Create
Notifications

5 बल्लेबाज़ जिनकी टेस्ट की पहली और दूसरी पारी के बीच है बड़ा अंतर

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

टेस्ट क्रिकेट एक रोमांचक खेल है, इसमें बल्लेबाज़ के मिज़ाज और गेंदबाज़ों की फ़िटनेस का असली इम्तेहान होता है। टेस्ट क्रिकेट में किसी क्रिकेटर की बहुमुखी प्रतिभा का पता चलता है। कई खिलाड़ियों ने टेस्ट क्रिकेट के ज़रिए अपने खेल और करियर को संवारा है। पिछले कुछ सालों में कई महान बल्लेबाज़ों ने टेस्ट क्रिकेट में शानदार प्रदशर्न किया है। कुछ ने पहली पारी में अच्छा खेल दिखाया है, तो कुछ खिलाड़ियों ने दूसरी पारी में बेहतर प्रदर्शन किया है। कई खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो दोनों पारियों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं और दोनों पारियों में क़रीब-क़रीब एक जैसा औसत बरक़रार रखते हैं। हांलाकि कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिनका 2 अलग-अलग पारियों में औसत का अंतर बहुत ज़्यादा है। यहां हम ऐसे ही बल्लेबाज़ों के बारे में बता रहे हैं जिनका पहली और दूसरी पारियों में औसत का फ़र्क सबसे बड़ा है। (नोट- हम इस लिस्ट में सिर्फ़ उन्ही बल्लेबाज़ों को शामिल कर रहे हैं जिन्होंने कम से कम 50 पारियां खेली हैं।)

#5 ब्रायन लारा - 25.76

LARA

वेस्टइंडीज़ के दिग्गज ब्रायन लारा क्रिकेट इतिहास के महानतम बल्लेबाज़ों में से एक हैं, लेकिन उनकी पहली और दूसरी पारियों में औसत का अंतर काफ़ी ज़्यादा है। ब्रायन लारा ने टेस्ट में अपने क़रीब 70 फ़ीसदी रन पहली पारी में ही बनाए हैं। लारा ने 130 टेस्ट की पहली पारियों में 63.94 की औसत से कुल 8249 रन बनाए हैं। जबकि लारा ने 104 टेस्ट की दूसरी पारियों में 38.18 की औसत से कुल 3704 रन बनाए हैं। लारा ने टेस्ट में 48 अर्धशतक बनाए हैं जिसनें 33 हाफ़ सेंचुरी पहली पारी में बनी है। सबसे ख़ास बात ये रही है कि लारा ने एक पारी में 200 से ज़्यादा रन बनाने का सभी रिकॉर्ड पहली पारियों में ही बनाया है। साल 1994 में लारा ने 375 रन का रिकॉर्ड और साल 2004 में 400* रन का रिकॉर्ड इंग्लैंड के ख़िलाफ बनाया था। हांलाकि ऐसा नहीं है कि लारा ने दूसरी पारी में कोई कमाल नहीं किया हो। कई बार दूसरी पारी में भी उन्होंने बेहतरीन पारी खेली है। दूसरी पारी में उनकी सबसे बड़ी पारी 153 रन की थी।

#4 महेला जयावर्धने - 26.49

MAHELA

श्रीलंका के महान बल्लेबाज़ महेला जयावर्धने जो टीम के पूर्व कप्तान भी रहे हैं, उनका टेस्ट की पहली और दूसरी पारियों में बल्लेबाज़ी औसत का अंतर काफ़ी ज़्यादा है। पहली पारियों में उन्होंने 60.13 के ज़बर्दस्त औसत से 8719 रन बनाए है। उनका 74 फ़ीसदी टेस्ट रन पहली पारियों में ही बना है। हांलाकि टेस्ट की दूसरी पारियों में जयावर्धने ने 33.64 की औसत से सिर्फ़ 3095 रन बनाए हैं। ये किसी भी 10 हज़ार रन बनाने वाले खिलाड़ियों के लिए कम औसत है। जयावर्धने का ज़्यादातर बेहतरीन निजी स्कोर पहली पारियों में ही बना है। उन्होंने साल 2006 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेले गए टेस्ट मैच की पहली पारी में 374 रन कोलंबो में बनाए थे।

