Create
Notifications

IPL 2018: नीलामी में मिलने वाली राशि से कमलेश नागरकोटी सबसे पहले ख़रीदेंगे आईफ़ोन

विनय प्रताप

18 साल के युवा तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी न्यूजीलैंड में हो रहे आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप में कमल का प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी सबसे तेज़ गेंद 149 किमी की रफ्तार से दुनिया भर के बल्लेबाज हैरतअंगेज हैं, लेकिन इस युवा का लक्ष्य वर्ल्डकप फाइनल के बाद किसी और सीरीज या मैच पर नहीं बल्कि अन्य युवाओं की तरह आईफोन खरीदना है। दरअसल, नागरकोटी के कोच सुरेंद्र सिंह राठौड़ उन्हें दो साल से आईफोन दिलाने का वादा करते आ रहे हैं। कोच ने पहले अंडर-19 टीम में शामिल होने पर पुरस्कार स्वरूप आईफ़ोन देने की बात कही लेकिन टीम में शामिल होने के बाद भी फोन का वादा अधूरा ही रहा। उसके बाद जूनियर चैलेंजर ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करने की शर्त रखी, लेकिन बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद आईफोन दिलाने से मुकर गए। नागरकोटी ने जब कोच को याद दिलाया तो उन्होंने फिर से विजय हजारे ट्रॉफी के लिए राजस्थान की सीनियर टीम में जगह बनाने की शर्त रखी। वहां अपने राज्य के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में नागरकोटी उभरे, लेकिन यह पड़ाव पार करने बावजूद आईफोन नहीं पा सके। इसके बाद भी कोच की शर्तों का अंत नहीं हुआ। लिहाजा नागरकोटी के कोच ने आखिरी शर्त अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बनना रखी। वर्ल्ड कप में अब भारत फाइनल में है और सेमीफाइनल तक धमाल मचाने के बाद भी नागरकोटी को आईफोन नहीं मिला है। जबकि 27 और 28 जनवरी को बेंगलुरू में हुई आईपीएल नीलामी के बाद कमलेश नागरकोटी अंडर-19 वर्ल्ड कप से आईपीएल में इस श्रेणी में सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए हैं। इस युवा की गेंदबाजी की रफ़्तार को देखते हुए कोलकाता नाइटराइडर्स ने उन्हें 3 करोड़ 20 लाख में खरीदा है। बहरहाल, नागरकोटी की आईफोन खरीदने की ख्वाहिश अब पूरी होती दिख रही है। इतने रुपए में तो अब 256 जीबी वाले 372 आईफोन-10 खरीदे जा सकते हैं। बता दें कि 256 जीबी वाला आईफोन-10 तकरीबन एक लाख रुपए का है। नागरकोटी के सभी साथियों के पास पहले से ही आईफोन हैं। नागरकोटी का कहना है ‘जब भी मैं अपना फोन निकालता हूं, मेरी टीम के साथी मुझे कहते हुए छेड़ते हैं 'भाई फोन बदल लो, दो साल हो गए, ये ही देख रहे हैं, अब कितनी गरीबी दिखाएगा इतना तो है भी नहीं।''


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...