COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

महेंद्र सिंह धोनी द्वारा बनाये गये शीर्ष 5 विश्व रिकॉर्ड

51   //    17 Jul 2018, 12:22 IST

एमएस धोनी आधुनिक युग में क्रिकेट के खेलने वाले सबसे बेहतरीन व्यक्तित्व में से एक है। बल्ले के साथ उनकी प्रतिभा और विकेट के पीछे उनकी चतुरता ने पूरी दुनिया में उनका लोहा साबित किया है।

एमएस धोनी ने अपने पांचवें अंतरराष्ट्रीय मैच से रिकॉर्ड बनाने शुरू कर दिए और वहां से लेकर अब तक रांची का यह विकेटकीपर/बल्लेबाज हर बार 22 गज की दूरी पर उतरकर नए आयाम बना रहा है। टीम में गांगुली, सचिन, द्रविड़, लक्ष्मण जैसे भारी भरकम नाम होने के बावजूद उसे अपना स्थान पक्का करने में सिर्फ 2 साल लगे और तीसरे साल में टीम का कप्तान बना दिया गया।

चाहे वह बल्लेबाजी कर रहा है या फिर गेंदबाजी, विकेट कीपर की भूमिका निभा रखा है या एक टीम का नेतृत्व कर रहा है, एमएस धोनी एक जन्मजात चैंपियन है।

आगे कि स्लाइड में हम एमएस धोनी द्वारा बनाए गए शीर्ष 5 विश्व रिकॉर्ड पर एक नजर डालेंगे:

# 5. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक स्टंपिंग



एक अच्छे विकेटकीपर/ बल्लेबाज के लिए भारत का 10 सालों का सूखा तब समाप्त हुआ जब एमएस धोनी ने अपने करियर की शुरुआत की थी। आज उसके नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक स्टंपिंग का रिकॉर्ड है, क्योंकि सभी प्रारूपों में स्टंप के पीछे रहते हुए उसने 178 डिसमिसल किए है।

एमएस धोनी के पास सबसे तेज स्टंपिंग का भी रिकॉर्ड है। उन्होंने इसे करने में केवल 0.09 सेकेंड का समय लिया, जबकि हमारे आंखों को झपकने में लगभग 0.3 सेकंड लगते हैं।

कमेंट्री बॉक्स में राहुल द्रविड़ ने कहा: "तीसरे अंपायर की तरफ जाने की जरूरत नहीं है। अगर एमएस धोनी जश्न मना रहे हैं, तो बल्लेबाज को अपने रास्ते पर जाना होगा।"

आकाश चोपड़ा कहते हैं:- "3 जी/4 जी भूल जाओ... यह केवल धोनी-जी है"।




# 4. वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा बार नॉट आउट (गेंदबाजों को छोड़कर)



भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी 78 पारियों में नाबाद रहे हैं, जो वनडे क्रिकेट के इतिहास में किसी भी बल्लेबाज में सबसे अधिक है। निश्चित रूप से उनकी यह आंकड़ा काफी महत्वपूर्ण हैं और उन्हें एक मजबूत फिनिशर का तमगा दिलाता है। साथ ही उनका यह गुण उन्हें पूर्ण रूप से एक मनोरंजक पैकेज बनाता है। जो मैच के अंतिम क्षणों में उसका रूख कभी भी बदल सकता है।




#3. सबसे अधिक बार गेंदबाजी करने के वाले विकेट-कीपर





 एमएस धोनी ने 9 अंतरराष्ट्रीय मैचों में गेंदबाजी की है। उनके बाद दूसरे स्थान पर विलियम स्टोरर (इंग्लैंड) हैं जिन्होंने 4 बार गेंदबाजी की है।

एमएस धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के 439 मैचों में 132 गेंदें डाली हैं और केवल एक विकेट लिया है। एमएस धोनी के अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में छह विकेटकीपर हैं, जिन्होंने विकेटकीपर के रूप में खेलते हुए अपने करियर में एक से अधिक बार गेंदबाजी की है।




# 2. क्रिकेट के इतिहास में सबसे महंगा बल्ला एमएस धोनी का है





जिस बल्ले से एमएस धोनी ने 2011 विश्व कप फाइनल में जीतने वाला छक्का लगाया था, उसे लंदन में एक कार्यक्रम में £100,000 (लगभग 80-85 लाख) की भारी राशि में बेचा गया था। फंड को बाद में साक्षी धोनी फाउंडेशन द्वारा इस्तेमाल किया गया था।

एमएस धोनी की छक्के मारने की क्षमता किसी से छिपी नहीं है। इस खिलाड़ी ने अपने कप्तानी करियर में 204 छक्के लगाए हैं, जो कि किसी भी खिलाड़ी द्वारा सबसे ज्यादा है। छक्का लगा कर अपनी टीम को विश्वकप जीतने वाले धोनी एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी है।




#1. सभी 3 आईसीसी ट्रॉफी जीतने वाला एकमात्र कप्तान (विश्व कप, टी-20 विश्व कप, चैंपियंस ट्रॉफी)



एमएस धोनी सभी तीन प्रमुख आईसीसी टूर्नामेंटों में अपनी टीम को चैंपियन बनाने वाले एकमात्र कप्तान हैं। उन्होंने 24 सितंबर 2007 को टी-20 विश्व कप जीता, 2 अप्रैल 2011 को वनडे विश्व कप और 23 जून 2013 को चैंपियंस ट्रॉफी जीती।

एमएस धोनी कप्तान के रूप में 150 टी-20 मैच जीतने वाले पहले क्रिकेटर बने। उन्होंने टी-20 विश्वकप के छः संस्करणों में भारत का नेतृत्व किया, जो किसी भी कप्तान द्वारा सबसे अधिक था। धोनी ने 331 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में भी भारत का नेतृत्व किया, जो क्रिकेट इतिहास में किसी भी खिलाड़ी द्वारा सबसे अधिक है।

वास्तव में, एमएस धोनी नेतृत्व करने के लिए पैदा हुए हैं ...

लेखक- अनस खान

अनुवादक- सौम्या तिवारी

Advertisement
Fetching more content...