Create

कप्तान के तौर पर सौरव गांगुली की बराबरी कर सकते हैं विराट : सहवाग

Abhishek Tiwary

पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंदर सहवाग ने कहा कि विराट कोहली के नेतृत्व में मौजूदा भारतीय टेस्ट टीम काफी ऊंचाईयां हासिल करेगी। सहवाग ने कहा कि तेज गेंदबाजी विभाग में गुणी खिलाड़ियों के होने से विराट को ज्यादा सफलता मिलेगी और सौरव गांगुली के समान ही कोहली सेना भी उपमहाद्वीप के बाहर जीत सकती है। भारतीय टीम फ़िलहाल टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर है और टीम ने घरेलू व विदेशी जमीन पर सराहनीय प्रदर्शन किया है। विराट ब्रिगेड ने श्रीलंका और वेस्टइंडीज को उसी की धरती पर हराया। सहवाग के हवाले से पीटीआई ने कहा, 'मेरा मानना है कि विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम में काफी गुणी खिलाड़ी हैं और इस टीम में उपमहाद्वीप के बाहर जीतने की क्षमता है। यह टीम बिलकुल उसी टीम की बराबरी कर सकती है जैसे सौरव गांगुली के नेतृत्व वाली टीम ने किया था।' याद हो कि गांगुली के नेतृत्व में टीम ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच जीते थे। सहवाग को भारतीय टीम के तेज गेंदबाजी विभाग से बहुत उम्मीद है और उनका मानना है कि गेंदबाज इतने प्रतिभावान है कि अनुभवी इशांत शर्मा को भी अंतिम एकादश में जगह पाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। सहवाग ने कहा, 'आपको विकेट निकालने के लिए अच्छे गेंदबाजी आक्रमण की जरुरत है। हमारे पास मोहम्मद शमी जैसा बेहतरीन गेंदबाज है। हमारे पास उमेश यादव और इशांत शर्मा जैसे अच्छे गेंदबाज भी हैं जो भारत के लिए मैच जीत सकते हैं। ऐसा कोई कारण नहीं है कि यह टीम अपने प्रदर्शन को विदेशी जमीन पर बेहतर नहीं बना सकती।' नजफगढ़ के नवाब ने दिल्ली रणजी टीम के युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत की भी जमकर तारीफ की, जिन्होंने मौजूदा रणजी ट्रॉफी में सभी रिकॉर्ड्स तोड़े। पंत ने अब तक एक तिहरे शतक, एक दोहरे शतक और दो शतकों तथा करीब 91 की औसत से 903 रन बनाए हैं। पंत के खेल की तुलना सहवाग से होने लगी है। सहवाग ने कहा, 'ऋषभ का भविष्य बहुत उज्जवल है। वह भारत के लिए जरुर खेलेगा। मेरे करियर में मैंने ऐसे बहुत ही कम खिलाड़ी देखे हैं जो निरंतर प्रदर्शन करे। ऋषभ को भारत के लिए खेलने से पहले यह निरंतरता बरक़रार रखना होगी। उन्हें भारत 'ए' में खेलने का मौका जरुर मिलेगा। उन्हें अपनी ताकत का इस्तमाल बेहतर तरीके से करना होगा और मेरा मानना है कि उन्हें भारत के लिए खेलने से कोई रोक नहीं सकता।'


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...