Create
Notifications

विश्व कप 2011 से लेकर 2015 के बीच इन 5 बल्लेबाज़ों ने मनवाया अपनी बल्लेबाज़ी का लोहा

Himanshu Kothari
visit

विश्व कप में जीत हासिल करना पूरे देश को जोश से भर देने के लिए काफी होता है। क्रिकेट के खेल में विश्व विजेता बनना किसी भी टीम के लिए अपने आप में एक गौरव की बात होती है। इस जीत से न सिर्फ खेल में सुधार आता है बल्कि आने वाली पीढ़ी को भी नई सीख हासिल होती है। विश्व कप में एक जीत हासिल करने के लिए खिलाड़ी भी सालों साल कड़ी मेहनत करते हैं। खिलाड़ियों में जज्बा हो तो बड़े से बड़े स्कोर को मुश्किल हालातों में भी चेज किया जा सकता है। ऐसा ही कुछ नजारा साल 2011 के क्रिकेट विश्व कप में देखने को मिला था। जब लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया को शुरुआती झटके लग चुके थे और टीम लड़खड़ा गई थी, लेकिन फिर भी टीम ने हौसला नहीं हारा और महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी में टीम इंडिया ने 28 साल बाद क्रिकेट में विश्व विजेता का खिताब हासिल किया। टीम ने फाइनल मुकाबले में श्रीलंका को पटखनी दी। इसके साथ ही टीम इंडिया ऐसी पहली टीम भी बन गई जिसने अपने घर में आईसीसी के किसी बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में जीत हासिल की हो। भारत ने मुंबई के वानखेड़े में 2 अप्रैल 2011 को विश्व कप के फाइनल मुकाबले में जीत हासिल की थी। हालांकि साल 2015 में टीम इंडिया अपना ये खिताब बचा नहीं पाई और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने पांचवीं बार क्रिकेट विश्व कप पर कब्जा किया। साल 2015 के विश्व कप में न्यूजीलैंड की टीम को मात देकर ऑस्ट्रेलिया ने माइकल क्लार्क की कप्तानी में विश्व कप जीता। 29 मार्च 2015 को ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भी अपने होम ग्राउंड पर विश्व कप जीत का स्वाद चखा। साल 2011 से लेकर साल 2015 के दौरान कई ऐसे बल्लेबाज रहे जिन्होंने वनडे क्रिकेट में अपनी बल्लेबाजी का पूरे विश्व में लोहा मनवाया। तो आइए जानते हैं ऐसे टॉप 5 बल्लेबाजों के बारे में। (आंकड़ो में 2015 विश्व कप में खेले गए मैच शामिल नहीं है) #5 एबी डीविलियर्स, दक्षिण अफ़्रीका ABD दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान एबी डीविलियर्स का बल्ला जब चलता है तो विरोधी गेंदबाजों की हर रणनीति फेल हो जाती है। अपनी शानदार बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले एबी डीविलियर्स ने साल 2011 से लेकर साल 2015 तक के विश्व कप के दौरान गजब की बल्लेबाजी की और शानदार 107.82 की स्ट्राइक रेट के साथ रन बटोरे। इस दौरान उन्होंने 60 वनडे मुकाबले खेले और 2,936 बनाए। इसके साथ ही एबी डीविलियर्स ने 8 शतक और 17 अर्धशतक जमाने में भी कामयाबी हासिल की। वनडे क्रिकेट में एबी डीविलियर्स का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 176 रन है, जो कि साल 2017 में बांग्लादेश के खिलाफ उन्होंने बनाए थे। लेकिन 2011-2015 के दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 149 रन था. एबी डीविलियर्स ने ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ 2015 में सिर्फ 31 गेंदों में सबसे तेज एकदिवसीय शतक लगाया था। 339 की शानदार स्ट्राइक रेट से खेलते हुए क्रीज पर आते ही एबी डीविलियर्स ने इस मैच में अपनी आतिशी पारी खेलना शुरू कर दी थी। इस मैच में एबी डीविलियर्स 39 वें ओवर में बल्लेबाजी करने आए थे और 44 गेंद में 149 रन ठोक डाले। इस दौरान उन्होंने 9 चौके और 16 छक्के लगाए। # 4 महेला जयवर्धने, श्रीलंका MAHELA स्पिन गेंदबाजी को आसानी से खेलने वाले सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक श्रीलंका के महेला जयवर्धने भी इस सूची में शामिल हैं। महेला जयवर्धने श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के मुख्य बल्लेबाजों में शुमार हैं। श्रीलंका के पूर्व कप्तान को अपनी शानदार बल्लेबाजी की सहजता के कारण काफी आधुनिक माना जाता है। महेला जयवर्धने को स्पिन गेंदबाजी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक माना जाता है। जयवर्धने श्रीलंका के ऐसे दूसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने एकदिवसीय मैचों में 10,000 रन बनाने में कामयाबी हासिल की है। हालांकि वनडे बल्लेबाजी में उनका औसत दूसरे खिलाड़ियों की तुलना में काफी कम था। 2011 और 2015 के विश्व कप के दौरान, जयवर्धने ने 100 वनडे में 3,102 रन बनाए। उन्होंने 4 वनडे शतक और 21 अर्धशतक बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 83.11 का रहा। जयवर्धने का सर्वोच्च स्कोर 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में आया था, जहां उन्होंने 150 गेंदों पर 144 रन बनाए थे। यही नहीं, जयवर्धने और कुमार संगकारा ने तीसरे विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे, जो कि इंग्लैंड के खिलाफ श्रीलंका का रिकॉर्ड है। # 3 तिलकरत्ने दिलशान, श्रीलंका DILSHAN 2011-2015 के दौरान वनडे में सबसे ज्यादा रन स्कोर करने वाले बल्लेबाजों में तिलकरत्ने दिलशान ने तीसरे पायदान पर अपनी जगह बनाई है। श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपनी पहचान बनाई है। दिलशान ने 2011 और 2015 विश्व कप के बीच 104 मैच खेले. जिनमें उन्होंने 3945 रन बनाए। इस दौरान वो 10 शतक भी अपने नाम करने में कामयाब रहे। इसके साथ ही दिलशान ने हॉबर्ट में भारत के खिलाफ 2012 में हुए वनडे मैच में 160 * रन बनाए। ये दूसरा मौका था जब दिलशान ने एक ही विरोधी टीम के खिलाफ दूसरी बार 160 का आंकड़ा छुआ हो। हालांकि दोनों बार ही श्रीलंका को भारत से हार का सामना करना पड़ा था। # 2 विराट कोहली, भारत KOHLI साल 2011 से लेकर साल 2015 के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम में विराट कोहली एक उभरते सितारे के तौर पर सामने आए। एक के बाद एक रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए विराट कोहली ने क्रिकेट की दुनिया में अपने नाम का सिक्का जमा लिया था। इस दौरान विराट कोहली ने अपने बल्लेबाजी से सभी लोगों को हैरत में डाल दिया। जिसके कारण ही विराट कोहली 2011-2015 के दौरान वनडे में सबसे ज्यादा रन स्कोर करने वालों की सूची में दूसरे नंबर पर जगह बनाने में कामयाब हो सके हैं। विराट कोहली ने साल 2011 और 2015 के बीच 94.39 की स्ट्राइक रेट से 96 मैचों में 4,278 रन बनाए। इस दौरान विराट कोहली ने हैरान करते हुए 16 शतक भी बना डाले। विराट कोहली की बदौलत ही साल 2012 में टीम इंडिया एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ जीत दर्ज करने में कामयाब रही थी और आसानी से सबसे बड़े लक्ष्य के तौर पर रन चेज करके टीम ने सफलता हासिल की थी। इस मैच में टीम इंडिया को जीत के लिए 330 रनों का लक्ष्य मिला था। इस बड़े लक्ष्य को चेज करने के दौरान विराट कोहली ने 148 गेंदों में 183 रनों की शानदारी पारी खेली थी और अकेले ही टीम की उम्मीदों को टूर्नामेंट में बचाए रखा था। 18 मार्च 2012 की रात ढाका में 23 वर्षीय दिल्ली के लड़के की तेज तर्रार पारी के कारण पाकिस्तान का शानदार गेंदबाजी आक्रमण बौना साबित हुआ और इसके साथ ही भारतीय बल्लेबाजी क्रम को नई मजबूती भी मिल गई। # 1 कुमार संगकारा, श्रीलंका SANGA 106 मैचों में 48.69 के औसत से 4529 रन बनाकर, श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा, 2011 और 2015 के विश्व कप के बीच टॉप रन स्कोरर थे। विस्डेन के अग्रणी क्रिकेटर संगकारा ने 2011 और 2015 में 83.40 का स्ट्राइक रेट बनाए रखा। उस समय उन्होंने 10 शतक और 31 अर्धशतक बनाए। शीर्ष क्रम के बल्लेबाज का सर्वोच्च एकदिवसीय स्कोर कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2013 में एकदिवसीय मैच में आया। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने सिर्फ 137 गेंदों में 18 चौके और 6 छक्के के साथ 169 रन की पारी खेली। 29 जनवरी, 2015 को वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए वनडे मैच के दौरान संगकारा श्रीलंका के सबसे अधिक एकदिवसीय रन बनाने वाले स्कोरर बने। इसके साथ ही उन्होंने सनथ जयसूर्या के बनाए गए 13,430 रनों के पिछले रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर दिया।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now