#3 स्टीव वॉ - 28.24

STEVE WAUGH

स्टीव वॉ को विश्व क्रिकेट का महानतम खिलाड़ी माना जाता है।लेकिन टेस्ट में उनकी पहली पारियों और दूसरी पारियों के औसत का अंतर ज़्यादा है, ये बल्लेबाज़ी औसत 10,000 रन बनाने वाले खिलाड़ियों में सबसे कम है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने पहली पारियों में 60.69 की औसत से कुल 8558 रन बनाए हैं। स्टीव वॉ ने टेस्ट के 78.3 फ़ीसदी रन पहली पारियों में ही बनाए हैं। अगर दूसरी पारियों की बात करें तो स्टीव वॉ ने सिर्फ़ 94 बार मैच की आख़िरी पारी में बल्लेबाज़ी की है। स्टीव ने इन पारियों में 32.45 की औसत से कुल 2369 रन बनाए हैं। उनकी पहली और दूसरी पारियों में बल्लेबाज़ी औसत का अंतर क़रीब 28.24 रहा है। स्टीव ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन मैच की पहली पारियों में ही किया है। उन्होंने अपना दोहरा शतक पहली पारी में ही बनाया था। स्टीव ने टेस्ट करियर में 32 शतक बनाया है जिसमें सिर्फ़ 2 शतक दूसरी पारी में लगाया है। ऐसा नहीं है कि स्टीव वॉ ने दूसरी पारी में कोई कमाल नहीं किया हो। उन्होंने साल 1989 में होबार्ट के मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ़ दूसरी पारी में 177 गेंदों पर 134 रन बनाया था।

#2 वीरेंदर सहवाग- 32.25

SEHWAG

वीरेंदर सहवाग क्रिकेट इतिहास में भारत के लिए सबसे विस्फोटक बल्लेबाज़ रहे हैं, लेकिन टेस्ट की पहली और दूसरी पारियों में उनके भी औसत का फ़र्क काफ़ी ज़्यादा है। वीरू ने टेस्ट करियर में कुल 8586 रन बनाए हैं जिनमें क़रीब तीन चौथाई रन सिर्फ़ पहली पारी में बने हैं। सहवाग ने 104 बार पहली पारी में बल्लेबाज़ी की है और 62.50 की औसत से 6438 रन बनाए हैं। सहवाग ने अपने टेस्ट करियर की दूसरी पारी में 76 बार बल्लेबाज़ी की है और 30.25 के औसत से महज़ 2148 रन बनाए हैं। सहवाग ने अपने टेस्ट करियर में 23 शतक लगाए हैं जिनमें से 22 शतक पहली पारी में बने हैं। उनकी दोनों ट्रिपल सेंचुरी पहली पारी में ही आई है, जो उन्होंने साल 2004 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ और साल 2008 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ बनाए थे।

#1 स्टीव स्मिथ - 37.68

STEVE SMITH

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ टेस्ट क्रिकेट के बेहतरीन बल्लेबाज़ हैं। लेकिन इसके बावजूद उनकी टेस्ट करियर की पहली और दूसरी पारियों में बल्लेबाज़ी औसत का अंतर सबसे ज़्यादा है, ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा कप्तान ने 57 बार पहली पारी में बल्लेबाज़ी की है और 5557 रन बनाए हैं जिनमें उनके 69.8 फ़ीसदी रन (3880 रन) पहली पारी में आए हैं। पहली पारी में उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 77.60 रहा है। स्मिथ ने टेस्ट में 50 बार दूसरी पारियों में बल्लेबाज़ी की है जिसमें 39.92 की औसत से 1677 रन बनाए हैं। हांलाकि इस लिस्ट में शामिल 5 बल्लेबाज़ों में स्टीव स्मिथ का औसत सबसे बेहतर है फिर भी पहली पारी में उनके शानदार प्रदर्शन की बदौलत उनकी दोनों पारियों में बल्लेबाज़ी के औसत का अंतर काफ़ी ज़्यादा हो गया है। स्टीव स्मिथ ने टेस्ट करियर में 21 शतक लगाए हैं जिसमें 19 शतक पहली पारी में ही बने हैं। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट में 21 अर्धशतक लगाए हैं जिनमें 13 अर्धशतक दूसरी पारी में बने हैं। हांलाकि उन्होंने अपना 215 रन का सर्वाधिक निजी स्कोर पहली पारी में बनाया था, लेकिन कई बेहतरीन खेल उन्होंने दूसरी पारी में भी दिखाया है। स्मिथ ने साल 2015 में 138 रन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ आख़िरी पारी में बनाए थे। लेखक – नीलाभ्र रॉय अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now