COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

5 टीमें जो 2019 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में नहीं खेलेंगी

128   //    07 Aug 2018, 11:43 IST

इंग्लैंड और वेल्स 2019 की गर्मियों में क्रिकेट विश्वकप के बारहवें संस्करण की मेजबानी करेगा। इस मेगा इवेंट के ग्यारह संस्करणों में अब तक कई अविस्मरणीय क्षण दिये हैं जो प्रशंसक जीवनभर याद रखेंगे। सफेद कपड़ों में खेले गये 60 ओवरों के विश्वकप से लेकर रोशनी के लिए 50 ओवरों के विश्वकप तक खेल का सबसे बड़ा मंच एक लंबा सफर तय कर चुका है।

हमने आठ टीमों से लेकर 16 टीमों को विश्वकप में भाग लेते हुए देखा है। लेकिन 2019 में आईसीसी द्वारा लिये गये 10 टीमों के निर्णय के कारण पिछले संस्करणों में शामिल हो चुकी कुछ शीर्ष टीमों को अगले विश्वकप में नहीं देखा जा सकेगा। इंग्लैंड और वेल्स में आयोजित होने वाले 2019 आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में आइए नजर डालते हैं उन टीमों पर जिनकी याद हर क्रिकेट प्रशंसक को आयेगी:

1) जिम्बाब्वे


इंग्लैंड में हुए 1983 के संस्करण में अफ्रीकी राष्ट्र ने क्रिकेट विश्व कप में अपनी पहली उपस्थिति दर्ज करायी। यह खेल के सबसे बड़े टूर्नामेंट का तीसरा संस्करण था और इंग्लैंड 1975 में उद्घाटन संस्करण के चार साल बाद मेगा इवेंट की लगातार तीसरी बार मेजबानी कर रहा था। इंग्लैंड और भारत के पूर्व कोच, डंकन फ्लेचर के कंधों पर जिम्बॉब्वे की कप्तानी का जिम्मा था जिसमें एंडी पायक्रॉफ्ट और डेविड हॉटन जैसे खिलाड़ी शामिल थे। हालांकि उन्होंने नॉटिंघम में शक्तिशाली ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के खिलाफ 13 रनों से अपना पहला विश्व कप मैच जीत लिया, लेकिन वे चार टीम वाले ग्रुप बी में आखिरी स्थान पर रहे।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत उनके पहले विश्व कप की उपस्थिति में एकमात्र जीत थी, क्योंकि उन्हें शेष पांच मैचों में हार का सामना करना पड़ा था। तत्कालिन विजेता भारत के खिलाफ ग्रुप मुकाबलों में से एक में जिम्बाब्वे भारत का स्कोर एक समय में 17-5 रन करके जीत को सुनिश्चित कर दिया था। लेकिन कप्तान कपिल देव के स्टार परफॉर्मेंस (138 गेदों पर 175*) ने ट्यूनब्रिज वेल्स में 31 रन से जीत दर्ज की। 1999 में सुपर सिक्स चरण में पहुंचने से पहले जिम्बाब्वे 1983 के बाद तीन संस्करण (1987, 1992 और 1996) में ग्रुप चरणों के दौरान ही विश्व कप से बाहर निकल चुका था।

2003 के संस्करण में वह छठे स्थान पर रहे, जब उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और केन्या के साथ आईसीसी क्रिकेट विश्व कप की सह-मेजबानी की। साल 2007 (वेस्टइंडीज), 2011 (भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश) और 2015 (ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड) के संस्करणों में खराब प्रदर्शनों के कारण ग्रुप चरणों में विश्व कप से बाहर निकलना पड़ा। 2018 में हुए आईसीसी क्रिकेट विश्वकप क्वालीफायर में जिम्बॉब्वे की टीम तीसरे स्थान पर रही 2019 विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रही और वेस्टइंडीज व अफगानिस्तान ने जगह बनाया। अगले गर्मियों में इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले टूर्नामेंट का आयोजन में 1983 से लगातार नौ विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने के बाद जिम्बाब्वे को याद किया जाएगा।

आईसीसी विश्व कप में आंकड़े: मैच-58, जीत-6, हार-48, टाई-1, कोई नतीजा नहीं-3
1 / 5 NEXT
Fetching more content...