंडीज ( 1987 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 119 रन ; 5/41 का गेंदबाज़ी आंकड़ा )

अपने समय के सबसे धुआंदार और खतरनाक बल्लेबाज़ इस सूची में अपना नाम दर्ज कराने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने थे। एक वनडे मैच में शतक के साथ 5 विकेट लेकर उन्होंने यह कारनामा किया था। 18 मार्च, 1987 में खेले गए इस मैच में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टॉस हारने के बाद वेस्टइंडीज़ को पहले बल्लेबाजी करने के लिए उतरना पड़ा। कप्तान विव रिचर्ड्स नंबर .5 पर बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने 113 गेंदों पर 119 रन की शानदार पारी खेलकर वेस्टइंडीज को 237 रनों तक पहुंचाया। उसके बाद बल्लेबाज़ी करने आई न्यूजीलैंड टीम को विंडीज़ ने 42.1 ओवरों में 142 रनों पर ही आल-आउट कर दिया था। इसमें सर विव रिचर्ड्स ने 10 ओवरों के अपने स्पेल में 41 रन देकर 5 विकेट लिए थे। उस समय, सर विव रिचर्ड्स एक शतक के साथ 5 विकेट लेने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने थे। उनका यह रिकॉर्ड 18 साल तक कायम रहा और 2005 में इंग्लैंड के पॉल कॉलिंगवुड इस विशेष सूची में शामिल होने वाले दुनिया के दूसरे खिलाड़ी बने।

पॉल कॉलिंगवुड, इंग्लैंड (2005 में बांग्लादेश के खिलाफ नाबाद 112 रन ; 6/31 का गेंदबाज़ी आंकड़ा )

इंग्लैंड के पॉल कॉलिंगवुड वनडे में एक शतक और 5 विकेट लेने वाले दुनिया के दूसरे खिलाड़ी बने थे। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ने इंग्लैंड को अपना एकमात्र विश्व कप जिताया था जब उनके नेतृत्व में इंग्लैंड ने 2010 में आईसीसी विश्व कप टी -20 का ख़िताब जीता था। उन्होंने 197 वनडे मैचों में खेलकर इंग्लैंड के सबसे ज्यादा वनडे खेलने वाले खिलाड़ी बने। इसके अलावा वह 2015 तक 5,092 रनों के साथ इंग्लिश टीम के आग्रणी स्कोरर रहे थे। हालाँकि उसके बाद 2015 में इयान बेल ने (161 एकदिवसीय मैचों में 5,416 रन) और मौजूदा इंग्लिश वनडे कप्तान इऑन मॉर्गन ने (5,376 रन बनाकर) उन्हें इस सूची में तीसरे नंबर पर धकेल दिया। 21 जून, 2005 को बांग्लादेश के खिलाफ अपने शानदार ऑल-राउंड प्रदर्शन से पॉल कॉलिंगवुड ने सर विव रिचर्ड का 18 साल पुराना रिकॉर्ड तोडा। टॉस जीतने के बाद, इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और उन्होंने एंड्रयू स्ट्रॉस (152) और पॉल कॉलिंगवुड (112 गेंदों में नाबाद 112) से शतक की मदद से 50 ओवरों में 391 रन बनाए। जवाब में बांग्लादेश की पूरी टीम 45.2 ओवरों में 223 रनों पर ढेर हो गयी इसमें इसमें पॉल कॉलिंगवुड के 6 विकेट भी शामिल हैं।

रोहन मुस्तफा, संयुक्त अरब अमीरात (2017 में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 109 रन ; 5/25 का गेंदबाज़ी आंकड़ा)

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की राष्ट्रीय टीम के मौजूदा कप्तान, रोहन मुस्तफा इस विशेष सूची में शामिल होने वाले एशिया के पहले और दुनिया के तीसरे खिलाड़ी बने। 4 अप्रैल, 2017 को पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ ऑल-राउंडर प्रदर्शन करते हुए मुस्तफा ने 5 विकेट लेने के साथ ही एक शतक भी लगाया था। पाकिस्तानी मूल के, रोहन मुस्तफा 10 साल की उम्र में ही अपने परिवार के साथ शारजाह चले गए थे। उन्होंने जल्द ही शारजाह क्रिकेट अकादमी में दाखिल करवाया गया और उनके पिता, जो कि उस समय क्रिकेट सलाहकारों में से एक थे का पांच वर्ष बाद निधन हो गया। अपने परिवार की आर्थिक तंगी के बावजूद, रोहन ने क्रिकेट खेलना जारी रखा और आज उनका नाम क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज है। पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ इस ऐतिहासक मैच में UAE ने टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए बाएं हाथ के बल्लेबाज रोहन मुस्तफा के 125 गेंदों पर बनाए 109 गेंदों की बदौलत निर्धारित 50 ओवरों में 251 रनों का स्कोर बनाया और जवाब में, पापुआ न्यू गिनी 35.2 ओवरों में सिर्फ 148 रनों पर ढेर हो गई, जिसमें रोहन मुस्तफा ने 8.2 ओवरों में 25 रन देकर 5 विकेट लिए थे।

अमेलिया केर, न्यूजीलैंड (2018 में आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 232 * रन ; 5/17 का गेंदबाज़ी आंकड़ा )

न्यूजीलैंड की 17 वर्षीय महिला क्रिकेटर अमेलिया केर ने 13 जून 2018 को उल्लेखनीय ऑल-राउंड प्रदर्शन करते हुए एक ऐसा रेकार्ड कायम कर दिया है जिसे तोड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए बहुत बड़ी चुनौती होगी। उनका यह प्रदर्शन, निश्चित रूप से किसी भी वनडे खिलाड़ी (महिला और पुरुष) का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। टॉस जीतने के बाद, न्यूजीलैंड टीम ने पहले बल्लेबाजी करने हुए के निर्धारित 50 ओवरों में 340 रन बनाए जिसमें अमेलिया केर145 गेंदों पर नाबाद 232 रनों की पारी उल्लेखनीय है। अपनी इस पारी से उन्होंने कई रिकार्ड तोड़े, इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क (229*) ने महिला वर्ग में वनडे मैच में सर्वाधिक स्कोर बनाया था लेकिन केर रिकार्ड तोड़ने वाली सबसे कम उम्र की महिला क्रिकेट भी बनीं। इसके जवाब में, आयरिश महिला टीम 44 ओवरों में केवल 135 रनों पर ढेर हो गयी, इसमें केर ने 7 ओवरों में 17 रन देकर 5 विकेट लिए। अपने यादगार प्रदर्शन की बदौलत केर को 'मैन ऑफ़ द सीरीज़' पुरस्कार से नवाज़ा गया। गौरतलब है कि उन्होंने आयरिश टीम के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज़ में 156.88 की शानदार स्ट्राइक रेट के साथ कुल 342 रनों का स्कोर बनाया और टूर्नामेंट की उच्चतम स्कोरर बनीं। इसके अलावा गेंदबाज़ी की बात करें तो इसमें भी उन्होंने सबसे ज़्यादा 8 विकेट अपने नाम किये। लेखक: राहुल सदगोपन अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor