तीन भारतीय खिलाड़ी जो विदेशी टी20 लीग में अपनी छाप छोड़ सकते हैं

साल दर साल हम देखते आए हैं कि आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने के बाद भी कई खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में नहीं चुने जाते हैं और अन्य विदेशी लीगों में भी नही खेल पाते हैं। वहीं अन्य देशों में ऐसे खिलाड़ी दुनिया भर में टी 20 लीग खेलते हैं। ल्यूक राइट और कॉलिन इंग्राम जैसे खिलाड़ी, जो अपने देशों की टीमों द्वारा चयन के लिए देखे भी नही जाते हैं, अभी भी दुनिया भर में टी 20 लीग खेलने और अच्छी तरह से प्रदर्शन करने में कामयाब होते रहे हैं। बीसीसीआई वर्तमान में भारतीय खिलाड़ियों को आईपीएल ब्रांड के कारण का हवाला देते हुए विदेशी बोर्डों द्वारा आयोजित टी -20 लीग में भाग लेने से रोकता है। हालांकि हाल ही में कुछ ऐसे संकेत भी मिले हैं कि शायद आने वाले समय में कई खिलाड़ियों को दूसरी लीग में खेलने की अनुमति दी जाएगी। यहाँ हम ऐसे तीन खिलाड़ियों पर नज़र डाल रहे हैं जो वर्तमान में सक्रिय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी नहीं हैं और मौका मिलने पर इन लीगों में अपना नाम बना सकते हैं। नोट: अत्यधिक सक्रिय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों पर विचार नहीं किया गया है क्योंकि भारतीय टीम का बहुत व्यस्त शेड्यूल रहता है और इन खिलाड़ियों के पास विदेशी लीग में खेलने के लिए समय नही है।

# 3 - ऋषभ पंत

ऋषभ पंत अभी तक राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह पक्की नही कर पाए हैं और इसके चलते उन्हें दुनिया भर की अन्य टी -20 लीगों में खेलने से फायदा हो सकता है। इस साल पंत ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन किया और उसी के दम पर कोई भी टीम उन्हें अपने साथ जोड़ना चाहेगी। इस विकेटकीपर बल्लेबाज को कई लोगों द्वारा एमएस धोनी के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जाता है। उन्हें इस तरह की लीगों में भाग लेने से भी बहुत फायदा होगा। न केवल इससे उन्हें दुनिया भर के कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों के खिलाफ अपने कौशल को प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा, बल्कि उन्हें अधिक मौके भी मिलेंगे।

# 2 - क्रुणाल पांड्या

क्रुणाल पांड्या को कई लोग उनके भाई हार्दिक की तुलना में मुंबई इंडियंस की सफलता के लिए उनसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानते हैं। एक ऐसा समय जब फिंगर-स्पिनर संघर्ष कर रहे हैं, उनकी गेंदबाजी किफायती और प्रभावी रही है। वह आईपीएल में बेहद सफल साबित हुए हैं, और इस बात में कोई संदेह नहीं है कि वह दुनिया भर की अन्य लीगों में भी ऐसी सफलता को दोहराने में सक्षम हैं। इसके अलावा उनकी बल्लेबाजी भी बेहद प्रभावी है। वह एक विस्फोटक बल्लेबाज हैं और मुंबई इंडियंस के लिए पारी के अंत में लगातार शानदार प्रदर्शन किया है। वहीं ऐसा भी नही कि उनकी बल्लेबाजी सिर्फ आक्रामक शैली की है क्योंकि उन्होंने कई मौकों पर आराम से खेलते हुए पारी बनाने की क्षमता भी दिखायी है, विशेष तौर पर 2017 आईपीएल फाइनल में। उस मैच में उन्हें मैन ऑफ द मैच पुरस्कार भी मिला था। दुनिया भर में टी -20 क्रिकेट में ऑलराउंडर की उपयोगिता को देखते हुए, क्रुणाल निश्चित रूप से दुनिया की किसी भी टीम के लिए अहम खिलाड़ी बन सकते हैं।

# 1 - रॉबिन उथप्पा

रॉबिन उथप्पा ने आईपीएल में बार-बार दिखाया है कि वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाने में सक्षम हैं। आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स में जाने के बाद से वह लगातार सफल रहे हैं। इसके अलावा, जब वह भारतीय टीम के नियमित सदस्य थे, उन्होंने विदेशी दौरों पर भी बेहतरीन प्रदर्शन किया। यह दर्शाता है कि उनकी बल्लेबाजी सिर्फ भारतीय के लिए ही नहीं है, बल्कि वास्तव में दुनिया में किसी भी परिस्थिति का मुकाबला करने के लिए उपयुक्त है, कम से कम टी 20 क्रिकेट में। उथप्पा को दुनिया भर के लीग में खेलने से भी बहुत फायदा होगा। हाल के वर्षों में आशीष नेहरा, हरभजन सिंह और युवराज सिंह जैसे खिलाड़ियों को मौके देकर चयनकर्ताओं ने दिखाया है कि पुराने खिलाड़ियों के लिए दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। विदेशी लीगों में खेलने से उथप्पा को भारत के लिए खेलने का मौका फिर मिल सकता है। लेखक: प्रणव गुप्ता, अनुवादक: राहुल पांडे

App download animated image Get the free App now