Create

भारतीय टीम को अंडर 19 वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान का 28 की उम्र में संन्यास, दूसरे देश से खेल सकते हैं

भारतीय अंडर 19 टीम को 2012 में वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान उन्मुक्त चंद ने 28 साल की उम्र में संन्यास का ऐलान कर दिया। अपने ट्विटर हैंडल पर उन्मुक्त चंद ने कहा कि बीसीसीआई से विदाई लेने का समय है और वर्ल्ड में कुछ नए अवसर तलाशने हैं।

उन्मुक्त चंद ने जब भारतीय टीम के लिए अंडर 19 वर्ल्ड कप फाइनल में 111 रन की नाबाद पारी खेल खिताब जीता, उस समय उनकी काफी चर्चा हुई थी। ऐसा भी कहा गया था कि वह भारतीय क्रिकेट में विराट कोहली की तरह आ सकते हैं लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और वह धीरे-धीरे आईपीएल से भी बाहर हो गए।

उन्मुक्त चंद ने कहाकि क्रिकेट यूनिवर्स का गेम है और इसका मतला बदल सकता है लेकिन गोल उच्च स्तर पर खेलना होगा। इसके अलावा मेरे सभी शुभचिंतकों और समर्थकों का धन्यवाद जिन्होंने हमेशा मुझे अपने दिल में रखा। आप जो हैं, उसे प्यार और तारीफ मिलती है, उससे बेहतर फीलिंग कुछ नहीं हो सकती। इस तरह का परिवार मिलने मैं खुद को धन्य महसूस करता हूँ।

उल्लेखनीय है कि उन्मुक्त चंद ने 67 प्रथम श्रेणी मैच खेले, जिसमें उन्होंने 31.57 की औसत से 3379 रन बनाए। उन्होंने लिस्ट ए क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन किया, जहां उन्होंने 120 मैचों में 41.33 की औसत से 4505 रन बनाए। टी20 में उन्होंने 77 मैचों में 22.35 के औसत और 116.09 के स्ट्राइक रेट से 1565 रन बनाए।

उन्हें 2016 में विजय हजारे ट्रॉफी की टीम से बाहर कर दिया गया था। इसके बाद आईपीएल में उन्होंने मैच नहीं मिलने से मुंबई इंडियंस को छोड़ दिया और अगले साल किसी टीम ने उन्हें नहीं खरीदा। हालांकि आईपीएल में वह सफल भी नहीं रहे हैं। 21 मैचों में उन्होंने 100 के स्ट्राइक रेट से कुल 300 रन बनाए हैं।

हाल ही में कुछ खबरें ऐसी भी आई थी कि उन्मुक्त चंद अमेरिका में खेलने के लिए सोच सकते हैं। हालांकि उन्होंने वहां जाकर किसी क्लब में प्रैक्टिस करने की बात स्वीकार की थी लेकिन वहां खेलने के बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई। अब उन्होंने अन्य अवसर तलाशने की बात कही है। ऐसे में देखना होगा कि वह आगे क्या करेंगे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment