Create
Notifications

इस वजह से दिलीप ट्रॉफी के फाइनल में आराम करना चाहते हैं विराट कोहली

Abhishek Tiwary

भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने आगामी लंबे और थकाऊ घरेलू सत्र को देखते हुए दिलीप ट्रॉफी के फाइनल में न खेलकर आराम करने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विराट कोहली दिलीप ट्रॉफी के फाइनल में आराम करना चाहते हैं। लाइट्स में गुलाबी गेंद से खेला जाने वाला फाइनल 10-14 सितंबर के बीच होगा। कोहली अभी कैरीबियाई जमीन पर चार मैचों की लंबी और थकाऊ टेस्ट सीरीज और अमेरिका में वेस्टइंडीज के खिलाफ दो अंतरराष्ट्रीय टी20 मैचों की सीरीज खेलकर लौटे हैं। बीसीसीआई का मानना है कि भारतीय बल्लेबाजी की जान विराट को न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज से पहले पर्याप्त आराम की जरुरत है। हालांकि शुरुआती योजना यह थी कि अन्य सीनियर खिलाड़ी फाइनल में खेलेंगे और गुलाबी गेंद की पहल पर अपनी प्रतिक्रिया देंगे। रिपोर्ट्स में यह भी जानकारी मिली है कि विराट कोहली के अलावा तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा और भुवनेश्वर कुमार को भी आराम दिया जा सकता है। बहरहाल, फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम के कई बड़े नाम जैसे अजिंक्य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन और अमित मिश्रा शहीद विजय सिंह पथिक स्टेडियम में खेलते हुए नजर आएंगे। गुलाबी गेंद से लाइट्स के नीचे मैच खेलने से इस टूर्नामेंट की महत्ता बढ़ गई है। यह पहला मौका है जब भारत में पूरा टूर्नामेंट लाइट्स के अंदर गुलाबी गेंद से खेला जा रहा है। सीनियर खिलाड़ियों की प्रतिक्रिया से बीसीसीआई को फैसला लेने में मदद मिलेगी कि डे/नाईट टेस्ट आगे खेला जा सकता है या नहीं। इस बीच विराट कोहली सभी प्रारूपों में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने सभी विरोधी टीमों के खिलाफ खूब रन बनाए। वह कप्तानी के छोटे से करियर में अपनी टीम का ध्यान रखते हुए नजर आ रहे हैं और कई ऐसी चीजें कर चुके हैं जो और कोई कप्तान नहीं कर सका। मोहम्मद अजहरुद्दीन के बाद विराट पहले कप्तान बने जिनके नेतृत्व में भारत ने श्रीलंका में 22 वर्ष बाद टेस्ट सीरीज जीती। इसके बाद टीम इंडिया ने घरेलू जमीन पर दक्षिण अफ्रीका को टेस्ट सीरीज में 3-0 से हराया। हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ संपन्न टेस्ट सीरीज जीतकर कोहली पहले भारतीय कप्तान बने जिन्होंने कैरीबियाई जमीन पर एक ही दौरे में दो टेस्ट जीते हो। विराट ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में अपने करियर का पहला दोहरा शतक जमाया और अभी वह कीवी टीम के खिलाफ सीरीज की तैयारियों में जुटे हुए हैं। न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के लिए यह आसान सीरीज नहीं होगी क्योंकि भारत को घरेलू परिस्थितियों में हराना बहुत मुश्किल है। विराट कोहली का मकसद न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट जीतकर अपना दबदबा बनाने का होगा।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...