Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

रिकॉर्ड: सचिन तेंदुलकर vs विराट कोहली

ऋषि
ANALYST
Modified 14 Nov 2017, 20:39 IST
Advertisement
विराट कोहली की वर्तमान समय के महान बल्लेबाजों में होती है। उन्होंने अपने करियर में जो मुकाम हासिल किये हैं वह बड़े-बड़े खिलाड़ी नहीं कर पाये हैं और क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज की तुलना सबसे पहले सचिन तेंदुलकर से होती है और कोहली के साथ भी यही हो रहा है। दोनों ही बल्लेबाजों की तुलना सही नहीं है फिर भी लोग दोनों खिलाड़ियों के रिकॉर्ड की लगातार तुलना करते रहते हैं। 29 साल की उम्र में भारतीय कप्तान क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों की सूची अपना नाम दर्ज करवा चुके हैं और हर मैच के साथ उनके खेल का स्तर ऊपर ही उठ रहा है। टेस्ट मैच में 2016 में उनका प्रदर्शन काफी बेहतरीन था और इसी की मदद से उनका करियर औसत 45 से 50 के करीब पहुँच चुका है। इस लेख में सचिन और कोहली की तुलना अभी के रिकॉर्ड पर नहीं बल्कि आज से 8-9 साल बाद कोहली के करियर के रिकॉर्ड को सोचकर कर रहे हैं। यह विश्लेषण पूरी तरह आंकड़ों पर आधारित है। आने वाले समय में आईसीसी के नियमों में बदलाव की वजह से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कई तरह के परिवर्तन आने वाले हैं। #1 टेस्ट मैचों में सर्वाधिक रन kohlisachin-1465473375-800 सचिन तेंदुलकर ने अपने टेस्ट करियर में 200 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनकी 329 पारियों में उन्होंने 53.78 की औसत से 15,921 रन बनाये हैं। वहीं विराट कोहली अभी तक 60 टेस्ट मैचों की 101 पारियों में 49.55 की औसत से 4658 रन बनाये हैं और उनके फॉर्म को देखते हुए लगता है कि उनका औसत जल्द ही 50 को भी पार कर जायेगा। कोहली अभी भी सचिन से 11,263 रन पीछे हैं। देखा जाये तो कोहली अभी कम से कम 9 साल और क्रिकेट खेल सकते हैं। अगर फॉर्म और फिटनेस साथ रही तो कोहली इससे भी ज्यादा समय तक खेल सकते हैं। 2019 से टेस्ट चैंपियनशिप शुरू होने वाली है, जिसके अंतर्गत विश्व की शीर्ष 9 टीमों में अभी के मुकाबले ज्यादा टेस्ट मैच खेले जायेंगे। इस लीग में सभी टीमों को 2 सालों में 6 सीरीज खेलने का मौका मिलेगा और प्रत्येक सीरीज में कम से कम 2 मैच होंगे। जबकि दोनों टीमों की बोर्ड आपसी सहमति से मैचों की संख्या बढ़ा भी सकती है। भारतीय टीम ज्यादातर मैच ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों क खिलाफ खेलेगी। ऐसे भारतीय टीम 2 सालों में करीब 20 टेस्ट मैच खेलेगी। अगर चोट और आराम को हटा दें तो कोहली 38 साल की उम्र तक करीब 150-160 टेस्ट मैच खेल चुके होंगे लेकिन हम 140 टेस्ट मैचों को आधार बनाते हैं। तो 140 मैचों में विराट कोहली को करीब 235 पारियां मिलेंगी और अगर नाबाद पारियों को हटा दें तो वो करीब 220 बार आउट हो सकते हैं। अगर कोहली का वर्तमान फॉर्म जारी रहा तो उनका औसत और ऊपर जायेगा और करीब 54-55 का हो जायेगा। परन्तु, सभी खिलाड़ी के करियर में खराब दौर आता है जैसा कोहली के साथ 2014 के इंग्लैंड दौरे पर हुआ था। इन सब को ध्यान में रखते हुए कोहली का करियर करीब 50 की औसत के साथ 11,000 रनों पर रुक सकता है। यह मात्र एक अनुमान है और इसके अनुसार कोहली सचिन के काफी करीब पहुँच जायेंगे या हो सकता है कोहली का करियर अनुमान से भी ज्यादा लम्बा चले या फिर ऐसा भी हो सकता है कि चोट या खराब फॉर्म की वजह से उनका करियर जल्द ही समाप्त हो जाये। अगर कोहली 2016 की तरह 2-3 साल और खेल जाएँ तो सचिन का रिकॉर्ड उनके पहुँच से ज्यादा दूर नहीं रहेगा।
1 / 6 NEXT
Published 14 Nov 2017, 20:39 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit