Create
Notifications

क्रिकेट इतिहास के 5 बेहतरीन सीम बॉलिंग ऑलराउंडर्स

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

कई क्रिकेटर जो मुख्य रूप से सीम गेंदबाज़ हैं, कई बार अपनी शानदार बल्लेबाज़ी से सभी का दिल जीत लेते हैं। मसलन गैरी सॉबर्स को इतिहास के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर के तौर पर गिना जाता है, लेकिन ये बात भी याद रखनी होगी कि वो मुख्य रूप से बल्लेबाज़ थे और स्पिन गेंदबाज़ी करते थे। यहां हमारी कोशिश है कि हम उन गेंदबाज़ों के नाम सामने लाएं जो एक बेहतरीन गेंदबाज़ थे लेकिन जब वो पिच पर बल्ले के साथ उतरते थे तो कमाल कर देते थे। हम ऐसे ही बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ों के बारे में बताएंगे जो बल्ले से भी कमाल दिखाते थे। एक नज़र विश्व के उन महान सीम गेंदबाज़ों पर जो गेंद और बल्ले दोनों से सभी का दिल जीतने में माहिर थे: #5 जैक्स कैलिस KALLIS दक्षिण अफ़्रीका के महान क्रिकेटर जैक्स कैलिस को बेहतरीन टॉप ऑर्डर बल्लेबाज़ के तौर पर जाना जाता है। कैलिस ने टेस्ट करियर में 13289 रन और वनडे में 11579 रन बनाए हैं। हांलाकि अकसर इस बात को नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है कि कैलिस एक अच्छे सीम गेंदबाज़ भी रहे हैं और स्विंग करने में माहिर थे। कैलिस की बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ी की बदौलत उन्हें कई बार दक्षिण अफ़्रीका के लिए नई गेंद से भी गेंदबाज़ी की है। गेंदबाज़ के तौर पर उनका रिकॉर्ड कई मश्हूर सीम गेंदबाज़ को पीछे छोड़ देता है। 166 टेस्ट मैच में कैलिस ने 32.65 की औसत से 292 विकेट हासिल किए हैं। वो 18 साल के अपने करियर में दुनिया के बेहतरीन ऑलराउंडर साबित हुए हैं। वनडे में उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है, 328 वनडे में उन्होंने 31.79 की औसत से 273 विकेट हासिल किए हैं, उन्होंने हर ओवर में सिर्फ़ 4.84 रन दिए हैं। अगर उनको दुनिया का सबसे बेहतरीन सीम बॉलिंग ऑलराउंडर गेंदबाज़ों की फ़ेहरीस्त में शुमार किया जाए तो ग़लत नहीं होगा। #4 सर रिचर्ड हेडली HADLEE रिचर्ड हेडली को न्यूज़ीलैंड का सबसे बेहतरीन क्रिकेटर माना जाता है, वो स्विंग गेंदबाज़ी के बादशाह रहे हैं। 1970 और 1980 के दशक में वो विश्व के सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे, उन्होंने 86 टेस्ट मैचों में 431 विकेट लिए थे। उनके सबसे ज़्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड कई साल तक बरक़रार रहा था, जिसको बाद में भारत के कपिल देव ने तोड़ा। 115 वनडे मैच में उन्होंने 21.56 की औसत से 158 विकेट लिए हैं। ये हमें नहीं भूलना चाहिए कि वो अपने दौर के सबसे बेहतरीन सीम बॉलिंग ऑलराउंडर थे। बल्लेबाज़ी की बात करें तो उन्हें एक उपयोगी बल्लेबाज़ भी माना जाता था। टेस्ट क्रिकेट में रिचर्ड हेडली के नाम 2 शतक और 15 अर्धशतक हैं। हेडली का बल्लेबाज़ी औसत 27.16 रहा है, उन्होंने कई मौक़ों पर निचले क्रम में बेहतरीन बल्लेबाज़ी करते हुए कीवी टीम को फ़ायदा पहुंचाया है। वो टेस्ट और वनडे दोनों में शानदार सीम बॉलिंग ऑलराउंडर साबित हुए हैं। #3 इमरान ख़ान IMRAN पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इमरान ख़ान क्रिकेट इतिहास के शायद सबसे