विराट कोहली ने खोला अपनी फील्डिंग का राज़

भारतीय टेस्ट टीम और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली इस वक़्त दुनिया के सबसे लोकप्रिय खिलाड़ी हैं। फिलहाल वो जिस फ़ॉर्म में चल रहे हैं कई ऐसे कीर्तिमान हैं जो उनका बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। पहले वर्ल्ड टी-20 और फ़िर आईपीएल-9 दोनों ही विराट कोहली की शानदार बल्लेबाज़ी का गवाह बना। ऐसे में कोहली सफलता के उस शिखर पर पहुंच चुके हैं जहां पहुंचना हर खिलाड़ी का सपना होता है। वर्ल्ड टी-20 में शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए कोहली ने 273 रन बनाए और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया उसके ठीक बाद आईपीएल-9 में भी कोहली ने ऐसा ही कारनामा दोहराया और शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए 973 रन बनाये और वहां भी प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट के ख़िताब से नवाज़े गए। 27 साल के इस बल्लेबाज़ से दुनिया भर के सभी गेंदबाज डरते हैं, पर गेंदबाज़ों के साथ-साथ बल्लेबाज़ भी कोहली से उतना ही डरते हैं जितना की गेंदबाज़। इसमें कोई शक नहीं कि कोहली टीम इंडिया के सबसे चुस्त खिलाड़ी हैं और इनकी यही खूबी इन्हें एक बेहतरीन फील्डर भी बनाती है। यही वजह है कि कोहली चाहे 30 गज के घेरे में फील्डिंग कर रहे हों या सीमा रेखा पर बल्लेबाज़ उनके हाथों से रन चुराने में कतराते हैं। अपनी फिटनेस का राज़ खोलते हुए कोहली ने कहा "साल 2012 के आईपीएल तक मैं अपनी फ़िटनेस पर ज़्यादा ध्यान नहीं देता था। खाने पीने और एक्सरसाइज़ पर भी मैं ज़्यादा ध्यान नहीं देता था। पर उस आईपीएल के बाद से मैं अपने शरीर और फ़िटनेस पर पूरा ध्यान देता हूँ।" कोहली ने अपनी शानदार फ़िटनेस का श्रेय भारतीय फिटनेस ट्रेनर शंकर बासु को देते हुए कहा “उन्होंने मेरे साथ मेरी फिटनेस पर काफी मेहनत की है और मुझे एक बेहतरीन एथलीट बनाया है। जिससे मुझे विकटों के बीच दौड़ने और फील्डिंग करने में काफी आसानी होती है”।

Edited by Staff Editor