Create

एकदिवसीय क्रिकेट इतिहास में सबसे ज़्यादा जीत दिलाने वाले 5 कप्तान

Rahul Pandey

एकदिवसीय क्रिकेट का इतिहास लगभग लगभग पांच दशकों लंबा है। खेल के 50 ओवेरों के प्रारूप में न केवल महान बल्लेबाजों और गेंदबाजों का नाम हुआ है, बल्कि कुछ महान कप्तान भी हैं, जिनके नेतृत्व को उनकी टीम की सफलता का एक महत्वपूर्ण पहलू माना जाता है। क्रिकेट के खेल में कप्तान की भूमिका एक सामान्य दर्शक को जो दिखता है उससे ज्यादा होती है। एक कप्तान लगातार रणनीतियों पर काम करता है और मैदान पर सटीक फैसले लेते हुए खेल को बदल सकता है, वह अन्य खेलों के विपरीत मैदान के बाहर भी थिंक टैंक का हिस्सा होता है। इतिहास में कई महान कप्तान हुए हैं, जो वर्तमान और भविष्य दोनों के लिए अपनी टीमों का निर्माण कर चुके हैं, और उनके देश में जिस तरह से क्रिकेट खेला जाता है, उसमें आये बदलाव में अहम भूमिका निभाते हैं। कप्तान की सफलता का विश्लेषण करने के लिए सबसे सटीक तरीका है की उसके नेतृत्व में टीम द्वारा जीते हुए मैच का प्रतिशत देखा जाये। यहां हम आज तक एकदिवसीय क्रिकेट के 5 सबसे प्रभावशाली कप्तानों पर सबसे अधिक जीत प्रतिशत के आंकड़ों के आधार पर नज़र डाल रहे है।

माइकल क्लार्क: 70.4%

इस सूची में 5 वें स्थान पर वह खिलाड़ी है, जिसने घर पर खेले गये 2015 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया की जीत का नेतृत्व किया था। माइकल क्लार्क जिन्हें अपने समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मध्यक्रम बल्लेबाजों में से एक माना था। उन्होंने 2011 के विश्वकप में भारत से ऑस्ट्रेलिया की हार के बाद एकदिवसीय क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तान रिकी पॉन्टिंग से यह जिम्मेदारी संभाली। ऑस्ट्रेलियाई टीम में क्लार्क की कप्तानी के अंदर एक बड़ा बदलाव आया, जिसमें बहुत से पुराने बड़े खिलाड़ियों ने संन्यास लिया और युवाओं ने उनकी जगह ले ली थी। लेकिन क्लार्क टीम को जीत की राह पर वापस ले आये। उन्होंने 74 एकदिवसीय मैचों में ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया, जिसमें 70.4 के जीत प्रतिशत से 50 में जीत दर्ज की।

हैंसी क्रोनिए: 73.7%

संभवतः एकमात्र खिलाड़ी, जिसे एक खिलाड़ी से ज्यादा कप्तान के रूप में याद किया जाता है, हैंसी क्रोनिए वह व्यक्ति थे जो 90 के दशक के मध्य से दक्षिण अफ्रीकी टीम को क्रिकेट की दुनिया में प्रभुत्व को सुनिश्चित किया था। दक्षिण अफ्रीका और विश्व क्रिकेट में उनका ऐसा कद था, कि जब उन्होंने मैच फिक्सिंग घोटाले में उनकी भागीदारी को कबूल किया तो किसी के लिये भी विश्वास करना मुश्किल था। क्रोनिए सिर्फ एक अच्छे बल्लेबाज ही नहीं थे, बल्कि वह असाधारण खिलाड़ियों से भरी ऐसी टीम का नेतृत्व कर रहे थे, जिसमें विशेष रूप से कुछ महान ऑल राउंडर भी थे। हालाँकि वह आईसीसी ट्रॉफी को अपनी टीम को जीटाने में सफल न हो सके, मगर क्रोनिए एकदिवसीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में से रहे, जिसने 138 मैचों में 73.7% के जीत प्रतिशत से 99 जीत हासिल की थी।

रिकी पॉन्टिंग: 76.14%

सबसे अधिक एकदिवसीय मैच जीतने वाला कप्तान इस सूचि में तीसरे स्थान पर है। एकदिवसीय बल्लेबाज के रूप में एक अभूतपूर्व करियर के साथ, रिकी पॉन्टिंग एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में भी तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने स्टीव वॉ से टीम की कप्तानी की जिम्मेदारी संभाली और टीम का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया और एक महान खिलाड़ियों से भरी ऐसी टीम जिसमे कई खिलाड़ी खेल के किंवदंती बन गए हैं, को एक खतरनाक टीम बना दी। पॉन्टिंग ने 230 से अधिक एकदिवसीय मैचों में टीम का नेतृत्व किया, जिसमें 76.14के जीत के प्रतिशत से 165 मैच खेले थे। टीम लगातार कई वर्षों तक रैंकिंग चार्ट शीर्ष स्थान पर रही और दुनिया भर में वर्चस्व बनाने वाली टीम बनी। इस अद्भुत रिकॉर्ड में 2003 और 2007 में लगातार दो विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड भी शामिल है। इस तरह के एक अद्भुत रिकॉर्ड को भविष्य में बना पाना शायद ही संभव हो सके।

क्लाइव लॉयड: 77.71%

संभवत: क्रिकेट इतिहास की सबसे अच्छी टीम और एकदिवसीय इतिहास की पहली ऐसी टीम जिसे अजेय माना जाने लगा था। महान क्लाइव लॉयड ने वेस्टइंडीज टीम की अगुआई 1970 के दशक की थी। उस दौर में बहुत कम एकदिवसीय खेले जाते थे, लेकिन वेस्टइंडीज ने लगभग हर टीम पर अपना वर्चस्व कायम किया, जिसमे इस खेल को खेलने वाले इतिहास के सबसे क्रूर बल्लेबाजों और गेंदबाजों का योगदान था। लॉयड ने 84 मैचों में कप्तान के रूप में 64 जीत हासिल की, और उनका जीत का प्रतिशत 77.71% का था। इस अद्भुत प्रदर्शन में 1975 और 1979 के पहले दो विश्व कप भी शामिल थे, और यह एक बड़ा आश्चर्य माना जाता है कि कैसे उनकी टीम 1983 विश्व कप फाइनल में भारत से हार गई थी।

विराट कोहली: 79.1%

इस सूची में सबसे ऊपर वह खिलाड़ी है जो आज के समय में कई रिकॉर्डों को तोड़ने की दिशा में आगे बढ़ता ही जा रहा है, न केवल बल्लेबाजी करते समय बल्कि साथ में भी कप्तान करते हुए भी । ऐसे में जबकि पूरी दुनिया विराट कोहली के बल्लेबाजी कौशल से मंत्रमुग्ध सी हो गयी है, यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि वह भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे हैं, और एक ऐसी टीम बनाते जा रहे हैं जो सबसे बेहतरीन टीम में से एक बनती जा रही है। विराट कोहली ने अब तक 49 मैचों में भारत का नेतृत्व किया है, जिसमें से 38 जीत हासिल की है। इसप्रकार उनका 79.1% का विजयी प्रतिशत(न्यूनतम 30 मैचों में कप्तानी करने वाले कप्तानों में) सबसे ज्यादा है। जिस तरह भारतीय टीम सीमित-ओवरों के प्रारूप में घर और बाहर दोनों जगह खेल रही है, भविष्य में यह प्रतिशत और भी बेहतर हो सकता है। लेखक: आकाश सिंघल अनुवादक: राहुल पांडे

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...