पैसों के विवाद को लेकर पाकिस्तान के कई दिग्गज क्रिकेटर युगांडा में फंसे

पाकिस्तान के लगभग 20 क्रिकेटर पैसे के विवाद को लेकर युगांडा में फंसे हुए हैं। ये लोग एक टी20 लीग में खेलने गए थे लेकिन लीग रद्द हो गया और ये खिलाड़ी अब अपने पैसे मांग रहे हैं, जबकि लीग के आयोजक ने पैसे देने से मना कर दिया है। इन क्रिकेटरों में हाल ही में संन्यास लेने वाले सईद अजमल, इमरान फरहत और यासिर हमीद जैसे दिग्गज क्रिकेटर हैं। ये लोग पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से अनुमति लेकर वहां पर खेलने गए थे। युगांडा पहुंचने के बाद इन्हें पता चला कि पेमेंट को लेकर लीग का आयोजन रद्द हो गया है। इसके बाद पाकिस्तानी क्रिकेटरों ने युगांडा क्रिकेट एसोसिएशन के साथ हुए करार का 50 प्रतिशत हिस्सा मांगा तो आयोजकों ने ये कहकर पैसा देने से मना कर दिया कि लीग के स्पॉन्सर ने इस लीग से अपना नाम वापस ले लिया है। पीटीआई से बातचीत में एक खिलाड़ी ने बताया कि जब खिलाड़ियों ने अपने पैसे मांगे तो आयजकों ने कहा कि मुख्य स्पॉन्सर ने अपने हाथ वापस खींच लिए हैं इसलिए उनके पास पैसे नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इसके बाद हम लोग तुरंत अपने देश लौटना चाहते थे लेकिन जब एयरपोर्ट पहुंचे तो पता चला कि स्पान्सर्स के पैसे नहीं देने की वजह से टिकट देने वाली ट्रैवल एंजेसी ने सभी सीटों को ब्लॉक कर दिया और इस वजह से हमें वापस होटल लौटना पड़ा। खिलाड़ी ने कहा कि इसके बाद हमने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और पाकिस्तानी दूतावास से संपर्क किया और कल तक हम घर लौट सकते हैं। खिलाड़ी ने कहा कि उम्मीद है कि शनिवार तक हम घर पहुंच जाएंगे लेकिन ये हमारे लिए काफी बुरा अनुभव रहा। पैसे कमाने की बजाय हमें अपनी ही जेब से पैसे भरने पड़े। वहीं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कहा है कि वो इस मामले की जांच कर रही है। पीसीबी ने कहा कि हमने इस लीग के बारे में पता किया था और इस बात को लेकर पूरी तरह आश्वस्वत होने के बाद कि ये लीग आईसीसी से मान्यता प्राप्त है, तभी हमने अपने खिलाड़ियों को वहां भेजा। आईसीसी ने कहा था कि इसका आयोजन युगांडा क्रिकेट एसोसिएशन करवा रही है इसके बाद ही हमने खिलाड़ियों को वहां खेलने की अनुमति प्रदान की। पीसीबी ने कहा कि अभी हम मामले की पूरी तरह से जांच कर रहे हैं और उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Edited by Staff Editor