प्रभावशाली क्रिकेटर हैं। अपने दौर में वो पाकिस्तान के क्रिकेट की रीढ़ थे और देश के लिए सबसे बढ़ियां गेंदबाज़ी करते थे। इसके अलावा इमरान ख़ान एक माहिर बल्लेबाज़ भी थे। वो किसी भी क्रम में बल्लेबाज़ी कर सकते थे और अपनी इसी काबिलियत की बदौलत उन्होंने साल 1992 का वर्ल्ड कप जीता था, इस टूर्नामेंट में उन्होंने नंबर 3 पर बल्लेबाज़ी की थी और फ़ाइनल मैच में 72 रन की शानदार पारी खेली थी। इमरान ख़ान ने 88 टेस्ट मैचों में 362 विकेट लिए हैं और 175 वनडे मैं 182 विकेट हासिल किए हैं। हांलाकि उन्होंने बल्लेबाज़ी में भी काफ़ी करिश्मा दिखाया था। टेस्ट करियर में उन्होंने 37.69 की औसत से 6 शतक औऱ 18 अर्धशतक लगाए हैं। वनडे करियर में उन्होंने 1 शतक और 19 अर्धशतक बनाए हैं। 1980 के दशक में वो दुनिया के सबसे बेहतर सीम बॉलिंग ऑलराउंडर थे। #2 कपिल देव Kapil Dev 1980 का दशक सीम बॉलिंग ऑलराउंडर के नाम रहा पाकिस्तान के पास इमरान थे तो टीम इंडिया के पास महान कपिल देव थे। कपिल अपने 16 साल के लंबे करियर में भारत के लिए उपयोगी तेज़ गेंदबाज़ साबित हुए थे, वो टेस्ट और वनडे दोनों में कमाल दिखाते थे। उन्होंने 131 टेस्ट मैच में 434 विकेट लिए हैं और उनका ये रिकॉर्ड कई सालों तक बरक़रार रहा था, जिसे बाद में वेस्टइंडीज़ के कर्टनी वॉल्श ने तोड़ा था। वनडे में भी वो कमाल के खिलाड़ी थे उन्होंने 225 मैच में 253 विकेट हासिल किए हैं। गेंदबाज़ी के साथ साथ बल्लेबाज़ी में भी उनका हुनर बेहद लाजवाब था और कई सालों तक भारत के चुनौतीपूर्ण बल्लेबाज़ थे। साल 1983 के वर्ल्ड कप में उन्होंने भारत को चैंपियन बनाया था, इसी टूर्नामेंट में उन्होंने ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ 175* रन की शानदार पारी खेली थी। उस दौर में वनडे में उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 95.07 था। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 31.05 की औसत से खेलते हुए 8 शतक और 27 अर्धशतक लगाए हैं। वनडे में उन्होंने एक शतक और 14 अर्धशतक जड़े हैं। #1 सर इयान बॉथम IAN BOTHAM टेस्ट करियर में इयान बॉथम ने 102 टेस्ट मैच में 383 विकेट लिए हैं और 116 वनडे में उन्होंने 145 विकेट हासिल किए हैं। अपने 15 साल के करियर में वो एक माहिर सीम ऑलराउंडर साबित हुए थे। 1970 और 1980 के दशक में उनका जलवा क़ायम था। अपनी काबिलियत की बदौलत उन्होंने ने इंग्लिश टीम को टेस्ट में कई शानदार जीत दिलाई है। ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उनका प्रदर्शन लाजवाब रहा है और बॉथम ने अपने बल्ले और गेंद से मैच का रुख़ कई बार पलट दिया था। बॉथम एक बेफ़िक्र क्रिकेटर थे जो विपक्षी टीम पर क़हर बरपा देते थे। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में 33.54 की औसत से 5200 रन बनाए हैं जिसमें 14 शतक और 22 अर्धशतक शामिल हैं। एक बार उन्होंने 1981 में हेडिंग्ले मैदान में एक पारी में 148 गेंदों पर 149 रन बनाए थे जो उनके करियर का सबसे यादगार पल था। इसी प्रदर्शन के बदौलत उस एशेज़ टेस्ट सीरीज़ में एक नया मोड़ आ गया था। बॉथम 1980 के दशक में इंग्लैंड के सबसे ख़ास खिलाड़ी थे, वो शानदार सीम गेंदबाज़ी भी करते थे और बल्ले से शानदार खेल दिखाते थे।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now