वीडियो: इंग्लैंड के दिग्गज तेज़ गेंदबाज़ स्टुअर्ट ब्रॉड के 5 सबसे बेहतरीन स्पेल  

जब स्टुअर्ट ब्रॉड का ख़्याल ज़ेहन में आता है तो एक लंबे कद के एक पेसर की तस्वीर सामने आ जाती है जो अपने एक स्पेल से मैच का रुख़ पलट सकता है। क्रिकेट की सूझ-बूझ उन्हें विरासत में मिली है, उनके पिता क्रिस ब्रॉड (जो अब एक आईसीसी मैच रेफ़री हैं) ने इंग्लैंड के लिए बतौर सलामी बल्लेबाज़ 25 टेस्ट और 34 वनडे मैच खेले हैं। स्टुअर्ट ब्रॉड ने साल 2006 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ टी-20 मैच में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। उन्होंने उस मैच में 4 ओवर का स्पेल फेंका था जिसमें उन्हें 2 विकेट मिले थे और 35 रन लुटाए थे। कुछ ही दिनों बाद उन्हें अपने करियर का पहला वनडे मैच खेलने का मौका मिला था। उस मैच में उन्होंने 3 ओवर में 14 रन देकर 1 विकेट हासिल किया था, ये मैच बारिश की वजह से रद्द हो गया था। इसके बाद वो इंग्लैंड टीम में सीमित ओवर के रेग्युलर खिलाड़ी बन गए थे। भारत के ख़िलाफ़ उन्होंने 7 वनडे मैच में 9 विकेट हासिल किए गए थे। उन्हें साल 2007 की आईसीसी वर्ल्ड टी-20 के लिए इंग्लैंड टीम में चुना गया था। इस टूर्नामेंट में उनके एक ओवर में युवराज सिंह ने 6 छक्के लगाए थे। साल 2007 में उन्हें श्रीलंका के ख़िलाफ़ टेस्ट में डेब्यू किया। हांलाकि शुरुआत में टेस्ट में उनका रिकॉर्ड कुछ ख़ास नहीं रहा लेकिन वक़्त के साथ उनके प्रदर्शन में सुधार आता गया। धीरे-धीरे वो नई गेंद से अच्छी गेंदबाज़ी करने में माहिर हो गए। वो इंग्लैंड के दूसरे ऐसे गेंदबाज़ हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 400 से ज़्यादा विकेट हासिल किए हैं। कई आलोचक मानते हैं कि उनका दौर अब ख़त्म हो गया है, लेकिन ब्रॉड को ऐसा लगता है कि वो कुछ साल और क्रिकेट खेल सकते हैं। इंग्लैंड टीम को भी ब्रॉड की काफ़ी ज़रूरत है ऐसे में वो टीम में बने रहेंगे। हाल में ही स्टुअर्ट ब्रॉड ने अपना 32वां जन्मदिन मनाया है, ऐसे में हम उनकी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 5 सबसे बेहतरीन बॉलिंग स्पेल को याद कर रहे हैं।

#5 3/15 बनाम न्यूज़ीलैंड, वेलिंगटन – 2013 (टी-20 अंतरराष्ट्रीय)

साल 2013 में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पहला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच जीतने के बाद इंग्लिश टीम दूसरा मैच कीवी टीम से 55 रन से हार गई थी। अब सीरीज़ का आख़िरी और निर्णायक मैच इंग्लैंड में खेला जाना था। इंग्लैंड ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया। कप्तान स्टुअर्ट ब्रॉड ने उस मैच में शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 15 रन देकर 3 विकेट हासिल किए और न्यूज़ीलैंड को 139 रन पर रोक दिया। ब्रॉड ने चौथे ओवर में हामिश रदरफ़ोर्ड को आउट कर दिया था। उन्होंने अपने पहले 2 ओवर में महज़ 8 रन लुटाए थे। ब्रॉड ने 16वें ओवर में बॉलिंग की और कोलिन मुनरो और मार्टिन गुप्टिल को आउट कर दिया। इस गेंदबाज़ी की बदौलत न्यूज़ीलैंड टीम को आसान लक्ष्य मिला। बल्लेबाज़ी करने उतरी इंग्लिश टीम ने इस आसान लक्ष्य को 13वें ओवर में बिना कोई विकेट खोए हासिल कर लिया।

#4 4/15 बनाम दक्षिण अफ़्रीका, चेन्नई - 2011 (वनडे)

