विजय हजारे ट्रॉफी के आयोजन की तारीख का हुआ ऐलान

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने राज्य संघों को पत्र लिखकर सूचित किया है कि भारत की घरेलू एक दिवसीय प्रतियोगिता विजय हजारे ट्रॉफी 20 फरवरी से शुरू होगी। टीमों को 13 फरवरी को से संबंधित स्थानों पर रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है। टीमों को क्वारंटीन करने के लिए ऐसा कहा गया है।

बीसीसीआई ने कहा है कि राज्य टीमों को अपने सम्बंधित शहरों में 13 फरवरी को एकत्रित होना है ताकि राज्य नियमों और बीसीसीआई एसओपी के तहत कोरोना टेस्ट और क्वारंटीन प्रक्रिया को अपनाया जा सके। एक रिपोर्ट के अनुसार बोर्ड ने राज्य संघों को लिखे अपने ईमेल में ये निर्देश दिए हैं। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी की तरह इस बार भी बोर्ड ने छह सेंटर तय किये हैं। इनमें सुरत, इंदौर, बैंगलोर, जयपुर, कोलकाता के अलावा तमिलनाडु का भी एक शहर है जिसका नाम फ़िलहाल फाइनल नहीं हुआ है।

विजय हजारे ट्रॉफी के लिए टीमों के ग्रुप

ग्रुप ए- गुजरात, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, हैदराबाद, बड़ौदा, गोवा।

ग्रुप बी- तमिलनाडु, पंजाब, झारखण्ड, मध्य प्रदेश, विदर्भ और आन्ध्र प्रदेश।

ग्रुप सी- कर्नाटक, यूपी, केरल, ओडिसा, रेलवे, बिहार।

ग्रुप डी- दिल्ली, मुंबई, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, पांडिचेरी।

ग्रुप ई- बंगाल, सेना, जम्मू कश्मीर, सौराष्ट्र, हरियाणा, चड़ीगढ़।

प्लेट ग्रुप- उत्तराखंड, नागालैंड, असम, मेघालय, मणिपुर, अरुणाचल, मिजोरम, सिक्किम।

विजय हजारे ट्रॉफी का लीग चरण 20 फरवरी से 1 मार्च तक चलेगा। एक और कोरोना टेस्ट और क्वारंटीन के बाद नॉकआउट मैच 8 मार्च से शुरू होंगे। 11 मार्च को सेमीफाइनल के बाद दो दिन का आराम और इसके बाद फाइनल 14 मार्च को खेला जाएगा। बीसीसीआई ने राज्य इकाइयों को बताया कि नॉकआउट के लिए जगह की घोषणा बाद में की जाएगी। कर्नाटक प्रदेश की टीम मौजूदा विजय हजारे चैंपियन है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी की सफलता को देखते हुए बोर्ड ने विजय हजारे ट्रॉफी के आयोजन कराने का फैसला लिया है।