Create
Notifications

वीडियो: गेंद विकेटकीपर के हाथों में, एमएस धोनी ने 0 रन को 2 रनों में किया था परिवर्तित

CONTRIBUTOR
Modified 21 Sep 2018
क्रिकेट के खेल में बहुत सारे ऐसे पल भी सामने आते हैं जो काफी दिलचस्प बन जाते हैं। जहां बल्लेबाजों को कोई रन नहीं मिलना चाहिए वहां एक रन बन जाता है। जहां एक रन होना चाहिए वहां कभी-कभी दो से तीन रन भी बनते देखे गए हैं। कभी इसमें फील्डर की गलती समझी जाती है तो कभी बल्लेबाज़ तेज़ दौड़कर एक रन को दो से तीन रनों में परिवर्तित कर लेते हैं। टीम के नज़रिए से क्रिकेट में एक-एक रन अति महत्वपूर्ण होता है। जहां एक रन की कमी के कारण बल्लेबाज़ अपने शतक से चूक जाया करता है तो वहीँ एक रन की कमी के कारण टीम विश्वकप जैसे बड़े टूर्नामेंट से बाहर हो जाती है और फिर उसको आगामी चार वर्ष तक के लिए विश्वकप का इंतज़ार देखना पड़ता है। क्रिकेट जगत में एक रन के महत्व को देखते हुए ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। जहां 3 अप्रैल 2006 में मार्गाओ के नेहरु मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए एकदिवसीय मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना ने 0 रन को 2 रन में परिवर्तित कर लिया था। यह मामला तब का है जब भारतीय पारी का 48वां ओवर प्रगति पर था। इंग्लैंड की तरफ से गेंदबाजी का भार तेज़ गेंदबाज़ जेम्स एंडरसन ने संभाला हुआ था। भारतीय टीम की तरफ से स्ट्राइक पर थे महेंद्र सिंह धोनी और नॉन स्ट्राइक पर मौजूद थे बाएं हाथ के बल्लेबाज़ सुरेश रैना। एंडरसन ने जैसे ही गेंद धोनी के सामने डाली वैसे ही गेंद उनके पैड पर लगकर लेगसाइड से विकेटकीपर गेरेंट जोंस की दिशा में चली गई।  उन्होंने गेंद को फील्ड करने के बाद जैसे ही स्टंप में मारा तब तक दोनों ही बल्लेबाजों ने काफी तेज़ी के साथ एक रन पूरा कर लिया। उसके बाद जब तक विकेटकीपर गेंद की आता तब तक दोनों ने एक और रन चुरा लिया और अपनी टीम के खाते में दो रन जोड़ दिए। यह वाकई में बहुत दिलचस्प था, जहां एक भी रन नहीं होना चाहिए था वहां बल्लेबाजों ने होशियारी दिखाते हुए दो रन पूरे कर लिए थे। उस मैच को भारत ने 49 रनों से जीता था। आइये देखते हैं यह मजेदार वीडियो जहां भारतीय बल्लेबाजों ने 0 रन की जगह पूरे किए थे 2 रन:
Published 01 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now