साल 2011 के आईसीसी वर्ल्ड कप में इंग्लैंड का सामना चेन्नई में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ हो रहा था। इंग्लैंड के लिए ये मैच जीतना बेहद ज़रूरी था। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया। इंग्लिश टीम महज़ 171 रन पर ऑल आउट हो गई। जवाब में प्रोटियास टीम की शुरुआत अच्छी रही। ऐसा लगने लगा कि इंग्लिश टीम ये मैच हार जाएगी। ग्रीम स्वान ने दक्षिण अफ़्रीका की 63 रन की ओपनिंग साझेदारी तोड़ दिया। इसके बाद स्टुअर्ट ब्रॉड ने अगले 2 विकेट हासिल किए और प्रोटियास टीम के मिडिल ऑर्डर पर दबाव बना दिया। ब्रॉड ने हाशिम अमला और जैक्स कालिस को लगातार 2 ओवर में आउट करके इंग्लैंड को मैच में वापस ला दिया। ब्रॉड ने 15 रन देकर 4 विकेट हासिल किए और इंग्लैंड को जीत दिलाने में मदद की।

youtube-cover

#3 6/46 बनाम भारत, ट्रेंट ब्रिज – 2011 (टेस्ट)

साल 2011 में भारत के ख़िलाफ़ ब्रॉड का प्रदर्शन शानदार रहा उन्होंने लॉर्ड्स मैदान में 7 विकेट हासिल किए। दूसरे टेस्ट में उन्होंने मैच जिताउ प्रदर्शन किया था। पहली पारी में इंग्लैंड की पारी 221 रन पर सिमट गई थी। इसके बाद ब्रॉड ने गेंदबाज़ी करते हुए सचिन का विकेट हासिल किया। भारत की तरफ़ से युवराज सिंह और राहुल द्रविड़ ने मिलकर भारत का स्कोर 267/4 पहुंचा दिया। ब्रॉड ने इस मैच में 46 रन देकर 6 विकेट हासिल किए थे, जिसमें एक हैट्रिक भी शामिल था। उन्होंने लगातार 3 गेंदों में एमएस धोनी, हरभजन सिंह और प्रवीण कुमार को आउट कर दिया। भारत सिर्फ़ 67 रन की ही लीड ले पाया। दूसरी पारी में ब्रॉड ने विकेट लेने का सिलसिला जारी रखा और इंग्लैंड को यादगार जीत दिलाई। उन्हें हरफ़नमौला प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड’ दिया गया।

youtube-cover

#2 6/17 बनाम दक्षिण अफ़्रीका, जोहांसबर्ग – 2016 (टेस्ट)

साल 2015/16 में इंग्लैंड की टीम दक्षिण अफ़्रीकी दौरे पर गई, जहां मेहमान टीम ने 4 मैचों की टेस्ट सीरीज़ का पहला मैच जीता था। इसके बाद दूसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा। तीसरा टेस्ट जोहांसबर्ग में जारी था। मेज़बान टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 313 रन बनाए। इसके जवाब में इंग्लैंड ने 323 रन बनाकर 10 रन की लीड ली। तीसरे दिन स्टुअर्ट ब्रॉड ने लंच से पहले 2 ओवर फेंके और 9 रन दिए, लेकिन लंच के बाद उन्होंने 8 ओवर फेंके और 5 रन देकर 5 विकेट हासिल किए। उन्होंने प्रोटियास टीम के टॉप 6 बल्लेबाज़ों को पवेलियन वापस भेज दिया। उन्होंने 17 रन देकर 6 विकेट हासिल किए और मेज़बान टीम को 83 रन पर ऑल आउट कर दिया। इंग्लैंड ने 74 रन के आसान लक्ष्य को जल्द हासिल कर लिया। स्टुअर्ट ब्रॉड को उनके प्रदर्शन के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड’ दिया गया।

youtube-cover

#1 8/15 बना ऑस्ट्रेलिया, ट्रेंट ब्रिज – 2015 (टेस्ट)

ये मैच अपने आप में यादगार है, इंग्लैंड इस टेस्ट सीरीज़ में 2-1 से आगे थी। इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को पहले बल्लेबाज़ी करने के लिए बुलाया। ब्रॉड ने अपने पहले ओवर में क्रिस रॉजर्स और स्टीव स्मिथ को आउट कर दिया। उन्होंने इसी मैच में 300 विकेट भी पूरा किया। उनके सामने कंगारू टीम के एक न चली। ब्रॉड ने पहली पारी में 15 रन देकर 8 विकेट हासिल किए। इस टेस्ट मैच ने ऑस्ट्रेलिया के उम्मीदों पर पानी फेर दिया और इंग्लैंड ने एशेज़ पर अपना कब्ज़ा जमाया। इंग्लैंड ने ये मैच पारी और 78 रन से जीता था। स्टुअर्ट ब्रॉड को उनकी शानदार गेंदबाज़ी के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड’ दिया गया।

youtube-cover

लेखक- साहिल जैन अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor