COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

बर्थडे स्पेशल: 5 मौक़े जब सौरव गांगुली ने साबित किया वही हैं क्रिकेट के असली दादा

ऋषि
ANALYST
18   //    08 Jul 2018, 06:45 IST
दादा के नाम से मशहूर पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 42.17 की औसत से 7212 रन बनाये हैं। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने भारत के लिए 49 मैचों में कप्तानी भी की है जिसमें टीम को 41 मैचों में जीत मिली थी।

इसके अलावा दादा ने भारत के लिए 311 वनडे मैच खेले हैं जिसमें 41.02 की औसत में उन्होंने 11363 रन बनाए हैं। उन्होंने 147 वनडे मैचों में टीम की कप्तानी की जिसमें टीम को 76 मैचों में जीत मिली थी।

दादा को साल 2000 में भारतीय टीम की कप्तानी मिली थी जब टीम पर फिक्सिंग के आरोप लगे थे और कई खिलाड़ियों को बैन कर दिया गया था। उन्होंने अपनी कप्तानी से टीम की दशा और दिशा बदल दी। उनकी कप्तानी में ही टीम ने विदेश में जाकर टेस्ट मैच जीतना शुरू किया।

आज गांगुली 46 साल के हो रहे हैं और इस मौके पर हम आपको उनके करियर के 5 बेहतरीन लम्हें बताने जा रहे हैं:

#5 करियर के पहले दोनों टेस्ट मैचों में शतक




 

सौरव गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में अपना टेस्ट डेब्यू किया था और इस मैदान पर डेब्यू मैच में शतक बनाने वाले पहले भारतीय और कुल तीसरे बल्लेबाज बने थे। अपने इसी फॉर्म को जारी रखते हुए दादा ने ट्रेंट ब्रिज में खेले अपने दूसरे टेस्ट में भी शतकीय पारी खेली और टेस्ट क्रिकेट में धमाकेदार एंट्री की।

उनके सामने उस समय इंग्लैंड की मजबूत गेंदबाजी आक्रमण थी जिसमें डोमिनिक कॉर्क, एलन मुलाली, पीटर मार्टिन और क्रिस लुईस शामिल थे। उनकी पेस, बाउंस और स्विंग का दादा पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने इसके खिलाफ आसानी से रन बनाएं।
1 / 5 NEXT
ऋषि
ANALYST
Advertisement
Fetching more content...